एक वित्तीय नारीवादी बनने के लिए सुझाव और ट्रिक्स

नारीवाद दुनिया में तूफ़ान ला रहा है। आइए एक नज़र डालते हैं कि यह विचारधारा आपके वित्त पर कैसे लागू हो सकती है।

एक वित्तीय नारीवादी बनने के लिए सुझाव और ट्रिक्स

वित्तीय नारीवाद एक बहुत शक्तिशाली शब्द है - और अच्छा है, खासकर जब आप एक महिला हैं। सबसे लंबे समय तक, महिलाओं को सिखाया गया था कि पैसा उनके लिए उपयुक्त विषय नहीं है। हम यह सुझाव नहीं दे रहे हैं कि आप शुक्रवार की रात लड़कियों के साथ क्रिप्टोकरेंसी के बारे में बात करें। हालाँकि, एक महिला के रूप में जो आप स्वयं पैसा कमाती है, वित्तीय मामलों को आपको अपने आराम क्षेत्र से बाहर नहीं धकेलना चाहिए।

वित्तीय नारीवाद में सभी महिलाओं के लिए वित्तीय समानता पर विश्वास है। महिलाओं द्वारा सामना किए जाने वाले भेद भाव को कम करने की दिशा में काम करते हुए, यहां पांच चीजें हैं जो आपको स्वाभिमानी वित्तीय नारीवाद के रूप में करने की ज़रूरत है:

1. शीशे की दीवारों को तोड़ दे

लिंग के आधार पर वेतन मतभेद के मुद्दे पर अक्सर महिलाएं अपने मामले को आगे बढ़ाने से कतराती हैं। लगभग 19% भारतीय महिलाएं पुरुषों की तुलना में कम कमाती हैं और अंतर समय के साथ कम हुआ है। यह अंतर अर्ध-कौशल और अत्यधिक कौशल महिलाओं के व्यवसाय के लिए व्यापक है। मॉन्स्टर डॉट कॉम द्वारा किये गए 'वूमन ऑफ इंडिया इंक ’शीर्षक के एक सर्वेक्षण में पाया गया कि लगभग 60% भारतीय महिलाओं ने काम में भेदभाव महसूस किया और 66% ने महसूस किया कि लैंगिक समानता आज संगठनों में एक शीर्ष चिंता का विषय होना चाहिए।

यह केवल पैसा कमाने के बारे में नहीं है। यह भी मायने रखता है कि आप किस तरह से दुनिया में महिलाओं और पैसे की तरफ नज़रिये को बदलने की दिशा में काम करते हैं। काम पर समझौता करने की शक्ति रखने से आपको लिंग के बीच वेतन अंतर को बंद करने में मदद मिलेगी। संक्षेप में, महिलाओं के लिए एक स्थायी भविष्य का निर्माण करने के लिए रूढ़िवादियों को चुनौती देना, आपको एक वित्तीय नारीवादी बनाती हैं।

2. पैसे के बारे में अधिक बात करें

एक वित्तीय नारीवादी पैसे, पैसे और अधिक पैसे के बारे में बात करने के लिए स्वतंत्र महसूस करती है। एक असहज विषय जिसे महिलाओं के लिए लगभग वर्जित माना जाता था, आज भी एक वास्तविक मुद्दा है। यह अजीब है, क्योंकि दस में से नौ महिलाओं ने अपने जीवन के किसी न किसी समय में अपने स्वयं के धन को संभाला है। पैसे के बारे में बात करना, अपने पैसे का प्रबंधन करना और खुद को आर्थिक रूप से शिक्षित करना,आपका सशक्तिकरण हो सकता है। यदि आप पैसे पर अपने नज़रिये को कभी नहीं छुपाने वाले दृढ़ विश्वास वाले व्यक्ति हैं, तो आप एक वित्तीय नारीवादी हैं।

3. निवेश की खाई को पाटना

वित्तीय नारीवाद पैसे को आत्म-देखभाल के माध्यम के रूप में दर्शाता है क्योंकि आपको सशक्त बनाने के लिए पुरुषों की आवश्यकता नहीं है । आज, वित्तीय नारीवादी एक नई दुनिया का निर्माण कर रहे हैं क्योंकि वे कर सकते हैं। महिला निवेश अंतर ’एक वास्तविक मुद्दा है, इसलिए नहीं क्योंकि महिलाएं बुरे निवेशक हैं, लेकिन इसलिए क्योंकि महिलाएं पुरुषों की तुलना में अधिक निवेश करने की आवश्यकता महसूस नहीं करती हैं। पैसे की बचत और निवेश आपको अपने जीवन पर स्वाधिकार देता है। आर्थिक रूप से स्वतंत्र नारीवादी होने के आत्मविश्वास होने पर आप जीवन के अगर-मगर से मुक्त हो जाएंगे।

4. आत्मविश्वास भेदभाव को कम करें

महिलाएं आज पुरुषों के बराबर सक्षम होने से भी अधिक काबिल हैं। इसके बावजूद, अधिकांश भारतीय महिलाएं घर के किसी भी वित्तीय निर्णय में शामिल नहीं होती हैं। महिलाओं के लिए पुरुषों की तुलना में अधिक कठिन बाधाएं हैं जो उन्हें वित्तीय आत्मविश्वास की सीढ़ी पर चढ़ने से रोकती हैं, लेकिन वित्तीय नारीवादियों को खुद से पूछना चाहिए: किस कीमत पर? खुद को सामने रखने का साहस होना, धन के मामलों के बारे में ज्ञान प्राप्त करना, और आत्मविश्वास के साथ जोखिम की ओर ध्यान देना, आपको एक वित्तीय नारीवादी बनाता है।

5. अपनाओ और ख़ुशी मनाओ

एक महिला के रूप में, आप मजबूत और सशक्त दोनों हो सकते हैं। क्या आप अपने वित्तीय नारीवादी मतभेदों को गले लगाकर अपने आप को ऊपर उठा सकने का विकल्प चुनते हैं, या आप प्रतिस्पर्धा करने के लिए तुलना करना चाहेंगी ? एक बार जब आप अपने मन में इन सवालों के जवाब दे देते हैं, तो आपको पता चल जाएगा कि आप एक वित्तीय नारीवादी हैं या नहीं। तो, अपनी आवाज़ को बढ़ाइए; दूसरों को सपने देखने के लिए प्रोत्साहित करें, और उन महिलाओं का उत्थान करें जिनके पास आपके सामान विशेषाधिकार नहीं है । एक वित्तीय नारीवादी के रूप में, बहिनपन का बंधन आपको इस भाँती प्रोत्साहित करनी चाहिए जिससे की आप अपने बच्चों को समान अवसर ’के समान विश्वास के साथ पाले ।

अंततः, एक वित्तीय नारीवादी के लिए यह सिर्फ महिलाओं को अधिक कमाने के लिए प्रोत्साहित करना नहीं है, बल्कि भविष्य के निर्माण के लिए उनके उत्थान के बारे में है जो उनकी मान्यताओं का समर्थन करता है। वित्तीय नारीवाद का हमारे लिए यही अर्थ है। क्या आपके लिए भी यह समान है? इसके अतिरिक्त, वित्तीय दुरुपयोग एक वास्तविक गलत चीज है। यहां बताया गया है कि कैसे बताए अगर आप इसके चंगुल में हैं।

वित्तीय नारीवाद एक बहुत शक्तिशाली शब्द है - और अच्छा है, खासकर जब आप एक महिला हैं। सबसे लंबे समय तक, महिलाओं को सिखाया गया था कि पैसा उनके लिए उपयुक्त विषय नहीं है। हम यह सुझाव नहीं दे रहे हैं कि आप शुक्रवार की रात लड़कियों के साथ क्रिप्टोकरेंसी के बारे में बात करें। हालाँकि, एक महिला के रूप में जो आप स्वयं पैसा कमाती है, वित्तीय मामलों को आपको अपने आराम क्षेत्र से बाहर नहीं धकेलना चाहिए।

वित्तीय नारीवाद में सभी महिलाओं के लिए वित्तीय समानता पर विश्वास है। महिलाओं द्वारा सामना किए जाने वाले भेद भाव को कम करने की दिशा में काम करते हुए, यहां पांच चीजें हैं जो आपको स्वाभिमानी वित्तीय नारीवाद के रूप में करने की ज़रूरत है:

1. शीशे की दीवारों को तोड़ दे

लिंग के आधार पर वेतन मतभेद के मुद्दे पर अक्सर महिलाएं अपने मामले को आगे बढ़ाने से कतराती हैं। लगभग 19% भारतीय महिलाएं पुरुषों की तुलना में कम कमाती हैं और अंतर समय के साथ कम हुआ है। यह अंतर अर्ध-कौशल और अत्यधिक कौशल महिलाओं के व्यवसाय के लिए व्यापक है। मॉन्स्टर डॉट कॉम द्वारा किये गए 'वूमन ऑफ इंडिया इंक ’शीर्षक के एक सर्वेक्षण में पाया गया कि लगभग 60% भारतीय महिलाओं ने काम में भेदभाव महसूस किया और 66% ने महसूस किया कि लैंगिक समानता आज संगठनों में एक शीर्ष चिंता का विषय होना चाहिए।

यह केवल पैसा कमाने के बारे में नहीं है। यह भी मायने रखता है कि आप किस तरह से दुनिया में महिलाओं और पैसे की तरफ नज़रिये को बदलने की दिशा में काम करते हैं। काम पर समझौता करने की शक्ति रखने से आपको लिंग के बीच वेतन अंतर को बंद करने में मदद मिलेगी। संक्षेप में, महिलाओं के लिए एक स्थायी भविष्य का निर्माण करने के लिए रूढ़िवादियों को चुनौती देना, आपको एक वित्तीय नारीवादी बनाती हैं।

2. पैसे के बारे में अधिक बात करें

एक वित्तीय नारीवादी पैसे, पैसे और अधिक पैसे के बारे में बात करने के लिए स्वतंत्र महसूस करती है। एक असहज विषय जिसे महिलाओं के लिए लगभग वर्जित माना जाता था, आज भी एक वास्तविक मुद्दा है। यह अजीब है, क्योंकि दस में से नौ महिलाओं ने अपने जीवन के किसी न किसी समय में अपने स्वयं के धन को संभाला है। पैसे के बारे में बात करना, अपने पैसे का प्रबंधन करना और खुद को आर्थिक रूप से शिक्षित करना,आपका सशक्तिकरण हो सकता है। यदि आप पैसे पर अपने नज़रिये को कभी नहीं छुपाने वाले दृढ़ विश्वास वाले व्यक्ति हैं, तो आप एक वित्तीय नारीवादी हैं।

3. निवेश की खाई को पाटना

वित्तीय नारीवाद पैसे को आत्म-देखभाल के माध्यम के रूप में दर्शाता है क्योंकि आपको सशक्त बनाने के लिए पुरुषों की आवश्यकता नहीं है । आज, वित्तीय नारीवादी एक नई दुनिया का निर्माण कर रहे हैं क्योंकि वे कर सकते हैं। महिला निवेश अंतर ’एक वास्तविक मुद्दा है, इसलिए नहीं क्योंकि महिलाएं बुरे निवेशक हैं, लेकिन इसलिए क्योंकि महिलाएं पुरुषों की तुलना में अधिक निवेश करने की आवश्यकता महसूस नहीं करती हैं। पैसे की बचत और निवेश आपको अपने जीवन पर स्वाधिकार देता है। आर्थिक रूप से स्वतंत्र नारीवादी होने के आत्मविश्वास होने पर आप जीवन के अगर-मगर से मुक्त हो जाएंगे।

4. आत्मविश्वास भेदभाव को कम करें

महिलाएं आज पुरुषों के बराबर सक्षम होने से भी अधिक काबिल हैं। इसके बावजूद, अधिकांश भारतीय महिलाएं घर के किसी भी वित्तीय निर्णय में शामिल नहीं होती हैं। महिलाओं के लिए पुरुषों की तुलना में अधिक कठिन बाधाएं हैं जो उन्हें वित्तीय आत्मविश्वास की सीढ़ी पर चढ़ने से रोकती हैं, लेकिन वित्तीय नारीवादियों को खुद से पूछना चाहिए: किस कीमत पर? खुद को सामने रखने का साहस होना, धन के मामलों के बारे में ज्ञान प्राप्त करना, और आत्मविश्वास के साथ जोखिम की ओर ध्यान देना, आपको एक वित्तीय नारीवादी बनाता है।

5. अपनाओ और ख़ुशी मनाओ

एक महिला के रूप में, आप मजबूत और सशक्त दोनों हो सकते हैं। क्या आप अपने वित्तीय नारीवादी मतभेदों को गले लगाकर अपने आप को ऊपर उठा सकने का विकल्प चुनते हैं, या आप प्रतिस्पर्धा करने के लिए तुलना करना चाहेंगी ? एक बार जब आप अपने मन में इन सवालों के जवाब दे देते हैं, तो आपको पता चल जाएगा कि आप एक वित्तीय नारीवादी हैं या नहीं। तो, अपनी आवाज़ को बढ़ाइए; दूसरों को सपने देखने के लिए प्रोत्साहित करें, और उन महिलाओं का उत्थान करें जिनके पास आपके सामान विशेषाधिकार नहीं है । एक वित्तीय नारीवादी के रूप में, बहिनपन का बंधन आपको इस भाँती प्रोत्साहित करनी चाहिए जिससे की आप अपने बच्चों को समान अवसर ’के समान विश्वास के साथ पाले ।

अंततः, एक वित्तीय नारीवादी के लिए यह सिर्फ महिलाओं को अधिक कमाने के लिए प्रोत्साहित करना नहीं है, बल्कि भविष्य के निर्माण के लिए उनके उत्थान के बारे में है जो उनकी मान्यताओं का समर्थन करता है। वित्तीय नारीवाद का हमारे लिए यही अर्थ है। क्या आपके लिए भी यह समान है? इसके अतिरिक्त, वित्तीय दुरुपयोग एक वास्तविक गलत चीज है। यहां बताया गया है कि कैसे बताए अगर आप इसके चंगुल में हैं।

Expert Article block example

संवादपत्र

संबंधित लेख