कौन से निवेश विकल्प महिलाओं के लिए एक नियमित आय बना सकते हैं?

उन निवेश विकल्पों पर एक नज़र डालें जिन्हे एक महिला अपने लिए नियमित आय का स्रोत ढूंढ़ते समय चुन सकती है।

कौन से निवेश विकल्प महिलाओं के लिए एक नियमित आय बना सकते हैं?

भारतीय महिलाएं निवेश के फैसले लेने और निवेश करने में पुरुषों से पीछे रहती हैं। हाल ही में आठ प्रमुख भारतीय शहरों में हुए एक सर्वेक्षण में पता चला है कि तीन में से केवल एक महिला स्वतंत्र रूप से निवेश के फैसले लेती है। जो वास्तव में निवेश करती हैं, उन महिलाओं में से सिर्फ 42% ने कभी किसी पेशेवर वित्तीय सलाहकार से परामर्श किया ।

नियमित आय एक महत्वपूर्ण कारक है जिसपे निवेश निर्णय निर्भर है। यहाँ कुछ निवेश विकल्प दिए गए हैं जो उन महिलाओं के लिए आदर्श माने गए हैं जो अपने लिए एक नियमित आय सुनिश्चित करना चाहती हैं।

बैंक फिक्स्ड डिपॉजिट (एफ. डी.) सुरक्षा के मद्देनजर निवेश के सबसे अच्छे विकल्पों में से हैं। ब्याज दर हर बैंक में भिन्न होती है, लेकिन औसतन यह लगभग 7% है। कुछ अवसर पर यह 9% से अधिक भी हो सकता है। निजी और सार्वजनिक,दोनों क्षेत्र के बैंक अपने ग्राहकों को एफडी योजनाएं प्रदान करते हैं; ये योजनाएँ अलग-अलग अवधि और ब्याज दरें प्रदान करती हैं। एक गैर-संचयी फिक्स्ड डिपॉजिट के साथ, आप मासिक, त्रैमासिक, अर्ध-वार्षिक या वार्षिक आधार पर ब्याज भुगतान का आनंद ले सकते हैं। गृहिणियां और पेशेवर महिलाएं सुनिश्चित और उच्च रिटर्न की गारंटी के लिए एफ.डी. में निवेश करती हैं।

कॉरपोरेट डिपॉजिट ,बैंक एफ.डी. के समान हैं, लेकिन वे एफ.डी. से भी अधिक रिटर्न ला सकते हैं। ये गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (एन.बी.एफ.सी.) और हाउसिंग फाइनेंस कंपनियों द्वारा पेश किए जाते हैं। जबकि इनमें से अधिकांश योजनाएं, निवेश पर त्रैमासिक या अर्ध-वार्षिक रिटर्न देते हैं, पर आप चार महीने में से किसी भी माह में रिटर्न प्राप्त करने का विकल्प चुन सकते है। इन डिपॉज़िट का चयन करते समय, आपको कंपनी की विश्वसनीयता और उनकी क्रेडिट रेटिंग को जांचना चाहिए । जैसा कि पहले उल्लेख किया गया है, इन डिपॉजिट के रिटर्न दर आमतौर पर फिक्स्ड डिपॉजिट से प्राप्त दर से अधिक होते हैं,जो प्रतिवर्ष 10-11% की लाभदायक दर होती है |

लंबी अवधि के सरकारी बॉन्ड एक और कम जोखिम वाले निवेश विकल्प हैं जिसके माध्यम से आप छमाही या सालाना ब्याज आय प्राप्त कर सकते हैं। हालांकि ये बॉन्ड आपके निवेश को लंबे समय तक बंधन में रख सकते हैं, लेकिन यह तथ्य कि वे द्वितीयक बाजार में कारोबार कर सकते हैं,उन्हें जरूरत के समय में तरल बनाते हैं। वर्तमान में, 10 साल के सरकारी बॉन्ड में 6.44% की प्राप्ति है।

डाकघर की आय योजना भारत में सबसे लोकप्रिय और विश्वसनीय निवेश विकल्पों में से एक है। महिलाओं में, यह गृहणियों और छोटे उद्यमियों के बीच समान रूप से लोकप्रिय है। जोखिम तत्व न बराबर है और यह आय के एक नियमित और वैकल्पिक स्रोत का वादा करता है। वर्तमान में, मासिक आय योजना 7.6% की ब्याज दर प्रदान करती है, जो मासिक आधार पर देय होती है। आप अपने व्यक्तिगत खाते में 4.5 लाख रुपये तक का निवेश कर सकते हैं और 1000 रुपये के गुणकों में जमा कर सकते हैं।

यद्यपि नए बजट में ,प्राप्तकर्ता की ओर इक्विटी शेयर पर लाभांश को कर योग्य बनाया गया है, फिर भी इक्विटी शेयर निवेशक के लिए अच्छा रिटर्न पेश करते हैं। एक निवेशक के रूप में, यह सलाह दी जाती है कि आप शेयरों में अपने निवेश का एक हिस्सा अलग रखें। यह आपके निवेश का वह हिस्सा है जो बाजार के जोखिम में रहेगा, लेकिन यह आपको विकास के लाभों को प्राप्त करने में मदद कर सकता है। शेयरों में एक अच्छी तरह से विश्लेषण किया गया निवेश अच्छा रिटर्न दे सकता है। कंपनी के निर्णय के आधार पर लाभांश का भुगतान मासिक, त्रैमासिक, अर्ध-वार्षिक या वार्षिक रूप से किया जा सकता है। रिटर्न स्वयं पूरी तरह से कंपनी के प्रदर्शन और शेयरों पर बाजार के प्रभाव पर निर्भर है। बेशक, अगर आपके लिए नियमित रूप से बाजार का अध्ययन करना और अपने शेयर पोर्टफोलियो की निगरानी करना संभव नहीं है, तो यह सलाह दी जाती है कि आप विश्वसनीय कंपनियों में एक दीर्घकालिक होल्डिंग योजना पर निवेश करें।

वार्षिकी योजना वेतनमान व्यक्तियों के लिए सबसे अच्छे निवेश विकल्पों में से एक है। एक कामकाजी महिला के रूप में, आपको एक नियमित आय स्रोत के रूप में वार्षिकी योजना में निवेश करना चाहिए, विशेष रूप से आपके सेवानिवृत्ति के बाद के जीवन के लिए। अधिकांश भारतीय बीमा कंपनियां अपने वार्षिकी योजना उत्पादों के माध्यम से न्यूनतम जोखिम के साथ एक स्थिर आय प्रदान करती हैं। तत्काल वार्षिकी योजनाओं में, आप एकमुश्त निवेश करने के तुरंत बाद अपना रिटर्न प्राप्त करना शुरू कर देते हैं। स्थगित वार्षिकी योजनाओं में, रिटर्न एक विशेष अवधि के बाद आने लगते हैं, और आप इसे अपनी सेवानिवृत्ति के साथ संरेखित कर सकते हैं। चूंकि ये योजनाएं ब्याज के अलावा जीवन कवर लाभ प्रदान करती हैं, इसलिए प्राप्ति आमतौर पर कम होती है। उदाहरण के लिए, एल.आई.सी. की तत्काल वार्षिकी योजना जीवन अक्षय, 3% प्रदान करती है।

म्युचुअल फंड एक बहुत ही सुविधाजनक निवेश विकल्प है क्योंकि यह अनुकूलन है और किसी भी व्यक्ति के जोखिम और रिवॉर्ड की उम्मीदों को पूरा कर सकता है। यदि आप एक कामकाजी महिला हैं, जो बढ़ती आर्थिक विकास से चूकना नहीं चाहती हैं, फिर भी आपके पास शेयरों में व्यापार करने का समय या विशेषज्ञता नहीं है, तो बाजार में संचालित म्यूचुअल फंड आपके लिए आदर्श है।म्यूचुअल फंड इक्विटी-समर्थित, ऋण-समर्थित या दोनों का मिश्रण हो सकता है। यदि आप एक गृहिणी हैं जो बहुत अधिक जोखिम के बिना एक नियमित आय चाहते हैं, तो एक डेब्ट म्यूचुअल फंड पर विचार करें। एक व्यवस्थित निवेश योजना (एस.आई.पी.) के साथ, आप योजना की अवधि के लिए मासिक रिटर्न कमा सकती हैं। रिटर्न अलग-अलग होते हैं, लेकिन आमतौर पर 10% प्रति वर्ष न्यूनतम माना जाता है। इसी तरह, एक व्यवस्थित निकासी योजना (एस.डब्ल्यू.पी.) एक नियमित आय स्रोत हो सकती है। एस.डब्ल्यू.पी. के साथ आप नियमित अंतराल पर अपने म्यूचुअल फंड निवेश से एक विशिष्ट राशि निकाल सकते हैं।

रियल एस्टेट एक महंगा निवेश विकल्प है, लेकिन गृह वित्त की आसान उपलब्धता से यह सस्ती हो जाती है। महिलाओं के लिए वित्त की लागत सस्ती है, और चुकौती की शर्तें भी बहुत लचीली होती हैं। एक संपत्ति अपने आप में दीर्घकालिक मूल्य एप्प्रेसिअशन के अलावा कोई अन्य आय अर्जित नहीं करता है, लेकिन एक अच्छी-खासी किराये की आय अर्जित करके आप वास्तव में अपने अचल संपत्ति निवेश से लाभ उठा सकते हैं।

आखरी शब्द

ये निवेश विकल्प विभिन्न प्राप्ति दरों और जोखिम के विभिन्न स्तरों की पेशकश करते हैं। अपनी निवेश प्रोफ़ाइल की योजना बनाते समय, आपको प्रत्येक उत्पाद से जुड़े जोखिम और रिवॉर्ड पर विचार करना चाहिए। आपको यह भी पता लगाना चाहिए कि क्या यह निवेश आपकी आय की उम्मीदों को पूरा करता है या नहीं। एक वित्तीय विशेषज्ञ से सलाह लेने से आपको निवेश को अधिक दक्ष बनाने में मदद मिलेगा - और उम्मीद है की ऐसा बार-बार होगा ।

डिस्क्लेमर : यह लेख केवल सामान्य सूचना उद्देश्यों के लिए है और इसे निवेश या कर या कानूनी सलाह के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए। इन क्षेत्रों में निर्णय लेते समय आपको स्वतंत्र सलाह लेनी चाहिए।

 

COVID-19

Most Shared