Research grant for single girl child: एकल कन्या संतान और सेवानिवृत्त संकाय सदस्यों के लिए अनुसंधान अनुदान

विश्वविद्यालय अनुदान आयोग एकल कन्या संतान और सेवानिवृत्त संकाय सदस्यों सहित पांच फेलोशिप और शोध अनुदान आरंभ देगा।

University Grants Commission

University grant for single girl child: विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने इस वर्ष शिक्षक दिवस पर पांच फेलोशिप और शोध अनुदान आरंभ करने की निर्णय लिया है। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के अध्यक्ष जगदीश कुमार के अनुसार, आयोग 5 सितंबर, 2022 को शिक्षक दिवस पर माता-पिता की एकल कन्या संतान और सेवानिवृत्त संकाय सदस्यों सहित पांच फेलोशिप और शोध अनुदान आरंभ करने जा रहा है। इस फेलोशिप के लिए 100 स्लॉट उपलब्ध हैं और चयनित उम्मीदवारों को फेलोशिप के हिस्से के रूप में प्रति माह ₹50,000 और आकस्मिकता के रूप में प्रति वर्ष ₹50,000 दिए जाएंगे।

सोमवार को जिन पांच फेलोशिप योजनाओं को शुरू किया जाएगा वे निम्नलिखित हैं: एकल कन्या संतान  के लिए सावित्रीबाई ज्योतिराव फुले फेलोशिप, डॉ. राधाकृष्णन यूजीसी पोस्ट-डॉक्टोरल फेलोशिप, अवकाश प्राप्त संकाय सदस्यों के लिए फेलोशिप, सेवारत संकाय सदस्यों के लिए शोध अनुदान और नव नियुक्त संकाय सदस्यों के लिए डॉ. डी.एस. कोठारी अनुसंधान अनुदान।

श्री कुमार ने जानकारी देते हुए कहा कि शिक्षक दिवस के अवसर पर, विश्वविद्यालय अनुदान आयोग कई शोध योजनाओं की घोषणा कर रहा है, जिससे देश भर के उच्च शिक्षण संस्थान लाभान्वित होंगे।

यह भी पढ़ें: ७ सुनहरे वित्तीय नियम

शोध अनुदान और फेलोशिप के लिए पात्रता और अनुदान राशि

सेवानिवृत्त शिक्षकों को अनुसंधान के अवसर प्रदान करने के उद्देश्य से 'अधिवर्षिता संकाय सदस्यों के लिए फेलोशिप' शुरू की जा रही है। सेवाकालीन संकाय सदस्यों के लिए अनुसंधान अनुदान' का उद्देश्य नियमित रूप से नियुक्त संकाय सदस्यों को अनुसंधान के अवसर प्रदान करना है। इस योजना के तहत सहायता की राशि 10 लाख रुपए है, जो 200 चयनित उम्मीदवारों को दो साल के कार्यकाल के लिए प्रदान की जाएगी।

'नए नियुक्त संकाय सदस्यों के लिए डॉ, डी.एस. कोठारी अनुसंधान अनुदान' नियमित रूप से, नियुक्त किए गए नए संकाय सदस्यों को अनुसंधान के अवसर प्रदान करेगा। इस योजना के तहत सहायता की राशि 10 लाख रुपये है जो 132 चयनित उम्मीदवारों को दो साल के कार्यकाल के लिए प्रदान की जाएगी।

इसके अलावा 'डॉ. राधाकृष्णन यूजीसी पोस्ट-डॉक्टोरल फेलोशिप' भारतीय विश्वविद्यालयों और संस्थानों में भाषाओं सहित विज्ञान, इंजीनियरिंग और प्रौद्योगिकी, मानविकी और सामाजिक विज्ञान में उन्नत अध्ययन और अनुसंधान करने का अवसर प्रदान करेगा। इस फेलोशिप में 900 सीटें हैं और इनमें से 30% महिला उम्मीदवारों के लिए आरक्षित हैं। चयनित उम्मीदवारों को फेलोशिप के हिस्से के रूप में प्रति माह ₹50,000 और आकस्मिकता के रूप में प्रति वर्ष 50,000 रुपए दिए जाएंगे।

आशा की जाती है कि इन शोध अनुदानों से ऐसे लोगों को लाभ होगा जो अन्यथा चाहकर भी शोध नहीं कर पाते हैं।  

यह भी पढ़ें: मार्केट में उतार-चढ़ाव के दौरान निफ़्टी ५० से बेहतर रिटर्न कैसे पाए?

UGC announced Savitribai Jyotirao Phule Fellowship for the Single Girl Child on Teachers' Day 2022

संवादपत्र