Farmers' Guide: How to Refund Erroneous PM Kisan Nidhi Installments

गलती से मिल रहे पीएम किसान निधि की किस्तों को वापस करने के लिए किसानों के लिए स्टेप-बाय-स्टेप प्रोसेस के बारे में जानें।

पीएम किसान योजना

PM Kisan Nidhi Installments: प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि की बहुप्रतीक्षित 14वीं किस्त मिलने की खबरें लगातार आ रही हैं। किसानों को उनके खातों में धनराशि जमा होने की उनकी प्रत्याशा दिन पर दिन बढ़ती जा रही है। हालांकि, इसके आगमन के संबंध में कोई आधिकारिक अपडेट सामने नहीं आया है मगर अटकलें बताती हैं कि किस्त मई के अंत तक या जून में आ सकती है।

इस किस्त के वितरण में देरी का कारण योग्य किसानों की सूची को अपडेट करने की सावधानीपूर्वक प्रक्रिया को बताया जा रहा है। गौरतलब है कि एक उत्तर प्रदेश में हुए एक हालिया जांच के दौरान 21 लाख से ज्यादा किसान प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के लिए अयोग्य पाए गए हैं।

पीएम किसान योजना क्या है?

पीएम किसान योजना के तहत केंद्र सरकार देश भर के किसानों को सालाना 6 हजार रुपये की राशि भेजती है। यह राशि हर चार महीने में 2000 रुपये की किश्तों में बांटी जाती है। हालांकि, किस्त प्राप्त करने के लिए पात्र होने से पहले किसानों को कुछ शर्तों को पूरा करना होता है।

इन शर्तों में जमीन का मालिक नहीं होना, सरकार द्वारा नियोजित नहीं होना, पेंशन प्राप्त नहीं करना और आकर्षक पद पर न होना शामिल है। कुछ अतिरिक्त आवश्यकताओं को भी रेखांकित किया गया है। सरकार विशेष रूप से ऑनलाइन माध्यमों से किसानों के खातों में धनराशि स्थानांतरित करती है।

पीएम किसान सम्मान निधि योजना देश भर के किसानों के लिए जीवन रेखा के रूप में कार्य करती है। व्यवस्थित किस्त प्रणाली किसानों को धन का नियमित प्रवाह प्रदान करके उनकी सहायता करती है और कृषि विकास को बढ़ावा देकर उन्हें सशक्त बनाती है।

यह भी पढ़ेंक्या 2023 में भारतीय किसानों की आय पर लगेगा टैक्स?

पीएम किसान योजना किस्त रिफंड की प्रक्रिया

पीएम किसान योजना के शुरुआती दौर में देश भर के किसानों को इस योजना में शामिल होने के लिए प्रोत्साहित किया गया। इस सूची में कुछ गलत नाम भी आए और कई लोगों ने धन की चाह में अपना पंजीकरण करवा लिया। लेकिन अगर कोई गलती से इस योजना का लाभ उठा रहा है तो उसके पास रिफन्ड का आसान विकल्प मौजूद है। 

पीएम किसान सम्मान निधि की किश्त गलती से किसी किसान के खाते में पहुंच जाए या कुछ किसानों को फर्जी तरीके से राशि मिल जाए तो केंद्र सरकार को राशि लौटाने का प्रावधान किया गया है। पीएम किसान योजना किस्त रिफंड एक ऑनलाइन और आसान प्रक्रिया है। 

पैसे कैसे कर दें रिफंड

रिफंड शुरू करने के लिए, किसानों को पीएम किसान की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। उन्हें “वोलंटरी सरेंडर पीएम किसान बेनिफिट टैब” नामक एक सेक्शन मिलेगा। 

इस टैब पर क्लिक करने और कैप्चा कोड के साथ अपना पंजीकृत मोबाइल नंबर दर्ज करने पर, किसानों को उनके मोबाइल डिवाइस पर एक ओटीपी (वन-टाइम पासवर्ड) प्राप्त होगा। इसके बाद वे वेबसाइट पर ओटीपी डाल सकते हैं। 

इसके बाद, किश्तों का विस्तृत विवरण प्रदर्शित किया जाएगा, जिसमें उन्हें रिफंड करने या सरेंडर करने का विकल्प भी शामिल है। 

पूरी प्रक्रिया वेबसाइट पर पूरी की जा सकती है और एक बार हो जाने के बाद आगे कोई किश्त नहीं दी जाएगी।  

यह भी पढ़ें: क्या आपको अधिग्रहीत भूमि पर कर भुगतान करना होगा? 

संवादपत्र

संबंधित लेख