DOP net banking for NSC & KVP: एनएससी और केवीपी खाते खोलने और बंद करने के लिए डीओपी नेट बैंकिंग का उपयोग करें

डीओपी नेट बैंकिंग का उपयोग कर ऑनलाइन एनएससी और केवीपी खाते खोलने और बंद करने की सुविधा

एनएससी और केवीपी खाते कैसे खोलें और बंद करें

DOP net banking to open and close NSC & KVP accounts online: "आजादी के अमृत महोत्सव" के अवसर पर, संचार मंत्रालय के तत्वावधान में डाक विभाग ने, डीओपी ऑनलाइन बैंकिंग के माध्यम से राष्ट्रीय बचत प्रमाण पत्र (एनएससी) और किसान विकास पत्र (केवीपी) के लिए ऑनलाइन खाता पंजीकरण करने और बंद करने की सुविधा आरंभ की है।  

अब डीओपी इंटरनेट बैंकिंग के 'सामान्य सेवा' खंड के तहत राष्ट्रीय बचत प्रमाण पत्र और किसान विकास पत्र के लिए यह सुविधा होगी, जिससे आप घर बैठे आराम से एनएससी और केवीपी खाते ऑनलाइन खोल और बंद कर सकते हैं। अब इसके लिए नजदीकी डाकघर तक जाने  की ज़रूरत नहीं होगी। 

यह भी पढ़ें: ७ सुनहरे वित्तीय नियम

ऑनलाइन एनएससी / केवीपी खाता खोलने और बंद करने का तरीका

अगर आप ऑनलाइन एनएससी या केवीपी खाता खोलना चाहते हैं तो आपको नीचे लिखे इन सात चरणों को पूरा करना होगा- 

1. डीओपी इंटरनेट बैंकिंग में लॉग इन करें

2. 'सामान्य सेवाएं' अनुभाग के अंतर्गत, 'सेवा अनुरोध' पर क्लिक करें और 'नए अनुरोध' विकल्प को चुनें।

3. अब एनएससी खाता खोलने के लिए 'एनएससी खाता में- एक एनएससी खाता खोलें ' और केवीपी खाता खोलने के लिए 'केवीपी खाता में- एक केवीपी खाता खोलें' में से किसी एक विकल्प को चुनें।

4. इसके बाद एनएससी या केवीपी के लिए जमा कराई जाने वाली न्यूनतम राशि दर्ज करें और डाकघर बचत खाते से जुड़े अपने डेबिट खाते का चयन करें।

5. नियम और शर्तों को पढ़ने और स्वीकार करने के लिए 'यहां क्लिक करें' पर क्लिक करें और फिर अपना आवेदन ऑनलाइन जमा करें।

6. आपके खाते से जमा की जानेवाली राशि कटाने के लिए ट्रांजेक्शन पासवर्ड दर्ज करें, इसके बाद ‘जमा करें’ पर क्लिक करें और जमा की गई रसीद देखें। आप इस रसीद को डाउनलोड कर सकते हैं।

7. एक बार लॉग आउट कर फिर से लॉग इन करें और खोले गए एनएससी खाते का विवरण देखने के लिए "खाता" अनुभाग में जाएं। डीओपी ऑनलाइन बैंकिंग उपयोगकर्ता के नाम पर एनएससी खाते के लिए भी उससे लिंक किए गए डाकघर बचत खाते में निर्दिष्ट नामित व्यक्ति के नाम का ही उपयोग किया जाएगा।

अगर आप अपने एनएससी या केवीपी खाते को ऑनलाइन बंद करना चाहते हैं तो आपको नीचे चरणों का अनुपालन करना होगा- 

1. डीओपी इंटरनेट बैंकिंग में लॉग इन करें। 

2. 'सामान्य सेवाएं' अनुभाग के अंतर्गत, 'सेवा अनुरोध' पर क्लिक करें और 'नए अनुरोध' विकल्प का चयन करें।

3. अब 'एनएससी खाता बंद करें (एनएससी के लिए)' और 'केवीपी खाता बंद करें (केवीपी के लिए)' में से किसी एक विकल्प पर क्लिक करें।

4. अब आप जिसे बंद करने जा रहे हैं, उस जमा खाते को एनएससी या केवीपी खाते के रूप में चुनें।

5. अपने खाते से जुड़े उस डाकघर बचत खाते का चयन करें जिसमें रकम जमा की जाएगी और 'ऑनलाइन जमा करें' पर क्लिक करें।

6. इसके बाद ट्रांजेक्शन पासवर्ड दर्ज करें, आवेदन जमा करें और प्रक्रिया के सफलता पूर्वक पूरी होने के बाद बंद करने की रसीद को देखें या डाउनलोड करें।

डीओपी द्वारा 18 अगस्त को जारी की गई आधिकारिक अधिसूचना के अनुसार, इन बातों पर विशेष ध्यान देना आवश्यक है:

1. खाता बंद करने के बाद लॉग आउट करें और बंद किए गए एनएससी खाते का विवरण देखने के लिए फिर से लॉग इन करें। 

2. इस विकल्प के तहत 01.07.2015 को या उसके बाद खरीदे गए (पासबुक के रूप में) एनएससी/केवीपी खाते को बंद किया जा सकता है।

3. 01.07.2016 से पहले बचत प्रमाण पत्र के रूप में जारी एनएससी/केवीपी को बंद कराने के लिए संबंधित डाकघर में जाना होगा।

4. इंटरनेट बैंकिंग उपयोगकर्ता को अनुरोध जमा करने से पहले क्लोजर स्क्रीन में परिपक्वता यानी मैच्योरिटी की तारीख और परिपक्वता राशि की जांच कर लेनी चाहिए। केवीपी के मामले में, यदि बंद कराने की तारीख परिपक्वता तिथि से पहले की है, तो खाते को समयपूर्व बंद कराया गया माना जाएगा और उस पर योजना के नियम के अनुसार लाभ मिलेगा।

ज्ञात हो कि 1 जुलाई से 30 सितंबर तक की, वित्तीय वर्ष 2022-23 की दूसरी तिमाही के लिए, विभिन्न लघु-बचत योजनाओं पर ब्याज दरें पहले के समान हैं। इस समय, 5 वर्षीय राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र (एनएससी) पर 6.8% वार्षिक ब्याज मिलता है और यह परिपक्वता पर देय होता हैं। न्यूनतम राशि 1000 रुपए है और 100 के गुणकों में राशि जमा कराई जा सकती है। एनएससी खाता खोलने के लिए राशि पर कोई अधिकतम सीमा नहीं है। हालांकि किसान विकास पत्र (केवीपी) पर दी जाने वाली ब्याज की दर, 6.9% वार्षिक चक्रवृद्धि ब्याज रहेगी। केवीपी खाता खोलने की न्यूनतम राशि 1000 रुपए है और 100 के गुणकों में राशि जमा कराई जा सकती है। केवीपी के लिए अधिकतम राशि की कोई सीमा नहीं है। 

यह भी पढ़ें: मार्केट में उतार-चढ़ाव के दौरान निफ़्टी ५० से बेहतर रिटर्न कैसे पाए?

कहाँ निवेश करें NSC या KVP?

M Stock

संवादपत्र

संबंधित लेख