क्रेडिट कार्ड लिए बिना ही अच्छे क्रेडिट स्कोर के लिए 5 शीर्ष सुझाव

ऋणदाता आपके पिछले क्रेडिट कार्ड ऋण बकाया के समय पर पुनःभुगतान के इतिहास जैसे किसी ठोस ट्रैक रिकॉर्ड के बिना, आपकी ऋणपात्रता या आपके ऋण चुकाने की क्षमता का सही आंकलन नहीं कर सकते हैं |

क्रेडिट कार्ड लिए बिना ही अच्छे क्रेडिट स्कोर के लिए 5 शीर्ष सुझाव

यदि आप वेतन कटौती के कारण एक बुरे समय से गुज़र रहे हैं ,तो इससे बाहर निकलने के लिए ऋण लेना ही एकमात्र रास्ता हो सकता है | विकल्पों की कोई कमी नहीं है, आपकी हर ज़रूरत के लिए ऋणदाता, ऋण की हर मुमकिन श्रेणी प्रदान करते हैं - पे-डे ऋण से लेकर , मौजूदा ऋण पर टॉप अप,क्रेडिट कार्ड पर कैश एडवांस से लेकर सामान्य व्यक्तिगत,गृह और कार ऋण | केवल एकमात्र ज़रूरत है : 700 या उससे अधिक क्रेडिट स्कोर |

इसमें कोई हैरानी की बात नहीं है कि महामारी के कारण हुए लॉकडाउन के बाद से ज्यादा भारतीय अपने क्रेडिट स्कोर पर नज़र रख रहे हैं | लोन एग्रीगेटर(समूहक) ,बैंकबाजार और क्रेडिट सुचना कंपनी,एक्सपेरियन द्वारा जारी किये गए एक डाटा में बताया गया है कि जून 2020 में क्रेडिट रिपोर्ट के निवेदनों में 25% वृद्धि हुई है |

क्रेडिट स्कोर क्यों मायने रखता है

बैंकों द्वारा क्रेडिट के जोखिम आंकलन में कड़ाई करने से , कोरोना के बाद की अर्थव्यवस्था में अच्छा क्रेडिट स्कोर होना बहुत अनिवार्य है | यदि आपके पास आपके नाम पर ऋण या क्रेडिट कार्ड नहीं है, तो आप बैंकों के लिए उतने ही क्रेडिट जोखिम के पात्र हो जितना कि वह व्यक्ति जिसने अपने क्रेडिट कार्ड के भुगतान या ऋण के इ.एम.आई. चुकाने में देरी की हो | ऐसा इसलिए है क्यूंकि ऋणदाता के पास कोई ठोस ट्रैक रिकॉर्ड न होने के कारण वे आपकी ऋणपात्रता या ऋण चुकाने की क्षमता का आंकलन नहीं कर पाते हैं | आइये कुछ मुख्य कारकों पर नज़र डालते हैं जो आपके क्रेडिट स्कोर को प्रभावित कर सकती है:

  • क्रेडिट मिश्रण : बैंक उन आवेदकों को ज्यादा महत्त्व देता है जिनके पास सुरक्षित और असुरक्षित ऋण का मिश्रण हो | एक सुरक्षित ऋण,जो कार या संपत्ति की खरीद के लिए फाइनेंस कराने हेतु ली जाती है, उसमे फाइनेंस किये गए एसेट को कोलैटरल के रूप में गिरवी रखा जाता है जिससे की ऋणदाता के जोखिम का स्तर कम हो जाता है | इस कारण से,सुरक्षित ऋण पर बैंकों द्वारा कम ब्याज दरें एवं लम्बी अवधि दी जाती है | और दूसरी तरफ, असुरक्षित ऋण,जैसे कि क्रेडिट कार्ड या व्यक्तिगत ऋण ,लघुकालिक ऋण होते हैं जो विवेकाधीन खर्चों के लिए होते हैं,और इसलिए इनकी ब्याज दरें बहुत ज्यादा होती हैं और तुलनात्मक रूप से, पुनर्भुगतान अवधि कम होती है | एक ऋणदाता के दृष्टिकोण से एक ऐसा क्रेडिट रिपोर्ट जिसमे सुरक्षित और असुरक्षित,दोनों प्रकार के ऋण हैं, ऋण आवेदक के लिए वित्तीय परिपक्वता का सबूत होता है |
  • क्रेडिट उपयोग अनुपात: खर्चें आसमान छू रहे हैं और आय स्थिर हो गई है,जिससे लोगों के लिए क्रेडिट में सामान खरीदने की लालसा को काबू कर पाना मुश्किल हो गया है | हालंकि, इसे किफायती रूप से यदि किया जाये तो यह आपके क्रेडिट स्कोर बनाने में आपकी मदद कर सकता है | आप अपने क्रेडिट सीमा के सापेक्ष में जितने क्रेडिट का उपयोग करते हैं ,वह ऋणदाताओं को यह पुनः सुनिश्चित कराता है कि आप समय पर ऋण चुकाएंगे और भविष्य में भी अपनी सीमा के अंदर ही खर्च करेंगे | 30% का क्रेडिट उपयोग अनुपात ,वह स्कोर है जो आपके अच्छे क्रेडिट स्कोर के लिए आपको चाहिए होगा |
  • भुगतान इतिहास: केवल एक ही इ.एम.आई. के चूक के कारण 36 महीनो तक आपके क्रेडिट स्कोर पर असर पड़ सकता है | यह आपके क्रेडिट रिपोर्ट पर हमेशा दिखाई देगा| समय पर भुगतान करना,आपके वित्तीय सेहत के लिए बेहद ज़रूरी है क्यूंकि ऋणदाता इसे वित्तीय स्थिरता का सबसे बड़ा सूचक मानते हैं | अगस्त 2020 में जो लोन अधिस्थगन (मोरेटोरियम) समाप्त हुआ,वह इतिहास में एकमात्र समय था जब क्रेडिट सुचना कंपनियों को विशेष रूप से कहा गया था कि वे ऋण और क्रेडिट कार्ड पर लंबित भुगतान को रिपोर्ट में न डालें | एक सकारात्मक भुगतान रिकॉर्ड आपको कम ब्याज दर पर क्रेडिट पाने में मदद कर सकता है ,जबकि यदि आपके क्रेडिट इतिहास में कोई भुगतान में चूक हुई हो तो ऋणदाता फाइनेंस करने से पहले किसी कोलैटरल की मांग कर सकते हैं |
  • क्रेडिट इतिहास की अवधि: यदि आप कई वर्षों तक किसी एक ऋणदाता से कोई क्रेडिट कार्ड लेकर उपयोग करने के बाद किसी दूसरे ऋणदाता के नए क्रेडिट कार्ड का उपयोग करते हैं तो आपका क्रेडिट स्कोर गिर सकता है | ऋणदाता आपकी ऋणपात्रता का आंकलन करते वक़्त क्रेडिट इतिहास में दूर तक छानबीन करते हैं | पुराने क्रेडिट कार्ड खाते को बंद करने से आपके क्रेडिट की उम्र कम हो सकती है और कुछ हद तक आपके क्रेडिट स्कोर को भी कम कर सकती है |

कैसे आप क्रेडिट कार्ड के बिना अपना क्रेडिट स्कोर बना सकते हैं ?

एक क्रेडिट कार्ड आपके अच्छे क्रेडिट इतिहास के निर्माण के लिए बहुत शानदार तरीका है ,खासकर यदि आप युवा हो | आपको बस हर 6 महीने में एक बार अपने कार्ड का इस्तेमाल करना और बैलेंस राशि का भुगतान करना होगा | हालांकि, कई लोग केवल आपातकाल में ही क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करना पसंद करते हैं | वे अपने दैनिक खरीददारी के लिए डेबिट कार्ड पर निर्भर रहना पसंद करते हैं जबकि अपने दीर्घकालिक ज़रूरतों को पूरा करने के लिए व्यक्तिगत,कार और गृह ऋण का लाभ उठाते हैं | जैसा कि हमने पहले भी देखा था , यह क्रेडिट मिश्रण के रूप में एक नुकसान है | हालांकि, आप बिना क्रेडिट कार्ड लिए ,कुछ तरीकों से अपना क्रेडिट स्कोर बना सकते हैं | आइये देखते हैं कि वे क्या हैं |

  • समय पर भुगतान करना जारी रखें: यह बहुत आसान काम है | चाहे क्रेडिट किसी भी प्रकार का हो, एक विश्वसनीय क्रेडिट स्कोर के निर्माण एवं उसे बरकरार रखने के लिए नियमित भुगतान बहुत ज़रूरी है | किस्मत से, नेटबैंकिंग और मोबाइल बैंकिंग ने इ.एम.आई. भुगतानों पर नज़र रखना पहले से आसान कर दिया है और अब आसानी से यह सुनिश्चित किया जा सकता है कि आपके बैंक खातों में पर्याप्त पैसे हो| प्रत्यक्ष डेबिट सेट कर देने से आपके द्वारा भुगतान की चूक की गुंजाईश नहीं रहती | एक अच्छे क्रेडिट स्कोर बनाने का कायदा यह है कि आप ज़रूरत से ज्यादा ही भुगतान करें | उदाहरण के लिए, आप हर वेतन वृद्धि में अपने इ.एम.आई. में 5% अतिरिक्त बढ़ा कर भुगतान कर सकते हैं| यह आपके ब्याज के बोझ को भी कम करेगा |
  • किसी और के क्रेडिट कार्ड में खुद का नाम जुड़वाएं : अपने क्रेडिट स्कोर को अच्छा करने के लिए आप अपने किसी नज़दीकी रिश्तेदार की सहायता ले सकते हैं | उनके क्रेडिट कार्ड में आपका नाम ,अधिकृत उपयोगकर्ता के नाम पर जुड़ जाने से आपके क्रेडिट स्कोर में अतिरिक्त पॉइंट मिल सकता है,बशर्ते कि प्रारम्भिक उपयोगकर्ता का भुगतान इतिहास अच्छा हो | आपको बेवजह अपने लिए एक कार्ड मंगाने की ज़रूरत नहीं है या उसे व्यक्तिगत रूप से उपयोग करने की भी ज़रूरत नहीं है | उसे केवल ज़रूरत के लिए एक अतिरिक्त कार्ड समझें |
  • कई ऋण या कार्ड के लिए आवेदन करने से बचें : कई ऋणदाताओं से कम समय में क्रेडिट सम्बंधित की गई पूछताछ से आपका क्रेडिट स्कोर प्रभावित हो सकता है | यह क्रेडिट एजेंसियों को यह दर्शाता है कि आप वित्तीय संकट में हैं और इससे आपका क्रेडिट स्कोर गिर सकता है |
  • संभव त्रुटियों के लिए अपना क्रेडिट रिपोर्ट जांचें: नियमित अंतराल में अपने क्रेडिट रिपोर्ट की जांच करें | इससे आपको आपकी ऋणपात्रता पर असर पड़ने से पहले ,संभावित गलतियों को जांचने और सिबिल के साथ कोई विवाद सुलझाने में मदद मिल सकती है| सामान्य उदाहरण में शामिल है - एक गलत लिखा हुआ नाम या गलत पैन नंबर ,या फिर गलत ऋण निपटान स्थिति | आपके फाइल में पाए गए किसी भी त्रुटि को सुधारने के लिए ,आपको जल्द से जल्द सिबिल में संपर्क करना चाहिए और रिपोर्ट में लिखी 9-अंक की पहचान संख्या डालते हुए विवाद निपटान का फॉर्म भरना चाहिए |
  • पुराने क्रेडिट कार्ड मत बंद करें: जैसा कि हमने पहले भी देखा ,पुराने या उपयोग में न आने वाले क्रेडिट कार्ड को बंद करने से आपकी ज़रूरी क्रेडिट इतिहास ख़त्म हो सकती है | बदले में, इससे,ऋणदाता आपकी जोखिम पात्रता भी नहीं समझ पाएंगे | इसलिए, यदि आप इनका उपयोग नहीं भी कर रहे हो तो भी इन खातों को खुला रखें | उन्हें एक अतिरिक्त कार्ड की तरह समझें जिसे आप केवल आपातकाल में इस्तेमाल कर सकते हैं |

अंतिम पंक्तियाँ

यदि आपके पास क्रेडिट कार्ड नहीं है ,तो ऋणदाता आपके प्रोफाइल को एक तरफा मान सकते हैं | हालांकि, अपने क्रेडिट स्कोर पर नज़र रखते हुए, किसी दूसरे व्यक्ति के क्रेडिट कार्ड खाते से अधिकृत उपयोगकर्ता की तरह साइन अप करके,और लगातार इ.एम.आई. भुगतान करके ,आप अपना कार्ड लिए बिना ही ,कुछ समय में अच्छा क्रेडिट स्कोर बना सकते हैं | 




संबंधित लेख