Lost your job? आप अपने पैसों और ज़रूरतों को इस तरह प्रबंधित कर सकते हैं.

वित्तीय लोच रखकर ही आप अपने जीवन के लक्ष्यों को हासिल कर सकते हैं!

Lost your job

How to manage finances in the event of job loss: मौसम हमेशा एक सा और खुशगवार नहीं रहता, अक्सर आंधी तूफान आते-रहते हैं। इसी तरह हमारे जीवन के हालात भी एक जैसे नहीं रहते, उतार-चढ़ाव होता रहता है। इसलिए यह ज़रूरी हो जाता है कि हम किसी भी आपदा का सामना करने के लिए पहले से तैयारी करें। आपदा चाहे जैसी हो उसके लिए लोच होना ज़रूरी है। जीवन में आनेवाली दुर्घटनाओं, बीमारियों या नौकरी छूटने जैसी आपात स्थितियों में आपके पास वित्तीय लचीलापन होना ज़रूरी है। लोच ही आपको अपने जीवन के लक्ष्यों को हासिल करने में सफलता देता है। वित्तीय लोच को दो तरीके से देखा जा सकता है- संपत्ति और नकदी प्रवाह।

संपत्ति में लोच

बहुत से लोग अपने पैसे को रियल एस्टेट, शेयर और लंबे लॉक-इन वाले बॉन्ड या कलाकृतियो और प्राचीन वस्तुओं में लगाते हैं। ये संपत्तियां आसानी से नकदी में भुनाई नहीं जा सकतीं। ज़रूरत के समय खरीदार नहीं मिलते और आपको कम दाम पर बेचना पड़ता है। अपने कोष को इस तरह निवेशित करें कि जरूरत पड़ने पर आप उसका उपयोग कर अपने ज़रूरी और नियमित खर्चों को पूरा कर सकें। 

आपकी प्रत्येक वर्ग में रखी गई राशि यह तय करती है कि आपका नकदी प्रवाह कितना लचीला है। आपका नकदी प्रवाह लचीला है तो कुछ महीनों तक आमदनी न होने पर भी आप खर्चों को कम करके लंबे समय तक काम चला सकते हैं। 

यह भी पढ़ें: ७ वित्तीय नियम

अपने नकदी प्रवाह और संपत्ति दोनों में लचीलापन कैसे रखें

आपके नकदी प्रवाह और संपत्ति दोनों में लचीलापन होना ज़रूरी है। आपकी संपत्ति लचीली और पर्याप्त है, तो नकदी प्रवाह न होने पर भी आप संपत्तियों को आसानी से भुना सकते हैं। जब नकदी प्रवाह और परिसंपत्तियां दोनों में लोच न हो तो समस्या होती है।

आय या नौकरी के नुकसान को संभालने के लिए आपके पास एक आपातकालीन कोष होना चाहिए। यह कोष आम तौर पर छह महीने के नियमित खर्चों और आपके बीमा प्रीमियम और स्कूल फीस जैसे वार्षिक निश्चित भुगतान को संभालने के लिए पर्याप्त होना चाहिए। 

याद रहे अपनी सबसे बड़ी दौलत आप खुद हैं। आपके कार्यजीवन मे, आप पैसा बनाने वाली संपत्ति हैं, क्योंकि आप नियमित खर्चों और अपने दीर्घकालिक लक्ष्यों को पूरा करने के लिए धन जुटाते हैं। बैंक आपको जो पैसा उधार देते हैं, वह आपकी कमाई की क्षमता के आधार पर ही ते हैं। पर्याप्त जीवन बीमा लेकर आपकी सभी देनदारियां को पूरा किया जा सकता है, यह सुनिश्चित करता है कि परिवार के नियमित खर्च पूरे होते रहे।

हो सकता है कि बीमारी या अक्षमता के कारण आप लंबे समय तक काम न कर सकें। आपको अपने और अपने परिवार के लिए एक चिकित्सा कवर ज़रूर रखना चाहिए। ऐसा करने पर आपको चिकित्सा खर्च के लिए अपने निजी धन का उपयोग नहीं करना पड़ेगा। 

नौकरी छूट भी जाए तो तनावग्रस्त न हों। कभी-कभी, यह आपके लिए नए अवसर लाता है। एक वित्तीय योजना बनाना यह सुनिश्चित करता है कि आप अल्पावधि में तूफानों का सामना कर सकते हैं और सही करियर विकल्प चुनते हैं।

यह भी पढ़ें: मार्केट में निफ़्टी ५० से रिटर्न कैसे पाए?

संवादपत्र

संबंधित लेख