अपने व्यक्तिगत वित्त का ऑडिट कैसे करें?

अपने व्यक्तिगत वित्त का ऑडिट करने से आपको अपने पैसे पर नज़र रख आवश्यक बदलाव करने में मदद मिल सकती है। यहां ऑडिट करने का एक आसान तरीका है, घर पर ही अपने आप से |

अपने व्यक्तिगत वित्त का ऑडिट कैसे करें?

एक आर्थिक रूप से स्वतंत्र वयस्क के रूप में, आपको इसके बारे में सचेत रहना चाहिए कि आपके पैसे कहाँ जा रहे हैं,यह महत्वपूर्ण है। ट्रैक पर रहने का एक शानदार तरीका अपने वित्त को ऑडिट करना है। ऐसे जटिल लगने वाला,पर वित्तीय ऑडिटिंग आपके वित्तीय रिकॉर्ड, व्यय, बचत, लक्ष्य, ऋण, और किसी भी अन्य पैसे से संबंधित मामलों की जांच करने की एक सरल प्रक्रिया है।

इस आसान ऑडिटिंग प्रक्रिया से शुरुआत करें:

बैक-अप योजना

एक समय निश्चित करें

हालांकि एक वित्तीय ऑडिट का संचालन करना बहुत मुश्किल नहीं होता है, पर रविवार की दोपहर को यह बहुत मजेदार नहीं लगता है। इस बात पर ध्यान दे कि इसका अभ्यास करते समय ,मानसिक और शारीरिक रूप से पूरी तरह से इसमें मग्न रहना सबसे अच्छा रहेगा। नौसिखिये के रूप में, इसे वर्ष में एक बार करना सबसे अच्छा है, किसी ऐसे सप्ताह के दौरान जब आपके पास कोई अन्य प्रतिबद्धता नहीं हो। आप जितना कम अपना ध्यान भटकने देंगे, आपका ऑडिट उतना ही सफल होगा।

सब कुछ की समीक्षा करें

अपने ऑडिट से संबंधित अपने सभी पुराने बैंक स्टेटमेंट, बिल, स्प्रेडशीट और किसी भी वित्तीय दस्तावेज की समीक्षा करने से शुरुआत करें। ये रिकॉर्ड आपको अपने वित्त की स्थिति को समझने में मदद करेंगे, और आपको अपने खर्च करने की आदतों की अच्छी समझ देंगी। जीवन बीमा, परिवार स्वास्थ्य कवर और आपातकालीन धन जैसे निवेश का हिसाब करें। अपनी आय की एक स्पष्ट तस्वीर प्राप्त करने के लिए, प्रत्येक फ़ाइल के रूप में ,अपने खर्चों की श्रेणियां विभाजित करें।

इसे संयुक्त रूप से करें

यदि आपके पास एक जीवनसाथी है ,जो भी कमा रहा है, तो अपने ऑडिट का संचालन करते समय दोनों के निवेश के दस्तावेजों को देखें। यह महत्वपूर्ण है क्योंकि साथी के अचानक निधन से गंभीर वित्तीय उलझनें पैदा हो सकते हैं। परिवार में आय की अचानक कमी से किसी एक को कमाना शुरू करना पड़ सकता है जो न केवल आर्थिक रूप से बल्कि भावनात्मक रूप से भी बेहद तनावपूर्ण हो सकता है।

स्वास्थ्य कवर

आपके और आपके परिवार के लिए स्वास्थ्य बीमा की आवश्यकता का मूल्यांकन करें। अपने करियर के शुरुआती दिनों में यह करने से आपको कोई दुर्भाग्यपूर्ण आपातकाल के दौरान धन संकट से निपटने में मदद मिल सकती है। जल्दी शुरुआत यह भी सुनिश्चित करेगी कि आपके बीमा प्रीमियम का बोझ कम हो।

आपातकालीन निधि

आपके पास एक आपातकालीन निधि का होना बहुत जरूरी है। यदि आपके पास पहले से यह नहीं है, तो आपको अपने ऑडिट के दौरान इसे सुलझाना होगा। अपने आपातकालीन कोष में कम से कम आधे साल की आय रखें ताकि आप किसी भी स्थिति के लिए तैयार रहें, जिसमें कामबंदी भी शामिल है। आदर्श रूप से, यह राशि आपको 6 से 8 महीने की बेरोजगारी में मदद करने के लिए पर्याप्त होनी चाहिए।

ऑडिट के दौरान एक बैकअप योजना, दूर के अप्रत्याशित भविष्य के लिए बनाई जाती है। इसलिए,हालांकि यह अभी आपको बेमतलबी लग सकता है, पर यह संकट के समय आर्थिक रूप से मजबूत रहने में आपकी मदद करने वाला है।

वह रणनीति

एक बैकअप योजना के साथ, अब आप अपनी बचत और निवेश का ऑडिट कर सकते हैं।

आपके लक्ष्य

जीवन को जीते समय, आपके पास उन लक्ष्यों का एक गुच्छा हो सकता है जिन्हें आप प्राप्त करना चाहते हैं। चाहे वह अल्पकालिक, दीर्घकालिक या सिर्फ अच्छी सेवानिवृत्ति हो, एक वित्तीय ऑडिट आपको उन कदमो पर स्पष्टता प्रदान करेगा जो आपको अपने लक्ष्यों तक पहुंचने के लिए उठाना चाहिए।

आपकी प्राथमिकताएँ

कभी-कभी, सभी नियोजन और कड़ी मेहनत के बाद भी, आपके पास अपने लक्ष्यों के लिए बचत करने हेतु पर्याप्त धन नहीं बचता है। ऐसे समय में, आपको कमाने और बचाने की अपनी क्षमता के आधार पर अपने लक्ष्यों को प्राथमिकता देने की आवश्यकता होती है।

जैसा की कहा गया है, एक संतुलित पोर्टफोलियो के माध्यम से अपने निवेश को प्राप्त करना महत्वपूर्ण है, जहां इक्विटी, स्टॉक और म्यूचुअल फंड के बीच फंड को विवेकपूर्ण रूप से विभाजित किया जाता है। यह सुनिश्चित करेगा कि आप अगले कुछ वर्षों में लगातार मुनाफा कमाएंगे और बाजार के उतार-चढ़ाव से खुद को सुरक्षित करेंगे।

आखिरी शब्द

एक वित्तीय ऑडिट अप्रत्याशित परिस्थितियों को आपके वित्त को प्रभावित करने से नहीं रोक सकता है, लेकिन यह आपको अपने पैसे के बारे में गहराई से जानकारी हासिल करने में मदद कर सकता है। व्यक्तिगत वित्त ऑडिट करने के कई तरीके हैं, लेकिन यह कोई झंझट वाला काम नहीं है। हमारे द्वारा ऊपर उल्लिखित ऑडिटिंग की आसान प्रक्रिया आपको एक बेहतर और वित्तीय रूप से अधिक स्थिर भविष्य के लिए मार्गदर्शित करनी चाहिए।




संबंधित लेख