अच्छा ऋण बनाम बुरा ऋण: आपको इसके बारे में जो सब पता होना चाहिए?

क्या आप ऋण लेने पर विचार कर रहे हैं? पता करें कि यह अच्छा ऋण है या बुरा ऋण

अच्छा ऋण बनाम बुरा ऋण: आपको इसके बारे में जो सब पता होना चाहिए?

ऋण पात्रता की बात करें तो महिलाएं पुरुषों की तुलना में बेहतर स्थिति में है। प्रधानमंत्री आवास योजना (पी.एम.ए.वाई.) जैसी योजनाओं के तहत, बैंक महिलाओं को ब्याज की रियायती दरों पर गृह ऋण दे रहे हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि वे समय पर ऋण चुकाने में तुलनात्मक रूप से बेहतर होती हैं।

चाहे आपको व्यक्तिगत ऋण या अवकाश ऋण की आवश्यकता हो, विकल्प अनंत हैं। हालांकि, ऋण के फायदों और नुकसानों पर विचार किए बिना, परिणाम ऐसे हो सकते हैं जो आपके लिए इस सौदे से भी बदतर होंगे। हालांकि एक ऋण कैलकुलेटर आपको राशि की संख्याओं में कमी करने में मदद करेगा, पर फिर आपको यह भी मूल्यांकन करना होगा कि आप ऋण क्यों ले रहे हैं।

  • ऋण अच्छा या बुरा हो सकता है यह इस बात पर निर्भर करता है कि यह दीर्घकालिक वित्तीय रणनीति का हिस्सा है या नहीं
  • उच्च-ब्याज दरें ऋण को महंगी बना सकती हैं
  • भविष्य की आय में योगदान देने वाले ऋण एक सार्थक निवेश हो सकते हैं

बुरा ऋण एक राष्ट्रीय हादसा बन चूका है। व्यक्तिगत ऋण डिफॉल्ट के एक मामले ने बैंकों और निवेशकों को परेशान कर दिया है। जैसे की मुद्रास्फीति और नौकरी में नुकसान बढ़ रहे हैं, किसी के संदेह को गलत नहीं कहा जा सकता है कि ऋण लेना अच्छा होगा भी या नहीं। खर्चों में कटौती करना एक समझदारी की बात हो सकती है, लेकिन सच्चाई यह है कि आप कितना कंजूसी कर सकते हैं।

तथ्य यह है कि ऋण के महत्वपूर्ण फायदे भी है। बुद्धिमानी से इस्तेमाल करने पर , वे वित्तीय मुश्किलों में बहुत जरूरी राहत प्रदान कर सकते हैं। पिछली पीढ़ी की तुलना में, मिलेनियल में ऋण के प्रति बहुत अधिक उदार रवैया देखा गया है। कंज्यूमर ड्यूरेबल लोन प्रोवाइडर कंपनी, होम क्रेडिट इंडिया के एक अध्ययन में पता चला है कि उत्तरदाताओं के 50% को जीवनशैली की जरूरतों को पूरा करने के लिए कर्ज लेने में कोई हिचक नहीं होती है।

बैंकों द्वारा विभिन्न प्रकार के ऋण उत्पादों से महिलाओं को सक्रिय रूप से लुभाया जा रहा है। यदि आप, एक महिला के रूप में, गृह ऋण के प्रमुख आवेदक हैं, तो आप कम ब्याज दर के लिए भी पात्र हो सकती हैं क्योंकि महिलाओं के पास ऋण चुकौती का तुलनात्मक रूप से बेहतर रिकॉर्ड है। यकीनन, महिलाएं पुरुषों की तुलना में आर्थिक रूप से बहुत अधिक विवेकपूर्ण हैं।

यह हमें इस मामले की जड़ तक पहुंचाता है। अच्छे और बुरे ऋण के बीच अंतर कैसे किया जाता है, जब दोनों उन चीजों तक हमे पहुंचाते हैं जो हम चाहते हैं? वित्तीय योजनाकारों की सलाह है कि आप अपने आप से निम्नलिखित प्रश्न पूछें: क्या यह ऋण मुझे पैसा कमाने में मदद कर रहा है? बार-बार नहीं तो कभी-कभी , जवाब चीजों को परिप्रेक्ष्य में रख देगा।

उदाहरण के लिए, एक घर जैसे परिसंपत्ति को वित्त करने में मदद करने वाले ऋण, अच्छे ऋण माने जा सकते हैं। दूसरी ओर, अवकाश ऋण की तरह लघुकालिक ऋण खराब ऋण के रूप में माने जाते है। इसलिए, ई.एम.आई. की गणना करने के लिए एक ऋण कैलकुलेटर का उपयोग करने के बाद, निम्नलिखित पहलुओं पर विचार करें कि क्या आपका ईच्छित ऋण ‘अच्छा' या ’बुरा' है।

1. उद्देश्य

आकांक्षात्मक लक्ष्यों को पूरा करने के लिए व्यक्तिगत ऋण लेना (जैसे, नवीनतम स्मार्टफोन खरीदने के लिए ) अल्पावधि में संतुष्टिदायक हो सकता है। हालांकि, चूंकि इसे उपभोग खर्च के रूप में माना जाता है, इसलिए समय के साथ इसका कोई लाभ नहीं मिलता है। दूसरी ओर, शिक्षा ऋण में निवेश करने से आपकी भविष्य की आय में काफी वृद्धि हो सकती है। ऋण लेने के अपने कारणों को सावधानीपूर्वक आंक लें ताकि आप अच्छा निर्णय ले सकें ।

2. आय

यदि आपका मासिक ई.एम.आई. खर्च आपके हाथ आने वाले वेतन का 40% से अधिक ख़त्म कर देता है, तो अधिक ऋण लेना आपके वित्तीय स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है। कम ब्याज दरों के लालच से बचना मुश्किल हो सकता है, खासकर यदि आपको धन की तत्काल आवश्यकता हैं। ऐसी स्थिति से बचने के लिए, ऑनलाइन जानकारी देखें कि ऋण ई.एम.आई. की गणना कैसे की जाती है और यदि उपयुक्त हो, तो वित्तीय योजनाकार की मदद से अपने मौजूदा ऋण को समेकित करें ।

3. ब्याज दर

व्यक्तिगत ऋण पर आप जो ब्याज देते हैं, वह आपके क्रेडिट स्कोर, आपके नियोक्ता और आपके वेतन जैसे कारकों के आधार पर व्यापक रूप से अलग-अलग हो सकता है। अंतर 12-24% तक हो सकता है। जबकि महिलाओं को बेहतर शर्तों पर ऋण मिल सकता है, परन्तु ब्याज के बोझ को कम करने के लिए एक संतुलित दृष्टिकोण आवश्यक होता है। यदि ब्याज दर एक चिंता का विषय है, तो ऋण अवधि के भीतर ही जल्दी बैलेंस ट्रांसफर पर विचार करें। वैकल्पिक रूप से, यदि आपके पास अतिरिक्त निधि है, तो पूर्व भुगतान का विकल्प चुनें। कम से कम, प्रत्येक वर्ष अपनी ई.एम.आई. में 5 से 10% की वृद्धि करें। उच्च ब्याज दर किसी भी ऋण को खराब सौदे में बदल सकती है, जब तक की समय पर सुधारात्मक कार्रवाई नहीं की जाये।

4. कर लाभ

यदि आपका ऋण आयकर अधिनियम के तहत कर लाभ के योग्य है, तो इसमें कुछ ख़ास बात होगी। गृह ऋण और शिक्षा ऋण में अच्छी कटौती प्राप्त होती हैं, जिससे कुल मासिक पैसे का खर्च कम होता हैं। यदि आप स्व-नियोजित हैं, तो व्यावसायिक उद्देश्यों के लिए वाहन या व्यक्तिगत ऋण का लाभ उठाना कर कटौती व्यय के रूप में माना जा सकता है।

5. छिपे हुए शुल्क

ब्याज के अलावा ऋण में अन्य खर्चें भी होते हैं। आपको पता नहीं होगा कि आर.बी.आई. द्वारा 0% इ.एम.आई. योजनाओं को भ्रामक माना गया है। इस तरह के ऋण पर ब्याज घटक आमतौर पर मोटी प्रसंस्करण शुल्क के रूप में वसूल किया जाता है। इस तरह के ऋणों पर प्रभावी ब्याज दर अक्सर आपके द्वारा दिए गए नियमित ऋणों के मुकाबले अधिक होती है। स्रोत: economictimes.indiatimes.com

आखिरी पंक्तियाँ

यदि आपके पास एक अच्छा क्रेडिट इतिहास है, तो ऐसा कोई कारण नहीं है जिससे आपको ऋण नहीं लेना चाहिए - बशर्ते आपका ऋण-से-आय अनुपात संभालने योग्य हो। यह आपको यह तय करने देता है कि आपने जो ऋण लिया है वह अच्छा है या बुरा। क्या आप अपने ऋणों का भुगतान करने और अपनी बचत निर्माण के तरीके खोज रहे हैं?

 

COVID-19

Most Shared