5 युक्तियां जो हर महिला को आर्थिक रूप से सुरक्षित जीवन बिताने के लिए अपनानी चाहिए |

महिलाओं को कई कारणों से अपने रिटायरमेंट योजना पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए आगे पढ़िए और जानिए क्यों और कैसे।

 5 युक्तियां जो हर महिला को आर्थिक रूप से सुरक्षित जीवन बिताने के लिए अपनानी चाहिए |

वित्तीय कंसल्टेंसी ए मेरी प्राइस के एक चौंका देने वाले सर्वेक्षण के अनुसार, 79प्रतिशत मध्यम वर्गीय महिलाएँ अपने शीर्ष वित्तीय लक्ष्यों में रिटायरमेंट योजना को शामिल नहीं करती हैं। एक सुरक्षित रिटायरमेंट योजना हर किसी की सर्वोच्च प्राथमिकता होनी चाहिए। दुर्भाग्य से, विवाहित या अविवाहित महिलाओं के लिए थोड़ी सी मुश्किल होती है। 
 एक प्रमुख कारण जिस वजह से महिलाओं की रिटायरमेंट योजना पुरुषों के मुक़ाबले अलग होती है, वह है महिलाओं की ऊँची जीवन प्रत्याशा दर। इस कारण से महिलाओं को लंबे समय के लिए योजना बनानी चाहिए। दूसरा तथ्य माना जा सकता है महिलाओं की पारिवारिक ज़िम्मेदारियों की वजह से कम उत्पादक वित्तीयवर्ष। इसके कारण उन्हें और भी ज़्यादा बचत करने की आवश्यकता है।
 सेंटर फॉर टैलेंट इनोवेशन द्वारा किए गए एक सर्वेक्षण के अनुसार,भारतीयमहाविद्यालयों में 36%शिक्षित महिलाएँ अपनी नौकरी,बच्चों की देखभाल या कार्यजीवन संतुलन के मुद्दों के कारण छोड़ देती है। यह आंकड़े दर्शाती है कि नियोजित रिटायरमेंट योजना महिलाओं के लिए बेहद महत्वपूर्ण हैं। 
 एक वित्तीय रूप से सुरक्षित भविष्य सुनिश्चित करने के लिए, यहाँ दिए गए युक्तियों का पालन करें और बेहतर रिटायरमेंट योजना बनाएँ।
 

जल्दी शुरुआत करें-: 

हमेशा याद रखें- जितनी जल्दी,उतना बेहतर।कुछ महिलाएँ सोचती हैं कि उनके करियर की शुरुआत बस अभी ही हुई है और उनके पास सोचने और योजना बनाने के लिए पर्याप्तसमय है। आप अपनी आय के केवल 2-5% की बचत से शुरुआत कर सकती है और धीरे धीरे बढ़ती उम्र और बढ़ती आए के साथ रक़म बढ़ा सकती है।
 

बचत की राशि को बढ़ाएं:
 महिलाओं को समय के साथ उनकी बचत की राशि को बढ़ाना चाहिए ।एवन ह्विट द्वारा किए गए सर्वेक्षण दर्शाता है कि महिलाएँ अपनी आय का केवल  7.5 प्रतिशत ही बचत खाते में डालती है।आपको इसलिए भी बच्चा ज़्यादा करनी चाहिए क्योंकि मॉन्स्टर सैलरी इंडेक्स नामक अध्ययन से पता चलता है कि महिलाएँ पुरुषों 20प्रतिशत कम कमाती है।महिलाओं को पुरुषों की बचत राशि से दोगुना बचाना चाहिए। वित्तीय नियोजक पंकज मार्ले कहते हैं, “इसका मतलब आपके आय का 20-25 प्रतिशत है।” साथ ही,महिलाओं की ईपीएफ के साथ वॉल्युंटरी प्रोविडेंट फंड में ज़्यादा बचत करनी चाहिए। यह जरूरी बचत का उदाहरण हैं जिसमें फंड का पैसा खाते में पहुँचने से पहले ही आपके आय से कट जाता है।
 
 

बेहतर निवेश के लिए पेशेवर की सहायता ले: 
 पेशेवर साला,स्वयं द्वारा किए गए निवेश से हमेशा बेहतर होता है क्योंकि यह आपके रिटायरमेंट फंड में उल्लेखनीय सुधार लाता है। परशिंग एल.एल.सी के एक अध्ययन अनुसार-वित्तीय सलाहकारों को महिलाओं को एक अच्छी वित्तीय योजना बनाकर देनी चाहिए जो उनके रास्ते में आने वाली चुनौतियों को समझने और सुलझाने में उनकी मदद करें। आप की सही तरीक़े से किया जाना चाहिए।इक्विटी इंस्ट्रूमेंट्स और संतुलित म्यूचुअल फंड में बड़े पैमाने पर निवेश करने की सलाह दी जाती है ताकि लंबे समय में उच्च रिटर्न प्राप्त हो। अपने जोखिम के स्तर को समझें और बुद्धिमानी से निवेश करें। 
 

इमेज टेक्स्ट: 

 अपनी सेहत को सही स्वास्थ्य बीमा कवर के साथ सुरक्षित करे-
 • आपके रिटायरमेंट कोष को कम होने से बचाएँ, एक स्वास्थ्य बीमा में निवेश करके।
 • 12-15% की उच्च चिकित्सा मुद्रास्फीति पर विचार करें।
 • जीवन शैली के कारण होने वाले रोगों की घटनाओं में वृद्धि हुई है,ख़ासकरके वृद्ध अवस्था में।
 • एक अच्छी स्वास्थ्य बीमा कवर आपके रिटायरमेंट कोष को टूटने से बचा सकती है।
 • आपके आपात चिकित्सा के वक़्त यह आपकी सहायता कर सकता है।
 कार्यस्थल के फ़ायदे को नज़रअंदाज़ न करें:
 वित्तीय जागरूकता कार्यक्रम विभिन्न संगठनों द्वारा नियमित रूप से आयोजित किया जाता है।इसके साथ ही,यहाँ पर कई आकर्षक सामूहिक रिटायरमेंट नीतियाँ है, जिनका कर्मचारियों को पूरा लाभ उठाना चाहिए थी।आपकी सबसे ज़्यादा फ़ायदे के लिए ऐसी नीतियों पर अपने संगठनों में काम करें।
 

अपने साथी को जागरूक होने दे:
 अपने साथी से अपने रिटायरमेंट योजना की कमाई बनाम एलोकेशन अनुपात की चर्चा करें। हमेशा अपने पोर्टफोलियो की तुलना करें और सुनिश्चित करें कि वह सही है।ज़्यादातर शादियों में एक पति ही सारे महत्वपूर्ण आर्थिक निर्णय लेता है और महिलाओं को इसकी शायद ही ख़बर रहती है। दोनों भागीदारों को उनके वित्तीय स्थिति के बारे में पूरी जानकारी रहना आवश्यक है। और यदि पति की दुर्भाग्यपूर्ण मौत हो जाए उसके बाद ही पत्नी वित्तीय स्थिति को संभालने के लिए बेहतर तैयार होती हैं।इसलिए, रिटायरमेंट योजना महिलाओं के लिए एक महत्वपूर्ण लक्ष्य ही नहीं अपितु एक ज़रूरी वित्तीय फ़ैसला भी है।आपको एक सुरक्षित और आरामदायक रिटायर्ड जीवन के लिए अपने आर्थिक मामलों में सक्रिय होना चाहिए।

डिसक्लेमर: यह लेख केवल सामान्य सूचनात्मक उद्देश्य के लिए है और निवेश या बीमा या क़ानूनी सलाह के रूप में नहीं माना जा सकता है। आपको इन क्षेत्रों में निर्णय लेने के दौरान स्वतंत्र सलाह लेनी चाहिए। 

संबंधित लेख

 

Most Shared