बैंक 1 नवंबर से नकद जमा और निकासी पर एक निश्चित शुल्क वसूलेगी

कई बैंक ए.टी.एम. मशीनों पर एक निश्चित राशि से अधिक नगद जमा और निकासी होने पर एक सुविधा शुल्क लागु करेगी |

बैंक 1 नवंबर से नकद जमा और निकासी पर एक निश्चित शुल्क वसूलेगी

नवंबर 2020 से कुछ बैंक ट्रांसैक्शंस में सुविधा शुल्क लगाई जाएगी | वे ग्राहक जो ए.टी.एम. में अक्सर नगद जमा या निकासी करते हैं,उन्हें अपने वॉलेट में ये बदलाव नज़र आएंगे | नए नियम हर बैंक में अलग होंगे |

आई.सी.आई.सी.आई. बैंक

आई.सी.आई.सी.आई. बैंक ने कहा है कि वह गैर व्यावसायिक समय पर और बैंक की छुट्टियों के दौरान ग्राहकों के कैश एक्सेप्टर कीओस्क पर नगद जमा के लिए 50 रुपये का शुल्क वसूलेगा | इसका यह मतलब है कि ग्राहकों को शाम 6 बजे बैंक के बंद होने के बाद से दूसरे दिन सुबह 8 बजे तक किये गए हर लेनदेन के लिए शुल्क देना पड़ेगा | यह नियम बैंक की छुट्टियों पर भी लागू होगा|

यदि एक महीने में सभी लेनदेन को मिलाकर ग्राहकों द्वारा किया गया नगद जमा 10,000 रु से अधिक होने पर बैंक एक सुविधा शुल्क भी लगाएगा | हालांकि,फिर भी यह शुल्क बेसिक बचत बैंक जमा खाते (बी.एस.बी.डी.), वरिष्ठ नागरिक के खाते ,जन धन खाते ,विद्यार्थी खाते और शारीरिक रूप से विकलांग लोगो के खातों में लागू नहीं होगा |

बैंक ऑफ बड़ौदा

बैंक ऑफ बड़ौदा के पास उनके बचत एवं चालु खाताधारकों के लिए शुल्कों की एक अलग सूचि होगी| बचत खाता के ग्राहकों के लिए, एक महीने में 3 जमा और 3 निकासी की छूट दी गई है |चौथे जमा से, मेट्रो शहरों के लिए 50 रुपये प्रति लेनदेन का शुल्क लगेगा ( गैर मेट्रो शहरों के लिए 40 रुपये) और निकासी के लिए 125 रुपये( गैर मेट्रो शहरों के लिए 100 रुपये )|

चालु खाताधारक और ओवरड्राफ्ट खाताधारकों को 1 लाख रुपये प्रतिदिन तक के जमा पर कोई शुल्क नहीं लगेगा | इससे अधिक राशि के जमा करने पर 1 रूपया प्रति 1000 रुपये लागू होगा ,जिसमे न्यूनतम शुल्क 50 रुपये होगा और अधिकतम 20,000 रुपये| खाताधारकों को हर महीने बिना शुल्क के 3 निकासी करने की अनुमति है पर उसके बाद के हर लेनदेन के लिए उन्हें 150 रुपये चुकाना होगा |

यह शुल्क जन धन खाताधारकों पर लागू नहीं होगा परन्तु यह छूट वरिष्ठ नागरिकों को नहीं दी गई है |

एक्सिस बैंक और अन्य

एक्सिस बैंक ने पहले ही 1 अगस्त 2020 से गैर-बैंकिंग समय (शाम 5 बजे से सुबह 9:30 बजे के बीच) और राज्य और राष्ट्रीय अवकाश के दौरान नकद जमा के लिए 50 रुपये प्रति लेनदेन की दर से शुल्क शुरू किया था। अन्य राष्ट्रीय बैंक जैसे बैंक ऑफ इंडिया, पंजाब नेशनल बैंक और सेंट्रल बैंक भी उन शुल्कों की सूची पेश कर सकते हैं, जिनकी वर्तमान में समीक्षा जारी है ।

आर.बी.आई. दिशानिर्देश के अनुसार, सभी बैंकों को 'उनके खर्चों के हिसाब से अपनी सेवाओं के लिए एक निष्पक्ष,पारदर्शी और भेदभावरहित तरीके से शुल्क लागू करने की अनुमति दी गई है |' हालांकि,वित्तीय मंत्रालय ने पुष्टि की है कि 60 करोड़ बी.एस.बी.डी. खाते ,जिनमे 41 करोड़ जन धन खाते शामिल हैं जिसे मार्जिनलाइज़्ड और बैंक रहित खण्डों के लिए वित्तीय समावेशन बढ़ाने के लिए खोला गया था ,उन पर कोई सेवा शुल्क लागू नहीं होगी | 

संबंधित लेख