अपने बच्चे की शिक्षा के लिए वित्तीय योजना कैसे बनाएं

एक पुरानी कहावत है: एक आदमी को एक मछली दें उससे आप एक दिन के लिए उसका पेट भर देंगे; पर अगर आप उसे मछली पकड़ना सिखाएं और आप उसे जीवन भर पेट भरने का रास्ता दिखा देंगे ' अपने बच्चों के लिए एक अच्छी शिक्षा दूसरी स्थिति की तरह है।

अपने बच्चे की शिक्षा के लिए वित्तीय योजना कैसे बनाएं

पिछले हफ्ते मेरी पत्नी और मैंने ,अमेरिका के स्टैनफोर्ड बिजनेस स्कूल से सफलतापूर्वक एमबीए की डिग्री हासिल करके लौटी अपनी बेटी की वापसी के जश्न मनाया और रविवार को ब्रंच पे सबको बुलाया । वह जल्द ही एक मार्केटिंग और संचार विशेषज्ञ के रूप में एक बहुराष्ट्रीय कंपनी में काम करने जा रही हैं।

सभी बधाई और प्रशंसा के साथ, मुझे अपने मेहमानों - दोस्तों, परिवार, और पड़ोसियों से बहुत सारे सवाल भी मिले: "आपने इतने प्रतिष्ठित कॉलेज में विदेशी डिग्री लेने के खर्च को कैसे संभाला ?" "कितना शानदार बच्ची है आपकी ! हमें भी कुछ सुझाव दें! ” “आप हमेशा उसे सर्वश्रेष्ठ स्कूलों और कॉलेजों में डालने में कामयाब रहे; आपने आर्थिक रूप से इसकी व्यवस्था कैसे की ? "

मैं अपनी बेटी से कोई श्रेय नहीं छीनना चाहता - उसने बहुत मेहनत की है और हमेशा स्मार्ट और प्रेरित रही है। लेकिन मुझे खुशी और गर्व महसूस होता है कि मैं उसे सभी सही अवसर प्रदान करने में सक्षम रहा। यहाँ बता रहा हूँ कि मैंने यह सुनिश्चित करने के लिए क्या किया कि मैं उसे एक माता-पिता के रूप में सबसे अच्छा भविष्य दे सकूं, और आप भी यह कर सकते हैं:

1. जल्दी शुरुआत करो;जैसे कि अभी ही

मुझे पता है कि आपके बच्चे के जन्म के तुरंत बाद शिक्षा और करियर जैसी चीजों के बारे में सोचना थोड़ा मुश्किल होता है जब वह अभी भी एक छोटा सा बच्चा है जिसे अभी चलना और बात करना सीखना बाकी है। लेकिन इस बात से दुनिया में हर माता-पिता सहमत होंगे, समय बस उड़ता जाता है जब आपके बच्चे बड़े हो रहे होते हैं। दिन लंबे लग सकते हैं, लेकिन साल छोटे। चाहे आपकी पत्नी अभी गर्भवती हुई है, या आपका बच्चा कुछ महीने का है, उसकी शिक्षा के लिए योजना बनाने और बचत करने का सही समय अब ​​है - जिस मिनट आपको यह एहसास हो ।

2. एक योजना बनाएं

पूर्वस्कूली से लेकर विदेश में पोस्ट-ग्रेजुएशन तक, आपको इसके लिए वित्तीय रूप से योजना बनाने की जरूरत है। यह लगभग २४-२६ ​​साल का शैक्षिक परिव्यय है, इसलिए जब आप इन खर्चों को लिखने बैठते हैं, तो यह राशि बहुत बड़ी लग सकती है। यदि आपके एक से अधिक बच्चे हैं, तो यह संख्या दोगुनी या तिगुनी होने वाली है। लेकिन आपको इससे डरने की ज़रूरत नहीं है क्योंकि आपको अभी ही इतना सब इक्कट्ठा नहीं करना है। और आपको इसे अकेले नहीं करना है। अपने साथी और अपने वित्तीय सलाहकार के साथ बैठें, यदि आपके पास कोई है, और एक ठोस योजना बनाएं।

3. मुद्रास्फीति के लिए अच्छी योजना बनाएं

यदि आप अपने दम पर ऐसा कर रहे हैं, तो मुद्रास्फीति को भी ध्यान में रखें । शिक्षा उद्योग में रुझानों को देखते हुए, और यह तथ्य कि यहां मुद्रास्फीति की दर वैश्विक औसत से ऊपर है, यह आंकड़ा लगभग 10-12% होगा। भारत के एक शीर्ष बी-स्कूल से दो साल की एमबीए की डिग्री का खर्च इन दिनों 20 लाख रुपये तक हो सकता है। तो आप सोच सकते हैं कि अब से कुछ दशकों में फीस क्या होगी। महंगाई को नजरअंदाज करने की गलती न करें!

4. आपके द्वारा बचत की जानी वाली राशि को बढ़ाते रहें

आप कब शुरुआत करते हैं और आपकी आय कितनी हैं, इस पर निर्भर करते हुए, आप अपने बच्चे की शिक्षा निधि के लिए हर महीने एक निश्चित राशि का योगदान दे सकते हैं। लेकिन जैसे-जैसे आपकी आय बढ़ती है, कर्ज चुकता जाता है, और अन्य वित्तीय स्थितियां बदल जाती हैं, आपको अपना मासिक योगदान भी बढ़ाते रहना चाहिए। इस कैलकुलेटर का उपयोग करें ताकि आप यह गणना कर सकें कि आपके बच्चे की शिक्षा पर कितना खर्च आएगा। यह एक अच्छी शिक्षा योजना दे सकता है और बाद में आपके बच्चे के भविष्य को सुरक्षित करने के लिए अच्छी निवेश योजना भी ।

5. महंगी कोचिंग कक्षाओं का हिसाब रखें

भारतीय शिक्षा प्रणाली अत्यधिक प्रतिस्पर्धी है। सर्वश्रेष्ठ निजी स्कूलों में प्रवेश करने से लेकर आपके बच्चे के सीए या एमबीए जैसे व्यावसायिक पाठ्यक्रमों को आगे बढ़ाने के लिए एक मजबूत आधार तैयार करने में कोचिंग कक्षाएं एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं। इसके अलावा, किसी भी प्रतिष्ठित स्कूल में जाने के लिए एक प्रवेश परीक्षा होती है। कोचिंग कक्षाएं, इस बात के आधार पर कि वे किसलिए हैं, प्रति वर्ष 1 लाख से 3 लाख के बीच खर्च दे सकती है।

6. अपने बच्चे को अपनी पसंद चुनने दें

एक बार जब आपका बच्चा काफी बड़ा हो जाता है, तो उन्हें अपना निर्णय लेने दें कि वे किस स्ट्रीम को वे चुनना चाहते हैं और किस कैरियर को आगे बढ़ाना चाहते हैं। यदि आप उन्हें वह स्वतंत्रता नहीं देते हैं, तो वे कानून या इंजीनियरिंग जैसी डिग्री के लिए अध्ययन शुरू कर सकते हैं, लेकिन रूचि की कमी के कारण बीच में ही छोड़ देते हैं। यह न केवल आपके बच्चे के मानसिक स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकता है और उनका समय भी बर्बाद कर सकता है, बल्कि आपकी मेहनत की कमाई को भी बर्बाद कर सकता है। दूसरी ओर, यदि वे किसी ऐसी चीज का पीछा करते हैं जो उन्हें पसंद है और जिसमे वे अच्छे हैं, तो वे स्वाभाविक रूप से उस क्षेत्र में अच्छी प्रगति करेंगे।

7. अपने आप को सूचित रखें

आज, अपरंपरागत करियर अक्सर पारंपरिक करियर की तुलना में बेहतर पैसे देते हैं। सोशल मीडिया के प्रभावकार, यू-टूबर, डिजिटल मार्केटर, आदि ऐसे काम हैं जो काफी अच्छे पैसे देते हैं और दिलचस्प भी हैं। अगले कुछ वर्षों में, इस तरह के अपरंपरागत काम और भी आने वाले हैं। सूचित रहने की कोशिश करें और नए विचारों के लिए खुले रहे। इस तरह के कॉलेजों, छात्रवृत्ति, और शैक्षिक मार्गों पर अपने आप को सूचित रखें।

8. उपहारों के बारे में स्पष्ट रहें

शुरुआत से ही,अपनी बेटी के लिए उपहारों के बारे में मैं अपने माता-पिता (और अपनी पत्नी के माता-पिता) के साथ बहुत स्पष्ट था। कभी-कभी खिलौने और कपड़े लाना ठीक हैं, लेकिन जब वे वास्तव में उसे जन्मदिन या स्कूल की उपलब्धि के लिए कुछ उपहार देना चाहते थे, तो मैंने सुझाव दिया कि वे उसकी शिक्षा निधि में राशि का योगदान करें। आपको इस बारे में अपने विस्तारित परिवार के साथ एक ईमानदार बातचीत करनी चाहिए। हर एक छोटा हिस्सा भी मायने रखता है और दूर तक काम आता है।

9. जीवन बीमा करवाएं

आपको जीवन बीमा अवश्य प्राप्त करना चाहिए। हां, यह सबसे खराब स्थिति है, लेकिन जीवन की अनिश्चित प्रकृति को देखते हुए, किसी का भी असामयिक निधन हो सकता है। आपको अपने परिवार के खर्च और देनदारियों, और अपनी संपत्ति और आय का हिसाब लगाने की आवश्यकता है, और तदनुसार अपने परिवार के वित्तीय भविष्य को सुरक्षित करने के लिए एक जीवन बीमा पॉलिसी प्राप्त करें। आपके जीवनसाथी की भी जीवन बीमा पॉलिसी होनी चाहिए।

10. लचीले बनो

जैसे-जैसे साल बीतेंगे और आपका बच्चा बड़ा होगा, आपको अपनी शिक्षा योजना में बदलाव करना पड़ सकता है। शायद वे चिकित्सा में कुछ करना चाहते हो, जो उनके कॉलेज शिक्षा वर्षों को दोगुना कर देगा। या शायद वे एक विदेशी भाषा सीख रहे हो और एक विशिष्ट देश में एक साल बिताना चाहते हो ताकि वह इसे बेधड़क बोल सकें। आपको ऐसी स्थितियों में लचीला होना चाहिए और अपनी वित्तीय योजना को फिर से तैयार करना चाहिए ।

11. अलग पोर्टफोलियो बनाएं

आपके बच्चे के भविष्य के लिए एक अलग निवेश पोर्टफोलियो बनाना सबसे अच्छा है, ताकि आप उन फंड को बेहतर संभाल सकें। यदि आपके दो या दो से अधिक बच्चे हैं, तो उनके सभी शैक्षिक निधियों को मिलाएं ना। आपको विभिन्न शिक्षा खर्चों के लिए अलग-अलग निवेश की सूचियां बनानी चाहिए जो अलग-अलग समय पर आएंगी - अल्पकालिक, मध्यम अवधि और दीर्घकालिक।

12. कम रिटर्न वाले निवेश से बचें

चूंकि आपके बच्चे के शैक्षिक कोष का एक बड़ा हिस्सा कई वर्षों के बाद उपयोग किया जाएगा और यह एक दीर्घकालिक लक्ष्य के होगा,तो इक्विटी के रास्ते जाना सही होगा। न केवल वे उच्च रिटर्न प्रदान करते हैं और कम-रिटर्न निवेश की तुलना में आपको कितना निवेश करना चाहिए,इसके संदर्भ में आपके ऊपर बोझ को कम करता है, साथ ही वे बेहतर मुद्रास्फीति-समायोजित रिटर्न भी देते हैं।

यहां आप निवेश कर सकते हैं:

  • म्यूचुअल फंड - म्यूचुअल फंड इक्विटी-उन्मुख इंस्ट्रूमेंट के लिए एक अच्छा विकल्प है। विविध म्युचुअल फंड योजनाओं का चयन करें और 3 से 4 विभिन्न फंडों के लिए एक व्यवस्थित निवेश योजना (एस.आई.पी.) शुरू करें। सुनिश्चित करें कि आपके पास मिड-कैप और लार्ज-कैप फंड का अच्छा मिश्रण है। एक शैक्षिक लागत को फंड करने की जरूरत पड़ने पर, आप निवेश को जारी रखते हुए यूनिट्स को रिडीम कर सकते हैं। अल्पकालिक जरूरतों के लिए, यदि आपकी वर्तमान आय उन्हें पूरा कर सकती है, तो पहले उसका उपयोग करने का प्रयास करें।
  • चाइल्ड यूलिप - इन दिनों, बहुत सारी बीमा कंपनियां यूनिट-लिंक्ड इंश्योरेंस प्लान (यूलिप) प्रदान करती हैं, जो एक बच्चे की शैक्षिक आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। कुछ एकल प्रीमियम और मुफ्त एसेट आवंटन के साथ आते हैं; ये आपके बच्चे की शिक्षा योजना के निवेश के लिए एक अच्छा ऐड-ऑन विकल्प हो सकते हैं।
  • पीपीएफ - आप अपने नाम से एक सार्वजनिक भविष्य निधि (पी.पी.एफ.) के माध्यम से अपने बच्चे की शिक्षा योजना के लिए निवेश करने पर भी विचार कर सकते हैं। चूंकि यह 15 साल की योजना है, इसलिए यह कॉलेज और उच्च अध्ययन के लिए एकदम सही है। यह आपको कर-मुक्त शिक्षा कोष बनाने में भी मदद करता है। इसके अलावा, निधियों को आंशिक रूप से छह साल बाद निकाला जा सकता है, इसलिए आप जरूरत के आधार पर उनका उपयोग कर सकते हैं। हालांकि, यह नोट करना महत्वपूर्ण है कि पीपीएफ एक ऋण निवेश है,जिसके कारण इससे मुद्रास्फीति-समायोजित रिटर्न कम होगा।

ज्यादा विनम्र हुए बिना, मैं अपने घर के अधिकांश हिस्से का मध्यम-वर्ग के अच्छे रूप में वर्णन कर सकता हूं। इसलिए, अगर मैं सावधानीपूर्वक निवेश कर सकता हूं और अपनी बेटी को उज्ज्वल भविष्य दे सकता हूं, तो आप भी दे सकते हैं । यह रणनीतिक योजना और सुसंगत होने के बारे में है। खुद को अभिभूत न होने दें या दूसरों के कहे अनुसार न चलें। आप अपने बच्चों के लिए सर्वश्रेष्ठ जानते हैं, और एक अच्छी शिक्षा सबसे अच्छी चीज है जो आप उन्हें दे सकते हैं। आपके आज के किये गए निवेश उन्हें भविष्य में अपने लिए एक अच्छा जीवन बनाने में मदद कर सकते हैं।

डिस्क्लेमर : यह लेख केवल सामान्य सूचना उद्देश्यों के लिए है और इसे निवेश या कानूनी सलाह के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए। इन क्षेत्रों में निर्णय लेते समय आपको अलग से स्वतंत्र सलाह लेनी चाहिए।

 

COVID-19

Most Shared