TomorrowMakers

जब बात पैसों और वित्तीय मामलों की हो, तब आसान रास्ता अपनाना समझदारी नहीं है।

रोजाना की जिंदगी में पैसों की अहमियत को देखते हुए दुनिया के हर देश की सरकार ने कड़े वित्तीय नियम बनाये हुए हैं, ताकि वित्तीय व्यवस्था में गड़बड़ी न हो। कई वित्तीय आदतें ऐसी हैं जिनसे सीधे तौर पर कोई नुकसान नहीं होता, लेकिन ये आदतें हमारे देश में गैरकानूनी हैं और इनकी वजह से आपको जेल भी हो सकती है।

तो इनमें से कितनी आदतें आपमें हैं?

  1. धोखाधड़ी

बचपन में माता-पिता के दस्तखत की नकल उतारना मजेदार काम लगता है। कभी-कभी बच्चे अध्यापक द्वारा दी गई चिट्ठी पर माता-पिता की जगह खुद दस्तखत कर देते हैं। किसी और के दस्तखत की नकल कर पैसे निकालना या फिर नई खरीदारी करना भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) के अधीन अपराध माना जाता है और इसके लिए जेल हो सकती है।

संबंधित: बच्चे होने के पहले 8 जरूरी वित्तीय कदम

  1. कर्ज की अर्जी

कर्ज की अर्जी नामूंजर होने के डर से या कर्ज की रकम की सीमा बढ़ाने के लिए कई लोग फॉर्म में गलत ब्यौरा देते हैं और तो और कई बार वेतन के फर्जी कागजात भी जमा कराते हैं। गलत जानकारी मुहैया कराने की बात सामने आने पर इसे करार का उल्लंघन माना जाएगा और आपकी कर्ज की अर्जी नामंजूर हो जाएगी। साथ ही, जरूरत पड़ने पर बैंक आपके खिलाफ कानूनी कार्रवाई भी कर सकता है।

  1. बीमा प्रस्ताव

बीमा का करार पूर्ण विश्वास पर आधारित होता है। लेकिन, कई लोग अपनी पहले से मौजूद बीमारियां या अपने स्वास्थ्य से जुड़ी जानकारी छुपाते हैं, ताकि उन्हें बीमा के लिए अतिरिक्त प्रीमियम न देना पड़े। ऐसा करने पर इसे बीमा करार का उल्लंघन माना जाएगा और आपके सबसे जरूरी वक्त पर बीमा का आपका दावा नामंजूर हो सकता है।

संबंधित: 5 वजहें जिनसे आपका कार का बीमा दावा नामंजूर हो सकता है

  1. बीमा दावा

ज्यादा मुआवजा पाने के लिए बीमा का दावा करते समय नुकसान को बढ़ा-चढ़ा कर दिखाना गैरकानूनी है। ऐसा करने पर न सिर्फ बीमा कंपनी आपकी पॉलिसी को रद्द कर सकती है और आपका दावा खारिज कर सकती है। साथ ही, बीमा कंपनी आपके खिलाफ अदालती कार्रवाई भी कर सकती है।

संबंधित: मृत्यु पर मुआवजा: क्या एक से ज्यादा जीवन बीमा पॉलिसी से मुआवजा लिया जा सकता है?

  1. क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल

कई बार लोग परिवार के सदस्यों या दोस्तों के कार्ड का इस्तेमाल खरीदारी के लिए या एटीएम से पैसे निकालने के लिए करते हैं। आमतौर पर इसमें कोई दिक्कत नहीं होती, लेकिन सच में देखा जाए तो कानूनन इसकी इजाजत नहीं है। सुरक्षा के लिहाज से और बैंकिंग नियमों के मुताबिक कार्ड के मालिक के अलावा दूसरे किसी को कार्ड का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

संबंधित: इन 5 परिस्थितियों में क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल न करें

  1. चेक जारी करना

कई लोगों की आदत होती है कि बैंक खाते में पर्याप्त रकम न होने की जानकारी होने पर भी या फिर अनजाने में ही चेक जारी कर देते हैं। ऐसा करने पर नेगोशिएबल इंस्ट्रूमेंट्स एक्ट और भारतीय दंड संहिता के तहत भारी भरकम जुर्माना लगने के साथ आपको जेल हो सकती है।

  1. टैक्स रिटर्न

कई बार लोग टैक्स अधिकारियों को बेवकूफ बनाने के चक्कर में गलत छूट लेते हैं, फर्जी कागजात जमा करते हैं और आय को टैक्स रिटर्न में कम करके दिखाते हैं। लेकिन, टैक्स विभाग की जांच में पकड़े जाने पर आयकर कानून के तहत जुर्माने के साथ कानूनी कार्रवाई भी हो सकती है।

  1. मुद्रा से छेड़छाड़

मुद्रा यानि नोट या फिर सिक्कों के साथ छेड़छाड़ करना या फिर इन्हें गंदा करना अपराध है। समय समय पर भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) लोगों में जागरुकता बढ़ाने के लिए कदम उठाता रहता है। आरबीआई की साफ-सुथरे नोट की नीति के तहत नोट में छेद करना, नोट पर लिखना, रबड़ स्टांप का इस्तेमाल या फिर नोटों की माला या खिलौने बनाना अपराध माना जाता है। रोजमर्रा की जिंदगी में इन नियमों का ख्याल रखना चाहिए।

संबंधित: 11 वित्तीय गलतियां जो आमतौर पर भारतीय करते हैं

निष्कर्ष:

सरकारी कानूनों और नियमों को देखते हुए लोगों को पैसे और वित्तीय मामलों में ज्यादा सतर्क रहना चाहिए। इसलिए सबसे आसान रास्ते के चक्कर में नियम तोड़ने पर आपको गंभीर परिणाम भुगतना पड़ सकता है।

Related Article