क्यों हर महिला के पास खुद की आपातकालीन फण्ड होने की आवश्यकता है , यह यहाँ दिया गया है |

एक जॉब छोड़ना, एक हादसा या तलाक के कारण - कारण बहुत हैं जिससे महिलाओ को आपातकालीन फण्ड की आवश्यकता हो सकती है |

Reasons why every women should have their own emergency fund

याद है कैसे आपकी दादी माँ हमेशा एक डब्बे में या उनकी अल्मारी में कुछ पैसे छुपाकर रखती थी? अंदाज़ा नहीं था कि वह मुश्किल के वक़्त के लिए बचत कर रही है ।

 अधिकतर महिलाएँ, ख़ासतौर पर गृहिणियाँ, वित्तीय योजना के लिए परिवार के अन्य सदस्य पर निर्भर होती है। इसलिए,वे अपने लिए कभी भी एक आपातकालीन फंड के बारे में नहीं सोचती है। दूसरी तरफ़,एक कामकाजी महिला निवेश के निर्णयो के लिए,बीमा योजना चुनने के लिए, अपने बच्चों की शिक्षा के लिए बचत के लिए ज़्यादा सक्रिय होती है ,परंतु आपातकालीन फंड को प्राथमिकता के रूप में नहीं मानती है।

 यह एक बहुत बड़ी गलती साबित हो सकती है। यहाँ कुछ ज़रूरी कारण दिए गए हैं कि जिस कारण महिलाओं को ख़ुद के लिए आपातकालीन फंड बनाने की ज़रूरत है:

 नौकरी मे सुरक्षा:

 आप शायद बर्खास्तगी के बारे में कम से कम एक समाचार पढ़ते होंगे। आज के ज़माने में, और आपका काम कितना भी बड़ा हो या कितना भी आकर्षक आपकी वेतन हो, एक चीज़ जो आपके पास नहीं है वह है नौकरी की सुरक्षा । हमेशा यह संभावना बनी रहती है की आप या आपके परिवार के सदस्य को बिना पूर्व सूचना के नौकरी छोड़नी पड़े। अगर आपकी स्थिति दैनिक कमा के खाने की है,तो यह परिस्थिति आप के जहाज़ को डुबा सकती है। इसलिए अपने खर्चों को संतुलित रखना बेहद ज़रूरी है और अपने पैसे का एक हिस्सा आपातकालीन फंड के लिए भी रखें।
 
 प्राथमिकताओं और ज़िम्मेदारियों में परिवर्तन

 आप परिवार के किसी बीमार सदस्य की देखभाल के लिए या अपने बच्चों की देख रेख के लिए भी जॉब छोड़ने का निर्णय ले सकते हैं। इन परिस्थिति में,आपकी वित्तीय स्थिति बहुत नाज़ुक हो सकती है। अगर आपके पास आपातकालीन फंड है, तो यह केवल आपके तुरंत के वित्तीय ज़रूरतों को ही नहीं अपितु अपने वित्तीय रणनीतियों पर पुनर्विचार करने के लिए भी समय देता है।

 जीवन एक चिकित्सक आपातकाल के रूप में आपको झटका दे सकती है,जब आप इसकी कम से कम उम्मीद कर रही हो। हालाँकि आप सोच रहे होंगे कि एक चिकित्सक बीमा इसके लिए पर्याप्त है,परंतु कुछ चिकित्सक प्रक्रियाएं इन पॉलिसियों द्वारा कवर नहीं की जाती है। एक आपातकालीन फंड ऐसे समय में आपकी मदद कर सकता है।
 
 ऋण भुगतान

 एक आपातकाल मे आमतौर पर ज़्यादा राशि की ज़रूरत होती है। और अचानक से नक़दी प्रवाह के बंद होने पर आपकी वित्तीय स्थिति गड़बड़ हो सकती है और आपकी ऋण भुगतान पर असर डाल सकती है। ऐसी स्थितियों में,आप अपने आपातकालीन फंड की तरफ़ झुकाव कर सकते हैं ताकि आप अपने नियमित भुगतान कर सकें। यह आपको अच्छे क्रेडिट स्कोर पाने में भी मदद कर सकता है।
 
 निवेश बरकरार रखे

 आपके पास कई वित्तीय लक्ष्य होंगे जो आप जल्द से जल्द हासिल करना चाहते होंगे एक संपत्ति ख़रीदना- ,एक वाहन ख़रीदना,या छुट्टियों पर जाना इत्यादी। हालाँकि, एक वित्तीय आपात स्थिति किसी भी समय आ सकती है।ये आपातकाल आपके निवेशों पर निशान छोड़ सकते हैं। परंतु,एक आपातकालीन फंड आपको ऐसे आपातकाल को संभालने और अपने निवेश को जारी रखने देता है।

 वित्तीय निर्भरता

 तलाक़ में किसी को भी वित्तीय रूप से तैयार होने की ज़रूरत होती है। अगर आप गृहिणी हैं और आपके पास कोई बचत या आपातकालीन फंड नहीं है ,तो यह तलाक़ आपके लिए अत्याधिक तनावपूर्ण हो सकता है भावनात्मक एवं वित्तीय रूप - से| अगर आप कामकाजी महिला हैं , तो आपको उन सारे वित्तीय लक्ष्यों को पाने के लिए पैसे की ज़रूरत होगी जिसे आपने अपने साथी के साथ मिलकर पाने की योजना की थी। एक आपातकालीन फंड आपको वित्तीय रूप से सुरक्षित रखता है  जब तक की आप ख़ुद को ना खींचे।
 चाहे आप विवाहित हो या अविवाहित ,कामकाजी हो या गृहिणी,हर महिला को स्वयं के लिए एक आपातकालीन फंड बनाने की ज़रूरत है जैसे की एक आपातकालीन फंड संकट के समय मे आपका अच्छा मित्र साबित हो सकता है।

 एक भरोसेमंद आपातकालीन फंड बनाने में आपकी मदद करने के लिए यहाँ कुछ युक्तियाँ दी गई है।

निचली सीमा निर्धारित करें-
निर्णय लीजिए कि कितना पैसा आपके आपातकालीन फंड में होना चाहिए।

कम से शुरुआत करें- 
छोटी राशि से बचत करने की शुरुआत करें और फिर धीरे धीरे इसे बढ़ाएं।

खर्चों को कम करें- 
ऐसे खर्चों को ढूँढिए जिन्हें आप टाल सकते हैं।

अपने आपातकालीन फंड को ठीक से संभाले-
अपने जोखिम क्षमता अनुसार और रिटर्न की उम्मीद अनुसार,आप फिक्स्ड डिपॉज़िट,बचत खाता, स्वर्ण, म्यूचुअल फंड्स में चयन कर सकते हैं।

बेकार के ख़र्चे न करें-
ऐसे चीज़ों पर ख़र्च करने की इच्छा को रोके जो ज़रूरी नहीं है जैसे की छुट्टी मनाना ,ख़रीदारी करना इत्यादी।

संबंधित लेख