TomorrowMakers

कंपनियों और कर्मचारियों के लिए खर्चों का प्रबंधन के लिए कॉरपोरेट क्रेडिट कार्ड एक अच्छा तरीका है। लेकिन, इन कार्ड के सही इस्तेमाल के बारे में जानकारी होना जरूरी है, ताकि उनकी सुरक्षितता जोखिम में न पड़ जाए।

Dos and don'ts of Corporate Credit Cards
कॉरपोरेट क्रेडिट कार्ड एक प्रकार के क्रेडिट कार्ड हैं जो एक नियोक्ता या कंपनी अपने कर्मचारियों, खासतौर पर ऐसे कर्मचारी जो कार्यक्षेत्र से सीधा जुड़े होते हैं, के कामकाज संबंधित वैध खर्चों को पूरा करने के लिए मुहैया कराती है। आमतौर पर ये कार्ड नियोक्ता के नाम पर जारी होते हैं, लेकिन व्यक्तिगत कार्ड पर कर्मचारी का नाम भी लिखा होता है। इस लेख में हम आपको बताएंगे कि क्रेडिट कार्ड का कैसे इस्तेमाल किया जाए और कौन सी गलतियां करने से बचना चाहिए।
 
#1 क्या करें: कंपनी पॉलिसी की पूरी जानकारी हासिल करें
  • कर्मचारियों को खुद से नीचे दी गई जानकारी हासिल करनी चाहिए:
  • कार्ड की क्रेडिट सीमा
  • बिल चक्र
  • भुगतान की ड्यू डेट
  • कंपनी के पास खर्चों का ब्यौरा जमा करने का आरूप और समयसीमा
  • मंजूरी प्राप्त खर्चों की सूची
  • कंपनी का मंजूरी देने वाला अधिकारी
  • खर्चों की सीमा, आदि
आमतौर पर नियोक्ता इस विषय से जुड़े ऑनलाइन ट्रेनिंग मॉड्यूल इंट्रानेट पर उपलब्ध कराते हैं और ये जरूरी है कि आप इनका ठीक से अध्ययन करें।
 
#2 क्या न करें: कॉरपोरेट कार्ड पर व्यक्तिगत खर्च चार्ज करें
 
अपने कॉरपोरेट क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल सिर्फ कामकाज से संबंधित खर्चों के लिए ही करें। अगर किसी खर्च को लेकर आप दुविधा में हैं कि वो कामकाजी या व्यक्तिगत है या फिर मिला-जुला, तो ऐसे में कंपनी की पॉलिसी गाइड की मदद लें या फिर मंजूरी देने वाली अधिकारी से पहले बात साफ कर लें।
 
कंपनी की अकाउंटिंग टीम आपके कार्ड की स्टेटमेंट पर दिए गए हर खर्च की बारीकी से जांच करेगी और अगर पता चलता है कि आपने कॉरपोरेट कार्ड पर अपने व्यक्तिगत खर्च चार्ज किए हैं तो इससे आपकी ईमानदारी पर सवाल उठ सकता है और सहयोगियों और मैनेजर के सामने आपकी इज्जत में कमी आएगी। कुछ मामलों में, कर्मचारियों को नौकरी से भी निकाला जा सकता है। अगर आपको पता चलता है कि आपने गलती से व्यक्तिगत खर्चों के लिए कॉरपोरेट कार्ड का इस्तेमाल किया है, तो आपको पहले पता होना चाहिए इन मामलों में क्या कदम उठाए जाने चाहिए और इस गलती के बारे में खुद से नियोक्ता को जानकारी दें।
 
#3 क्या करें: कार्ड को चोरी और नुकसान से बचाएं
 
जहां तक कर्मचारी की देयता का सवाल है, कॉरपोरेट कार्ड निजी क्रेडिट कार्ड से अलग नहीं होते हैं। निजी कार्ड की तरह ही कॉरपोरेट क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करते वक्त कर्मचारी को पूरी सावधानी बरतनी चाहिए।
 
इन सावधानियों में शामिल है:
  • अज्ञात व्यापारियों से खरीदारी के लिए कार्ड का उपयोग न करना
  • कार्ड के सीवीवी और पिन की जानकारी किसी भी तरीके से दूसरे व्यक्ति को नहीं देना
  • अपने ऐवज में कार्ड को इस्तेमाल करने के लिए मित्र या रिश्तेदार को नहीं देना
ध्यान रखिए: अगर आपको ऐसे लेन-देन की सूचना मिलती है जो आपने नहीं किया है, तो तुरंत कस्टमर केयर में फोन करें और कार्ड को ब्लॉक करें ताकि कार्ड के अधिक गलत इस्तेमाल और होने वाले अतिरिक्त नुकसान पर रोक लगे।
 
#4 क्या न करें: क्रेडिट स्कोर के महत्व से अनजान रहें
जैसे निजी क्रेडिट कार्ड एक व्यक्ति के क्रेडिट इतिहास से जुड़े होते हैं, ठीस उसी तरह ही कॉरपोरेट क्रेडिट कार्ड कंपनी के क्रेडिट इतिहास से जुड़े होते हैं। यानि, आपके द्वारा बिल के भुगतान में देरी या चूक से आपकी कंपनी के क्रेडिट स्कोर पर असर पड़ता है। साथ ही, क्रेडिट कार्ड देते वक्त कर्मचारी के निजी क्रेडिट स्कोर को भी ध्यान में रखा जाता है। इसलिए, ये जरूरी है निजी और कॉरपोरेट क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करते वक्त कर्मचारियों को सावधानी बरतनी चाहिए, ताकि कर्मचारियों का अपना निजी और कंपनी का क्रेडिट स्कोर खराब न हो।
 
निष्कर्ष में
कॉरपोरेट क्रेडिट कार्ड कंपनियों और कर्मचारियों के लिए खर्चों का प्रबंधन का एक अच्छा तरीका है। भले ही कॉरपोरेट क्रेडिट कार्ड के साथ अधिक क्रेडिट सीमा, रिवॉर्ड प्वाइंट, होटलों के साथ प्राथमिकता करार, आदि जैसे फायदे मिलते हों, लेकिन योग्य जानकारी और सही इस्तेमाल के जरिए ही इनका ज्यादा से ज्यादा लाभ उठाया जा सकता है।
 

संबंधित लेख