क्या आप व्यवसाथ ऋण लेने के फायदों और नुकसानों के बारे में जानते हैं?

व्यवसाथ ऋण उद्यमियों को वित्तीय प्रोत्साहन प्रदान कर सकता है जिनकी उन्हें जरूरत होती है। हालांकि, यह लोन लेने से पहले, यहां कुछ फायदे या नुकसान बताए गए हैं जिनके बारे में आपको अवश्य जानना चाहिए।

क्या आप व्यवसाथ ऋण लेने के फायदों और नुकसानों के बारे में जानते हैं

लाखों छोटे बिजनेस - किराना स्टोर से लेकर ट्रेडर्स और एमएसएमई और एसएमई तक भारतीय अर्थव्यवस्था के रीढ़ हैं - बैंकों, एनबीएफसी और यहां तक कि सरकारी-फंडेड संस्थानों की ओर से मिलने वाली ऋण सहायता पर किसी न किसी तरह निर्भर करते हैं। व्यवसाथ ऋण सरल होता है, लेना आसान होता है और धन बढ़ाने का लागत-प्रभावी विकल्प होता है। यदि आप एक उद्यमी हैं और फंडिंग की तलाश कर रहे हैं, तो यहां फायदों और नुकसानों के बारे में बताया गया है जिनपर आपको व्यवसाथ ऋण के लिए आवेदन करने से पहले विचार करना चाहिए।

फायदे:

आपके व्यवसाय लक्ष्यों को तेजी से पूरा करता है

चाहे आप ऑपरेशन को बढ़ाना चाहते हों, नया उपकरण खरीदना चाहते हों, अधिक लोगों को नियुक्त करना चाहते हों या मार्केटिंग अभियान चलाना चाहते हों, इसके लिए भारी पूंजी की जरूरत होती है। जरूरी फंड प्राय: नए बिजनेस को आसानी से उपलब्ध नहीं हो पाता। अनेक प्रकार के व्यापक और विशिष्ट व्यवसाथ ऋण प्रॉडक्ट जैसे स्टार्ट-अप लोन, ओवरड्राफ्ट सुविधाएं, बिल डिस्काउंटिंग, कार्यकारी पूंजी ऋण, माइक्रो-फाइनेंशिंग स्कीम (मुद्रा, सीजीटीएमएसई इत्यादि) अब उपलब्ध हैं जिनसे आप अपनी उन्नति की संभावनाओं को बढ़ा सकते हैं, प्रतिस्पर्धी बने रह सकते हैं, और अपने बिजनेस के लिए नए ग्राहकों को आकर्षित कर सकते हैं।

नगद प्रवाह चुनौतियों को कम करना

विस्तारित क्रेडिट साइकल, ग्राहकों की ओर से विलंबित भुगतान, उपकरण की टूट-फूट, या आकस्मिक आर्थिक परिवर्तन जैसे कोविड-19 महामारी कुछ पूर्वानुमानित समस्याएं हैं जो आपकी उत्पादकता को अवरुद्ध कर सकती हैं। शीघ्र क्रेडिट मूल्यांकन और मानकीकृत अंडरराइटिंग प्रक्रियाओं के मद्देनजर, आप साधारण तौर पर घंटों में लोन स्वीकृति हासिल कर सकते हैं और 48 घंटे के अंदर अपने अकाउंट में क्रेडिट प्राप्त कर सकते हैं। न्यूनतम दस्तावेज और सरलीकृत प्रक्रियाएं यह सुनिश्चित करती हैं कि लोन का टर्नअराउंड समय कम से कम हो, जिससे समय पर पूंजी उपलब्ध हो जाती है।

इससे जुड़ी बातें: गोल्ड लोन छोटे व्यवसाय के लिए अवसरों का द्वार खोलता है

कोलैटरल या गारंटर से मुक्त रहें

अधिकांश वित्तीय संस्थानें अब असुरक्षित व्यवसाथ ऋण प्रदान कर रही हैं जिनके लिए आपको गारंटी के रूप में व्यक्तिगत या बिजनेस परिसंपत्ति देने की जरूरत नहीं होती, या चुकौती जमानत के एवज में लोन के लिए सह-हस्ताक्षरकर्ता के रूप में किसी दूसरे व्यक्ति को नहीं लाना होगा। ये नए युग के बिजनेस अनुकूल लोन ऐसे नए और छोटे उद्यमियों के लिए एक वरदान है जिनके पास सुरक्षित लोन पाने के लिए परिसंपत्तियां या बिजनेस अनुभव नहीं है। इन लोनों को प्राथमिक आवेदक के क्रेडिट मूल्यांकन, बिजनेस योजना की व्यवहार्यता (नए स्टार्ट-अप के लिए), और वित्तीय विवरणों, साथ ही अन्य पैरामीटर के आधार पर स्वीकृत किया जाता है।

सुविधाजनक चुकौती विकल्पों की उपलब्धता

व्यवसाथ ऋण सुविधाजनक चुकौती अवधि के साथ उपलब्ध होते हैं। आप अपने नगद प्रवाह के पूर्वानुमान के आधार अपनी ईएमआई और अवधि में फेरबदल कर सकते हैं, जिससे लोन चुकाने का वित्तीय और मानसिक तनाव कम हो जाता है। अधिकांश व्यवसाथ ऋण 12 से 60 महीनों की अवधि के लिए उपलब्ध होते हैं। आपको विभिन्न अमोर्टाइजेशन (ऋण-परिशोधन) स्कीमों के बारे में जानना चाहिए और अपने बेहतर चुकौती स्कीम तैयार करने हेतु व्यवसाथ ऋण कैल्कुलेटर का उपयोग करना चाहिए। इसके अलावा, व्यवसाथ ऋण के लिए भुगतान किया जाने वाले ब्याज को डिडक्शन के रूप में क्लेम किया जा सकता है, जिससे आपकी कर देयता को कम करने में मदद मिलती है।

इससे जुड़ी बातें: क्या आप एक छोटा बिजनेस चलाते हैं? यहां लॉकडाउन के बाद अपने बिजनेस को दुबारा शुरू करने के बारे में गाइड दिया गया है

नुकसान:

पात्रता आपके क्रेडिट स्कोर पर निर्भर करता है

असुरक्षित ऋण आमतौर पर सुरक्षित ऋण की तुलना में अधिक महंगा होता है, क्योंकि इसमें बैंकों और एनबीएफसी के लिए अधिक जोखिम है। उधारकर्ता कोई कोलैटरल नहीं देता जिसे डिफॉल्ट की स्थिति में भुनाया जा सके। इसलिए, ऐसे ऋणों पर ऋणदाता प्रीमियम लेता है। दूसरा महत्वपूर्ण कारक जो ऋण की लागत को प्रभावित करता है, वह है आपका क्रेडिट स्कोर। यदि आप क्रेडिट हिस्ट्री अपर्याप्त है या खराब है, तो आपका लोन बहुत अधिक महंगा हो जाएगा, यदि उसके लिए योग्य होते हैं। 750+ क्रेडिट स्कोर को पात्रता के लिए एक बेंचमार्क माना जाता है। सुनिश्चित करें कि आपका कोई बकाया क्रेडिट कार्ड उधार न हो और दूसरे ऋणों के लिए एक अच्छा चुकौती इतिहास हो ताकि आपको अपने व्यवसाथ ऋण पर मनोनुकूल अवधि मिल सके।

हो सकता है कि ऋण की राशि पर्याप्त न हो

वित्तीय संस्थानें ज्यादातर बिजनेस को छोटे-छोटे असुरक्षित ऋण देती हैं जबकि बड़ी मात्रा में ऋण कुछ को ही देती हैं। बड़ी ऋण देने में सावधानी बरतते हैं क्योंकि असुरक्षित ऋण में जोखिम होता है और रिकवरी योग्य परिसंपत्तियों की कमी होती है। यद्यपि ऐसे लोन लघु-कालिक जरूरतों के लिए अनमोल हो सकते हैं, आप ऐसे लोन को बड़े पैमाने पर रणनीतियां बनाने में नहीं लगा पाएंगे, जैसे नई जगहों पर बिजनेस फैलाना, कैपएक्स ग्रोथ, या बड़े-पैमाने का उत्पाद रोलआउट।

इससे जुड़ी बातें: व्यक्तिगत ऋणों के प्रकार जिनके बारे में आपको अवश्य जानना चाहिए

अक्सर तरलता की विवशता हो जाती है

ऋण पर अधिक ब्याज और लंबी अवधि के कारण आपकी नगद प्रवाह खत्म हो जाती है और देयता को देखते हुए डायनेमिक बिजनेस निर्णय लेने की आपकी क्षमता सीमित हो जाती है। अनेक छोटे-छोटे बिजनेस के लिए इसका अर्थ यह भी होता है कि उन्हें अतिरिक्त ऋण नहीं मिल सकता जबतक कि वे मौजूदा ऋण को नहीं बढ़ाते हैं या चुकाते हैं, ऐक्सपोजर के कारण बैंक या एनबीएफसी ने पहले से नए एंटरप्राइज को ले रखा है। इसलिए, यह महत्वपूर्ण है कि बिजनेस मालिक ऋण की जरूरत, इसके उपयोग, और उनकी चुकौती नीतियों के बारे में सावधानी से विचार करें ताकि ऋण एक बोझ न बन जाए।

अंतिम शब्द

जैसी कि किसी भी वित्त प्रदायन स्रोत के साथ होता है, असुरक्षित व्यवसाथ ऋण लेने के फायदे और नुकसान दोनों होते हैं। हालांकि, यदि आप सावधानी पूर्वक मूल्यांकन करने के बाद ऋण लेना चाहते हैं, तो इससे आपके बिजनेस को प्रोत्साहन मिल सकता है और आप दीर्घ-कालिक सफलता के अपने बदलावों को भारी रूप से उन्नत बना सकते हैं। 7 बिजनेस जो महामारी के दौरान चलते रहे




संबंधित लेख