6 अस्वस्थता के संकेत जो दर्शाते हैं कि आपको पैसे का बहुत ज्यादा मोह है

क्या आपने कभी एबीबीए के गीत 'मनी,मनी,मनी / मस्ट बी फनी/ इन द रिच मैन वर्ल्ड ’और अपने सिर को जोश में ज़ोरों से हिलाया है ?

6 अस्वस्थता के संकेत जो दर्शाते हैं कि आपको पैसे का बहुत ज्यादा मोह है

एक बुद्धिमान व्यक्ति ने एक बार कहा था: " वह आदमी गरीब नहीं है जिसके पास बहुत कम है, लेकिन वह आदमी जो हमेशा अधिक के लिए तरसता है, वह गरीब है।" हालांकि हम सभी इस स्वयंसिद्ध सत्य में गर्दन हिला कर हामी भर सकते हैं, लेकिन हममें से बहुत से लोग अपने दैनिक जीवन में इसका अभ्यास करने में विफल रहते हैं। हम यह भूल जाते हैं कि पैसा केवल जीवन का एक हिस्सा है - यह हमारे अस्तित्व का सार और अंत नहीं है।

बड़े पैमाने पर समाज ने लोगों को यह मानने के लिए अनुकूलित किया है कि पैसा ही सब कुछ है - कि यह खुशी, सफलता, और बाकी सब कुछ देता है जो मायने रखता है। वे पूरी तरह से गलत नहीं हैं - इस विचारधारा में कुछ तो सच्चाई है क्योंकि धन एक ऐसे आरामदायक जीवन जीने के लिए आवश्यक है जो विकल्पों और अवसरों से भरा हो।

दुर्भाग्य से, अधिक पैसा कमाने और संपत्ति बनाने के अपने संघर्ष में, कई लोग बह जाते हैं और अपने मानसिक स्वास्थ्य, रिश्तों और सम्पूर्ण कल्याण को नुकसान पहुंचाते हैं। यह आप जितना सोच सकते हैं,उससे भी अधिक सामान्य बात है, और सबसे खराब बात यह है कि यह ज़ाहिर सी बात नहीं है कि इस तरह के पैसे का अस्वस्थ रवैया आपके जीवन पर हावी हो जाए।

खुद के लिए एक अच्छा जीवन बनाने के लिए कड़ी मेहनत करने और ज्यादा मेहनत करने और पैसे कमाने पर लगातार जोर देने के बीच एक पतली सी रेखा होती है। यहाँ कुछ अस्वास्थ्यकर संकेत दिए जा रहे हैं जो बताते हैं कि आप पर पैसे का जूनून सवार है और जिनके खिलाफ आपको काम करना चाहिए।

1. आप हर समय पैसे की बात करते हैं

फिल्म 3 इडियट्स के उस किरदार को याद करें जो हर बार यही बातें करता था कि उसके व्यक्तिगत सामान जैसे जूते और घड़ी कितने महंगे थे? यदि आप खुद को भी ज्यादातर ऐसा करते हुए पाते हैं, तो आपको एक कदम पीछे लेने का समय आ गया है। लेकिन पैसे से ग्रस्त होना उससे भी ज्यादा जटिल हो सकता है। आप हमेशा बाजार के अवसरों, वेतन और बोनस के बारे में ही बात करेंगे और पैसे के नज़रिये के माध्यम से ही सब कुछ देखेंगे ।

2. आपके लिए पैसे के मायने केवल रुपये ही हैं

आपने अक्सर 'स्वास्थ्य ही संपत्ति है ’और 'समय ही पैसा है' जैसी उत्कृष्ट कहावतें सुनी होंगी। वे ज्यादा ही प्रयुक्त हुए लग सकते हैं, लेकिन ऐसा इसलिए है क्योंकि इनमे जीवन का महत्वपूर्ण सत्य निहित हैं। यदि आप ज्यादा काम कर रहे हैं और अपने स्वास्थ्य की उपेक्षा कर रहे हैं, तो आप अनुत्पादक हो सकते हैं। समय के साथ, आपके बिगड़ते स्वास्थ्य के परिणामस्वरूप उच्च चिकित्सा बिल हो सकते हैं - शारीरिक पीड़ा के साथ-साथ ।

इसलिए,पैसे को सख्त रूप से केवल वित्तीय अर्थ में देखने के बजाय समय और सुविधा के संदर्भ में भी देखना महत्वपूर्ण है। मिसाल के तौर पर, अगर आपको रोज़ाना ऑफिस से घर जाते वक़्त ड्राइवर मिल जाए और आपको गाड़ी चलानी न पड़े, तो इसके लिए आपको ड्राइवर को पैसे देने पड़ सकते हैं, लेकिन आपको मैसेज पढ़ने के लिए, कॉल, और अन्य ज़रूरी चीज़ो को देखने के लिए रोज़ाना एक घंटे मिल जाएंगे। आखिरकार, आप पैसा कमा रहे हैं ताकि आप एक आरामदायक जीवन जी सकें।

3. आप अपने वित्त की दूसरों के साथ तुलना करते रहते हैं

यह जिज्ञासा होना कि आपके साथी कितना कमाते हैं और कैसे निवेश करते हैं, यह सामान्य जिज्ञासा है। लेकिन लगातार अपने वित्त की तुलना उनके साथ करना बिलकुल स्वस्थ नहीं है। अगर आपका कोई दोस्त एक संपत्ति के रूप में नई कार या दूसरा घर खरीदता है और आप सोचने लगते हैं 'यह कैसे संभव है? ’और अपनी वित्तीय स्थिति की उनसे तुलना करना शुरू करते हैं, तो यह आपकी मानसिक स्वास्थय या उनके साथ आपके रिश्ते के लिए अच्छा नहीं है।

आपको यह स्वीकार करना सीखना चाहिए कि हमेशा ऐसे लोग होंगे जो आप की तुलना में अधिक कमाते हैं या अधिक विशेषाधिकार प्राप्त हैं, लेकिन वे अपने जीवन को कैसे जीते हैं, इस बात का इस पर कोई प्रभाव नहीं पड़ना चाहिए कि आप कैसे जीते हैं। बस इतना ही याद रखें और अपना काम खुद करते रहें।

4. आप अपनी कमाई के बारे में खुद को तनाव देते हैं

कौन ज्यादा पैसा नहीं कमाना चाहता है? करोड़पति भी अरबपति बनना चाहते हैं; यह मूल मानव प्रकृति है। हालांकि, एक अच्छी नौकरी होने के बावजूद, जो आपको अच्छे पैसे देती है और जिसे करने में आपको मज़ा आता है, फिर भी अगर आप लगातार एक बेहतर अवसर की तलाश में रहते हैं,जो थोड़े और पैसे दे सके, तो आप हमेशा बेचैन रहेंगे और 'अगला क्या?' ढूंढ़ते रहेंगे, इस बात की सराहना किए बिना कि आप कहां हैं।

5. आपके खर्च करने की गतिविधि चरम पर है

यूरोप की यात्रा के लिए या एक निश्चित सामाजिक स्थिति बनाए रखने के लिए डिजाइनर घड़ी जैसी भौतिकवादी चीज़ें खरीदने के लिए ऋण लेना और अधिक खर्च करना समझदारी की बात नहीं है। व्यय व्यवहार के स्पेक्ट्रम का यह केवल एक छोर है। दूसरे छोर में विवेकाधीन खर्चों पर बिल्कुल भी खर्च नहीं करना और आपके बजट में किसी भी मज़ेदार गतिविधियों या शौक के लिए जगह नहीं बनाना है । एक संतुलन खोजना महत्वपूर्ण है क्योंकि इनमें से कोई भी खर्च सीमा स्वस्थ नहीं है।

6. आप दोस्तों और परिवार को खुद से दूर कर रहे हैं

यदि आप याद भी कर पा रहे कि आपने आखिरी बार कब छुट्टी ली थी - यहां तक ​​कि एक छोटी सी - अपने दोस्तों या परिवार के साथ, तो संभावना है कि आपका ध्यान काम पर बहुत ज्यादा केंद्रित हैं और पैसा कमाने के लिए आप उन्हें वो समय नहीं दे रहे जिसके वो हकदार हैं। हां, आप उनके लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं, लेकिन आपकी उपस्थिति पैसे से अधिक मूल्यवान है। अगर किसी बच्चे के माता-पिता ज्यादातर समय आसपास नहीं रहते हो, तो क्या कोई बच्चा अपने जन्मदिन पर फैंसी उपहार मिलने से खुशी होगा? छुट्टी मनाने के लिए और अपने प्रियजनों के साथ समय बिताने के लिए आपको हर हफ्ते कुछ समय निकालने की जरूरत है, फिर चाहे आप अपने कार्यक्रम में कितना ही व्यस्त क्यों न हो।

अंत में, जो व्यक्ति संतुष्ट है और शांत है, वह वो नहीं जिसके पास बैंक में सबसे अधिक पैसा है, लेकिन वह वो है जो अच्छा खा सकता है, शांति से सो सकता है, और बहुत हंस सकता है। इसलिए इन संकेतों की जांच करना सुनिश्चित करें - न केवल अपने आप में, बल्कि अपने प्रियजनों में भी।

संबंधित लेख