Investment Tips: Not getting profit despite investment, are you also making these mistakes in hindi

अपने इनवेस्टमेंट में बढ़िया रिटर्न चाहते हैं तो इन पांच गलतियों से बचे। इससे पोर्टफोलियो तो वीक होता ही है साथ ही मन मुताबिक रिटर्न भी नहीं मिलता।

Investment Tips

Investment Tips: अक्सर लोगों की ये शिकायत रहती है कि वो जितना निवेश करते हैं उसके मुकाबले उन्हें रिटर्न उतने अच्छे नहीं मिलते। या यूं कहें कि निवेश को अच्छा खासा करते हैं लेकिन रिटर्न ऊंट के मुंह में जीरे के समान होती है। कई बार समझ ही नहीं आता कि हम हमारे पोर्टफोलियों में कहां कमी छोड़ देते हैं कि हमें हमारे मन मुताबिक रिटर्न नहीं मिलता। आज इस आर्टिकल मे हम आपको बताने जा रहे हैं उन पांच गलतियों के बारे में जो अक्सर निवेशक करते हैं जिससे उनका पोर्टफोलियो वीक हो जाता है और उन्हें मन मुताबिक रिटर्न नहीं मिलता।

प्रॉफिट बुकिंग से ना चूकें

कई बार मुनाफा हमारे सामने होता है लेकिन हम उसे देख नहीं पाते। इसकी सबसे बड़ी वजह होती है समय। लोग अपने पोर्टफोलियो को टाइम टू टाइम चेक ही नहीं करते जिससे कई बार मुनाफा उनके सामने से निकल जाता है। दूसरी बात कई बार हम ज्यादा प्रॉफिट के लालच में आकर अपना स्टॉक नहीं बेचते। हमें ये लगता कि ये अभी और बढ़ेगा। आपको दिमाग में ये बात साफ होनी चाहिए कि आपने वो स्टॉक किस स्तर पर बेच देना है। दूसरी बात मार्केट के सेंटीमेंट पर नजर रखना बहुत जरूरी है। अगर बाजार कमजोर है तो अपने स्टॉक को निकाल देना समझदारी है। 

रिटर्न से ज्यादा सरकार को ना देना पड़ जाए इनकम टैक्स?

निवेश करते समय अक्सर निवेशक ये गलती करते हैं। हमें रिटर्न तो दिखता है लेकिन हमें ये नहीं दिखता कि उसके रिटर्न पर टैक्स कितना है। लोग ये देखते ही नहीं कि निवेश राशि पर ब्याज कितना है और मेच्योरिटी पर टैक्स देनदारी कितनी है। निवेश करते हुए इस बात का खास ध्यान रखें कि मैच्योरिटी पर टैक्स की देनदारी कम हो।

पर्याप्त लिक्विडिटी रखें

अक्सर लोग अच्छे निवेश के चलते एक बड़ी भूल ये करते हैं कि लोग लिक्विडिटी का ध्यान नहीं रखते। आपको हमेंशा ध्यान रखना चाहिए कि इमरजेंसी कभी भी आ सकती है। ऐसे में आपकी लिक्विड मनी ही काम आएगी इसलिए निवेश करते हुए लिक्विडिटी का पूरा ख्याल रखना चाहिए।

ना लें ज्यादा रिस्क

कई बार लोग ज्यादा रिटर्न के चलते जरूरत से ज्यादा निवेश कर देते हैं। लेकिन ये बाजार है जहां रिटर्न की कोई गारंटी नहीं है। आपका पैसा डूब भी सकता है इसलिए निवेश उतना ही करें जितना आप बर्दाश्त कर सकते हैं।

 

संवादपत्र

संबंधित लेख