Debt to Income Ratio: डेट से आय के अनुपात की गणना कैसे करें? अपने आदर्श डेट से आय का अनुपात कैसे बनाएं

अपना डेट से आय का अनुपात जानें: गणना, आदर्श अनुपात आपका आदर्श डेट से आय का अनुपात आपको तेज पर्सनल लोन दिला सकता है; अपने आदर्श अनुपात की गणना करें और जानें

डेट से आय का अनुपात क्‍या है डेट से आय के अनुपात की गणना कैसे करें

Debt to Income Ratio:

अपने ईएमआई भुगतानों में डिफॉल्ट नहीं करना चाहते हैं

पर्सनल फाइनेंस ने उपभोक्‍ताओं द्वारा उच्‍च-मूल्य वाली खरीदारी को करना आसान बना दिया है। घर के अलावा, कई ऑटोमोटिव और ड्यूरेबल की बिक्री ईएमआई विकल्‍प के साथ होती है, जो पर्सनल फाइनेसिंग का मुख्य आधार है। हालांकि, ग्राहक को कुछ प्रक्रिया संबंधी आवश्‍यकताओं, जैसे आय का विवरण प्रदान करने का अवश्‍य पालन करना चाहिए। फाइनेंसर खरीदारी को मंजूरी देने से पहले आमतौर पर कुछ पैरामीटर्स की समीक्षा करता है जैसे ग्राहक का डेट-आय का अनुपात। ईएमआई स्‍कीम पर पहली बार खरीदारी करने वाले लोग यह जानने के लिए उत्‍सुक हो सकते हैं कि डेट से आय अनुपात क्या है। आइए विस्‍तार से समझते हैं। 

डेट से आय का अनुपात (DTI) क्‍या है?

डेट से आय का अनुपात उधारकर्ता की कुल मासिक आय की तुलना में ऋण चुकाने की क्षमता का एक संभावित आकलन है। डीटीआई एक मुख्‍य फाइनेंशियल टूल है जिसका उपयोग उधारदाताओं द्वारा ऋण लेने वाले व्‍यक्ति की मासिक ऋण भुगतान करने की क्षमता का आकलन करने के लिए किया जाता है।

अपने डेट से आय के अनुपात की गणना कैसे करें?

सरल शब्दों में, डीटीआई, आपकी सभी मासिक ऋण राशियों का योग है जिसका आपको भुगतान करना है, आपकी कुल आय का भाग है। इससे प्राप्‍त वैल्‍यू को अनुपात के रूप में व्यक्त किया जाता है। कुल आय करों और कटौती से पहले आपकी कमाई है, और डेट का मतलब आप पर कुछ बकाया राशि है। दूसरे शब्दों में, डेट किसी अन्य पार्टी से वापस करने की शर्त पर उधार लिया गया धन/माल है।

आइए एक उदाहरण लेते हैं।

आपकी कुल मासिक आय 60,000 रूपये है;

आपका मासिक डेट दायित्‍व है (मान लेते हैं)-

a) होम लोन की ईएमआई का भुगतान–15,000 रूपये,

b) कार लोन का भुगतान–4000 रूपये,

c) क्रेडिट कार्ड का भुगतान–1000 रूपये,

कुल मासिक डेट का योग 20,000 रूपये तक है।

आपका डीटीआई 33.3% (20000 / 60000) होगा

डेट से आय का अनुपात क्‍यों महत्‍वपूर्ण है?

दूसरों के बीच, डीटीआई एक महत्वपूर्ण मैट्रिक्स है, जिसका इस्‍तेमाल ऋणदाता द्वारा आपके उधार जोखिम का आकलन करने के लिए किया जाता है। कम डीटीआई, आय और डेट और उधार लेने वाले व्‍यक्ति की उधार चुकाने की क्षमता के बीच एक अच्छा संतुलन दर्शाता है। एक उच्च डीटीआई आय की तुलना में एक अनुपातहीन ऋण दर्शाता है। इसलिए, ऋणदाता डेट से आय के उच्‍च अनुपात को एक नए लोन पर संभावित डिफॉल्ट के संभावित संकेत के रूप में देखते हैं।   

पर्सनल लोन लेने के लिए डेट से आय का आदर्श अनुपात क्या है?

जब आपका डीटीआई 20 से 35% होता है, तो इसे आपके लोन प्रस्ताव के शीघ्र निपटान के लिए अच्छा माना जाता है। दूसरी ओर, 40% से अधिक का अनुपात आपके विकल्पों को सीमित कर सकता है, हालांकि कुछ ऋणदाता फिर भी आपको फाइनेंस कर सकते हैं, लेकिन उच्च ब्याज दरों पर। इसी तरह, 50% से अधिक का अनुपात पर्सनल लोन पाने की संभावना को समाप्‍त कर देगा।

आदर्श डेट से आय का अनुपात के भीतर रहने के लिए आपको क्‍या करना चाहिए?

20 से 35% की आदर्श डीटीआई सीमा के भीतर रहने से कई लाभ होते हैं। सबसे पहले, आपके डिफॉल्ट की संभावना कम हो जाती है। कोई डिफॉल्ट ना होने का रिकॉर्ड, बदले में, आपके क्रेडिट स्कोर* को बढ़ाता है और आपके क्रेडिट इतिहास को मजबूत करता है। एक अच्छा डीटीआई बनाए रखने के लिए संभावित कदम हैं:

a) नियमित रूप से खर्च करने की आदतों की समीक्षा करना और गैर-प्राथमिकता वाले खर्चों में कटौती करना,

b) नई महंगी खरीद को टालना,

c) अपने मासिक ऋण भुगतान में वृद्धि करना,

d) यदि आपको कुछ अप्रत्याशित धन मिलता है, तो उसका उपयोग ऋण को चुकाने के लिए करें, और

e) आय बढ़ाने का प्रयास करना

[*क्रेडिट स्‍कोर आपके क्रेडिट कार्ड के भुगतान के इतिहास से निकाला गया संख्‍यात्‍मक मान होता है]

पर्सनल लोन लेने के लिए क्रेडिट स्कोर और ऋण के इतिहास के साथ डीटीआई महत्वपूर्ण मानदंड हैं। लेकिन, डीटीआई, आसानी से मापने योग्य होने के कारण, आपका विश्वसनीय समर्थन आधार हो सकता है।

M Stock

संवादपत्र

संबंधित लेख