Fi Money launches easy Personal Loan

बेंगलुरु की फिनटेक कंपनी Fi Money ने जानकारी दी है कि तत्काल उधार (इंस्टैंट क्रेडिट) के चलते Fi फेडरल बचत खाते में कर्ज की रकम प्राप्त की जा सकती है।

Easy Personal Loans

Fi Money: सीमित संख्या के ग्राहकों के लिए मनी मैनेजमेंट प्लेटफॉर्म द्वारा मनी लेंडिंग सर्विस की शुरुआत की गई है। निजी लोन सर्विस के तहत इंस्टैंट लोन (Instant Loan) प्राप्त करने की इस सुविधा को फेडरल बैंक के साथ साझेदारी में शुरू किया गया है। नई सुविधा के बाद निजी लोन लेने के लिए कागज़ात और स्वीकृति की लंबी प्रक्रिया से नहीं गुजरना पड़ेगा। एफआई मनी ने इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि इंस्टैंट पर्सनल लोन तत्काल सुविधा को वे चरणबद्ध रूप में शुरू करेंगे। 

Fi Money से लोन की ज़रूरत 

मौजूदा दौर में बैंकों से लोन लेने में अभूतपूर्व बढ़ोतरी हुई है और अब पिछले नौ सालों में सबसे अधिक हो गई है। दूसरी तरफ खाते में आवक की रफ्तार धीमी हो चली है। आरबीआई डिपॉजिट की सुस्ती और लोन की तेजी के बीच बैलेंस शीट के संतुलन पर खासी चिंतित दिखाई दे रही है, जिसके चलते ऋणदाता वित्तीय संस्थाओं को सावधानी बरतने के लिए आगाह किया गया है। इन कारणों से कर्ज लेने के लिए किए गए आवेदन में बहुत विलंब होने लगा है और ज्यादातर आवेदन खारिज किए जा रहे हैं। सेंट्रल बैंक ने यह भी चिंता जताई है कि वित्तीय संस्थाओं द्वारा सभी औपचारिकताएँ पूरी करके ऋण मिलने के स्थान पर रुकावट पैदा करने के मामले बढ़े हैं। 

ऐसे में मनी मैनेजमेंट प्लेटफॉर्म Fi Money ने ग्राहकों को सुरक्षित और बाधा रहित इन्स्टेन्ट पर्सनल लोन मुहैया कराने का लक्ष्य सामने रखा है। 

यह भी पढ़ें७ वित्तीय नियम

Fi फेडरल बचत खाते में आएगी क़र्ज़ की रकम 

बेंगलुरु की फिनटेक कंपनी Fi Money ने जानकारी दी है कि तत्काल उधार (इंस्टैंट क्रेडिट) के चलते Fi फेडरल बचत खाते में कर्ज की रकम प्राप्त की जा सकती है। कर्ज लेने की पूरी प्रक्रिया इंस्टैंट लोन सर्विस के माध्यम से सरल हो गई है। आवेदन स्वीकृत होने के बाद Fi फेडरल बचत खाते में सीधे-सीधे रकम जमा कर दी जाती है। 

फंड के इस्तेमाल के लिए कोई पाबंदी नहीं 

Fi मनी की तत्काल उधार (इंस्टैंट क्रेडिट) स्कीम पर फंड के इस्तेमाल के लिए नो-आस्क पॉलिसी लागू है। यानी लोन की रकम का इस्तेमाल अपनी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए किया जा सकता है जिसपर Fi मनी किसी तरह की आपत्ति नहीं उठाएगा। साथ ही समय से पहले कर्ज चुकता करने पर अतिरिक्त शुल्क भी देय नहीं होगा। 

Fi मनी के सीईओ की घोषणा

Fi मनी के सह संस्थापक और सीईओ सुजीत नारायनन ने जानकारी दी है कि कंपनी का उद्देश्य ग्राहकों को जब और जहाँ आवश्यकता हो, उस समय तत्काल रकम उपलब्ध कराने का है। अपनी मार्केट रिसर्च में कंपनी ने पाया कि मुश्किल और लंबे समय चलने वाली इस प्रक्रिया से ग्राहकों को खासी परेशानी होती है जिसके चलते एएफआई मनी ने एक पारदर्शी प्रक्रिया ग्राहकों की सुविधा के लिए उतारी है। 

यह भी पढ़ें: मार्केट में निफ़्टी ५० से रिटर्न कैसे पाए?

संवादपत्र