एक नए उद्यमी के रूप में इन सामान्य वित्तीय गलतियों से बचें

जब आप शुरुआत करते हैं तो गलतियाँ तो होती ही है, लेकिन कुछ व्यावसायिक वित्त गलतियाँ हैं जिन्हें आप अभी नहीं कर सकते हैं !

एक नए उद्यमी के रूप में इन सामान्य वित्तीय गलतियों से बचें

जब आप एक नया व्यवसाय शुरू करते हैं, विशेष रूप से आपका पहला व्यवसाय, तो आप से कई गलतियाँ होना लाज़मी हैं। उनमें से बहुत से आपके व्यवसाय की नीव बनेंगे, और आप जब पीछे मुड़कर देखेंगे तो उनके आभारी होंगे। लेकिन नए व्यवसाय के लिए कुछ गलतियाँ बहुत महंगी पड़ सकती हैं, और आप उनसे बचने की पूरी कोशिश भी करना चाहेंगे । यहाँ कुछ सामान्य और दुर्भाग्यपूर्ण वित्तीय गलतियाँ हैं, जो बहुत से उद्यमी व्यवसाय शुरू करते समय करते हैं।

1. व्यवसाय और व्यक्तिगत खाते अलग-अलग नहीं होना

जब आप शुरुआत कर रहे होते हैं, तो शायद एक व्यवसाय खाता बनाना अनावश्यक लग सकता है क्योंकि आप शायद अकेले ही सब संभाल रहे होंगे और अपनी व्यक्तिगत बचत का उपयोग करके व्यवसाय कर रहे होंगे । लेकिन आप जितना लंबा इंतजार करेंगे, उतना ही मुश्किल होता जाएगा । आपके व्यवसाय और व्यक्तिगत उपयोग के लिए आपके पास अलग-अलग बैंक खाते और क्रेडिट कार्ड होने चाहिए। यह आपके व्यवसाय के वित्तीय स्वास्थ्य की स्पष्ट तस्वीर प्राप्त करने में आपकी सहायता कर सकता है जो व्यवसाय वित्त की मूल बातें होती है। यह आपके पक्ष में भी काम करेगा जब आप बाद के चरण में निवेशकों के समक्ष अपने व्यवसायी विचार प्रस्तुत करना चाहेंगे ।

2. शुरुआत में बहुत अधिक खरीदारी करना

नए लैपटॉप से ​​लेकर फैंसी फर्नीचर तक - जब आप अपना उद्यम शुरू कर रहे हों, तो हर चीज का लाभ उठाने की इच्छा होना स्वाभाविक है। लेकिन जहाँ भी हो सके,आपको लगाम कसना महत्वपूर्ण है। आपको शुरुआत में बहुत उत्साहित नहीं होना चाहिए और बहुत अधिक खरीदारी नहीं करनी चाहिए। सबसे पहले, आपके पास जो कुछ भी है ,उसका उपयोग करें और इस तरह की खरीदारी पर विचार तब करें जब आप लाभ कमाना शुरू करते हैं और एक सकारात्मक नकदी प्रवाह शुरू जो जाए।

3. स्पष्ट लक्ष्य निर्धारित नहीं करना

जब आप लक्ष्य निर्धारित करते हैं और एक समयरेखा निर्धारित करते हैं - मासिक, त्रैमासिक, वार्षिक - आप अपने आप को और बाकी सभी को जो आपके साथ काम करते हैं, उन सभी को एक रूपरेखा देते है जिससे यह स्पष्ट रूप से पता चलता है कि आपके व्यवसाय को कहां तक ​​पहुंचना है और सभी को किस दिशा में काम करने की आवश्यकता है। आर.एंड.डी. में कितना निवेश करना है और मार्केटिंग पर कितना खर्च करना है, यह निर्धारित करने के लिए आपको सही आंकड़ों का पता लगाना होगा।

4. बहुत अधिक इक्विटी देना

व्यापार वित्त के स्रोत बहुत होते हैं और यह एक गलती है जिसे आपको नहीं करना चाहिए। चाहे वह निवेशक हो या आपके मित्र और परिवार, बहुत अधिक इक्विटी देने की गलती न करें, खासकर शुरुआत में जब आपके व्यवसाय का मूल्यांकन कम हो। न केवल आप कम से कम नकदी के लिए अपने व्यापार का एक हिस्सा दे देंगे ,पर साथ ही आप लंबे समय में अपना नियंत्रण भी उन्हें सौंप देंगे।

5. वित्त की देखभाल करने के लिए दूसरों पर भरोसा करना

यदि आप खुद को संख्याओं को संभालने वाला व्यक्ति नहीं मानते हैं तो भी आपको यह जानना होगा कि आपके व्यवसाय में क्या चल रहा है। यहां तक ​​कि अगर आपने अपने व्यवसाय के वित्त पर नज़र रखने के लिए किसी स्मार्ट और भरोसेमंद व्यक्ति को काम पर रखा है , तो भी उद्यमी के रूप में ,आपको अपने सभी आंकड़ों को अच्छी तरह से जानना होगा - नकदी प्रवाह अनुमानों से प्रति इकाई लागत और व्यवसाय वित्त से जुड़ी हर चीज ।

6. वित्तीय मूल बातें की जानकारी नहीं होना

आपके आंकड़ों के बारे में जानने के लिए, आपको पहले उन्हें समझने की आवश्यकता है। यदि आपको एक लेखांकन और वित्त सम्बंधित क्लास लेना पड़े या अपने एकाउंटेंट के साथ समय बिताना पड़े - तो करें। इस विषय पर किताबें पढ़ने से लेकर वीडियो देखने तक,आपको खुद से वित्तीय बुनियादी बातों को समझना होगा, ताकि जब व्यवसाय वित्त को संभालने की बात हो, तो आपको डर नहीं लगे ।

7. अपने वेतन का त्याग करना

जब आप अपना उद्यम शुरू करने के लिए अच्छे वेतन की नौकरी छोड़ते हैं, तो आप बहुत सारे बलिदान और अनुकूलन करते हैं। फिर भी कई उद्यमी अपने निजी व्यवसाय में नकदी के कमी पर व्यक्तिगत वेतन निकालने में सहज महसूस नहीं करते हैं। आपको शुरुआत से ही वेतन नहीं निकालना है, लेकिन आपको इसे हमेशा के लिए त्यागने की आवश्यकता भी नहीं है। आप देरी से वेतन का दावा कर सकते हैं और उस राशि को कंपनी के व्यक्तिगत ऋण में परिवर्तित कर सकते हैं ।

8.अपेक्षित राजस्व के आधार पर खर्चों में वृद्धि

एक बहुत ही महत्वपूर्ण और बुनियादी लेखांकन नियम है कि प्रत्याशित नुकसान का हिसाब रखना चाहिए लेकिन प्रत्याशित लाभ का कभी भी हिसाब नहीं रखना चाहिए । सरल शब्दों में,शेख चिल्ली कि तरह मत सोचो। बहुत से उद्यमी अपने अपेक्षित राजस्व के आधार पर, विशेष रूप से क्रेडिट कार्ड ऋण जैसे खर्चों को वहन करने की गलती करते हैं। ऐसा न करें क्योंकि अनुमानित राजस्व वास्तविक राजस्व नहीं है। हालांकि आप व्यवसाय वित्त के अन्य स्रोतों से अतिरिक्त धन निकाल सकते हैं, पर शुरूआती चरणों में राजस्व अनुमानों के आधार पर आपको ऐसा नहीं करना चाहिए ।

क्या आप पहले से ही इनमें से कुछ गलतियाँ कर चुके हैं ? कोई बात नहीं, आप अभी भी सुधार करने में सक्षम हो सकते हैं। लेकिन इसे देरी से करने की तुलना में जल्दी करना बेहतर है! सुनिश्चित करें कि आप इस लेख को अपने उद्यमी दोस्तों के साथ साझा करें क्योंकि यह अच्छी बातचीत की बेहतरीन शुरुआत हो सकती है जहां आप अपनी सामान्य गलतियों पर चर्चा कर सकते हैं और एक-दूसरे से बचने के उपाय साझा कर के मदद कर सकते हैं।