How can you pay by Aadhar Card?

डिजिटल माध्यम से भुगतान करने वालों के लिए PhonePe ने एक नई सुविधा शुरू की है।

क्रेडिट कार्ड नहीं आधार कार्ड

Aadhar card pay: PhonePe द्वारा भुगतान की नई सेवा शुरू की गई है जिसमें आधार कार्ड से ही भुगतान किया जा सकता है। भारत में डिजिटल माध्यम से भुगतान करने वालों की संख्या दिन-प्रति-दिन बढ़ती जा रही है जिसके चलते नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई/NPCI) और रिज़र्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई/RBI), इस दिशा में कई नियमों को आसान बना रहे हैं। इसी ओर कदम था आधार कार्ड पर आधारित आधार बेस्ड यूपीआई (UPI) पेमेंट सेवा की अनुमति देना। आरबीआई और एनपीसीआई द्वारा अनुमति प्राप्त होने के बाद PhonePe ने आधार कार्ड पर ओटीपी सेवा की शुरुआत की है जिसके जरिए आप UPI भुगतान एक्टिवेट कर सकते हैं। 

आधार बेस्ड यूपीआई भुगतान PhonePe पर सबसे पहले 

आरबीआई और एनसीपीआई के नियमों में परिवर्तन के बाद PhonePe आधार बेस्ड यूपीआई सेवा देने वाला पहला प्लेटफॉर्म बन गया है। PhonePe का दावा है कि वह दुनिया में ऐसा पहला प्लेटफार्म है। आने वाला समय मे ऑनलाइन भुगतान करने वालों की संख्या में बढ़ोतरी होने की बहुत संभावना है। इस सुविधा से उन्हें बहुत लाभ हो सकता है। 

मौजूदा स्थिति में यूपीआई के लिए हर एक उपभोक्ता या ग्राहक को उसके उपयोग के लिए यूपीआई रजिस्ट्रेशन करते समय यूपीआई पिन प्राप्त करने के लिए डेबिट कार्ड अनिवार्य था। लेकिन बड़ी संख्या में खाताधारक ऐसे भी हैं जिनके पास डेबिट कार्ड नहीं है। गौरतलब है कि यूपीआई सेवा (UPI सर्विस) से गुप्त दान करने वालों को भी डेबिट कार्ड की आवश्यकता पड़ती थी। लेकिन आधार से जुड़ने के बाद ओटीपी द्वारा सत्यापन होने के बाद अब डेबिट कार्ड की आवश्यकता नहीं रहेगी। 

भारत में अभी भी जनसंख्या का बहुत बड़ा हिस्सा डेबिट कार्ड (Debit Card) का प्रयोग नहीं करता। क्रेडिट डेबिट कार्ड अभी उसकी पहुँच से दूर हैं ऐसे में डिजिटल माध्यम से यूपीआई सेवा द्वारा भुगतान करना उनके लिए संभव नहीं था। आधार बेस्ड यूपीआई सेवा इस दिशा में बहुत ही प्रभावी सिद्ध होगी। 

यह भी पढ़ें: ७ वित्तीय नियम

ग्राहकों को फायदा 

ग्राहकों के लिए फ़ोनपे (PhonePe) की इस नई सेवा के माध्यम से आधार बेस्ड केवायसी (KYC) किया जा सकता है। इसके लिए आधार कार्ड नंबर को 6 अंक फ़ोनपे (PhonePe) एप पर दर्ज करवाने होंगे जिसके बाद ग्राहक को यूआईडीएआई (UIDAI) से ओटीपी मिलेगा। ओटीपी देने के बाद बैंक के सत्यापन या ऑथेंटिफिकेशन की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी। अब ग्राहक यूपीआई (UPI) द्वारा भुगतान करने ओर चेक का प्रयोग के साथ ही अपने खाते की जानकारी भी ले सकेंगे।

यह भी पढ़ें: मार्केट में निफ़्टी ५० से रिटर्न कैसे पाए?

Aadhar Payment System

संवादपत्र

संबंधित लेख