लम्बे समय की बेरोजगारी से कैसे निपटें

चल रही महामारी के दौरान, आपके कैरियर बहुत निचे गिर गया होगा, लेकिन अच्छी बात यह है कि यहां से जाने का केवल एक ही रास्ता है - ऊपर । यहां कुछ चीजें हैं जो आपको वहां पहुंचने में मदद कर सकती हैं।

लम्बे समय की बेरोजगारी से कैसे निपटें

कोविड-19 के आँकड़े अच्छे नहीं हैं, और हम आंकड़ों में केवल पॉजिटिव मामलों और मौतों की संख्या का उल्लेख नहीं कर रहे हैं; हम बेरोजगारी संख्या के बारे में भी बात कर रहे हैं। पिछले कुछ महीनों में, जब से महामारी शुरू हुई है, भारत में लगभग 4.1 मिलियन युवाओं ने अपनी नौकरी खो दी है और वर्तमान में दीर्घकालिक बेरोजगारी का सामना कर रहे हैं। यदि आप भी उनमें से एक हैं, तो आश्वस्त रहें कि यह आपकी क्षमताओं या कौशल की कमी के कारण नहीं है, बल्कि दुनिया भर में चल रही मंदी के कारण है जिसने ऐसी स्थिति को जन्म दिया है।

फिर भी, यह स्वाभाविक है यदि आप नौकरी ढूंढ़ने की प्रक्रिया से निराश हैं और अपने वित्त की चिंता करना शुरू कर चुके है। सामान्य परिस्थितियों में भी नौकरी पाना आसान नहीं है, लेकिन अब यह पूरी तरह से एक नया संघर्ष है। जब यह सब मार्च में शुरू हुआ, तो अनिश्चितता चिंताजनक थी। अब, चीजें थोड़ी बेहतर होने लगी हैं। आपको अपने आप को 'न्यू नार्मल' में उन्मुख करने के लिए कुछ समय मिला है और अब आप स्वीकार कर पा रहे हैं कि यह बाहरी कारक है और इस पर आपका नियंत्रण बहुत कम है।

हालांकि, आप कुछ कदम उठा सकते हैं जो आपको स्थिति को बेहतर ढंग से संभालने में मदद करेंगे। यहां बताया गया है कि आप बिना परेशानी के बेरोजगारी से कैसे निपट सकते हैं।

1. अपने खर्चों में कटौती करें

आप शायद पहले से ही ऐसा कर रहे होंगे , लेकिन अब आपको अपने खर्चों को कम करने और अपने बजट को फिर से बनाने के लिए गंभीर तरीकों पर विचार करना होगा। यदि आप घर से दूर रह रहे हैं और आपके पास अपने माता-पिता के पास अस्थायी रूप से वापस जाने का विकल्प है, तो आपको यह करना चाहिए। शुरुआत में, चीजें कब सामान्य हो जाए और आपकी नौकरी छूटने का डर, आपको यह करने से रोक रहा होगा। लेकिन अब, बेरोजगारों के लिए किराए और उपयोगिताओं के खर्च को वहन करना वास्तव में विवेकपूर्ण नहीं है।

2. नौकरी-ढूंढ़ने के लिए एक निश्चित समय निर्धारित करें

अगर आप उठते ही सबसे पहले अपने लैपटॉप चलाते हैं और दिन भर की जॉब पोस्टिंग ब्राउज़ करते हैं, तो आपको इसे रोकने की जरूरत है। यह जुनूनी और निरंतर प्रक्रिया, वास्तव में प्रतिकूल साबित हो सकती है। उदाहरण के लिए, यदि आपने आज दस नौकरियों के लिए आवेदन किया है, जिसकी आपको कोई परवाह नहीं है, तो जब आप अंततः उस ग्यारहवीं नौकरी की ओर जाते हैं, जिसे आप वास्तव में प्राप्त करना चाहते हैं, तो आप मानसिक रूप से थक चुके होते हैं और अपनी क्षमता के अनुसार आवेदन प्रक्रिया पूरी नहीं कर पाते । इसलिए, अपनी नौकरी की खोज के लिए प्रत्येक दिन एक विशिष्ट समय निर्धारित करें और इसे एक या दो घंटे तक सीमित करें। यह आपको अस्तित्व संबंधी चिंता से निकलने में भी मदद करेगा।

3. इस बात से सावधान रहें कि आप किससे जुड़ते हैं

जब आप कुछ समय के लिए बेरोजगार हो जाते हैं, तो आपके आत्मविश्वास का गिर जाना स्वाभाविक है। ऐसी स्थिति में, उन लोगों के साथ बातचीत करना जो आपको और बुरा महसूस कराते हैं, आपके मानसिक स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं है। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि जिन लोगों के साथ आप बातचीत कर रहे हैं वे कार्यरत हैं या नहीं - वे बस ऐसे लोग नहीं होने चाहिए जो आपका मनोबल गिरते हो। अब, पहले से कहीं अधिक, 'केवल पॉजिटिव वाइब्स ’ ही एक अच्छा मंत्र है जिसका आपको सामाजिक दायरे में पहले से ज्यादा पालन करना है। लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि आप लोगों के साथ बातचीत करना पूरी तरह से बंद कर दें; आपको स्वस्थ सामाजिक संपर्क की आवश्यकता है ताकि आप ज़मीन पर टिके रहें और जीवन के साथ तालमेल बिठा सकें।

4. अपने व्यक्तिगत लक्ष्यों को न भूलें

हां, आपकी नौकरी आपके जीवन का एक प्रमुख हिस्सा है, लेकिन यह एकमात्र महत्वपूर्ण हिस्सा नहीं है। हालांकि, जब लंबे समय तक आप बेरोजगार रहते हैं, तो आप के लिए निराशा महसूस करना स्वाभाविक है, आपको अपनी ऊर्जा को अपने व्यक्तिगत लक्ष्यों पर निर्देशित करना चाहिए। उदाहरण के लिए, जब साल शुरू हुआ था तब हो सकता है कि आपने एक स्वास्थ्य लक्ष्य निर्धारित किया होगा , जैसे कि दैनिक व्यायाम करना, या एक रचनात्मक लक्ष्य, जैसे कि उपन्यास लिखना। इन लक्ष्यों से मत हटें । वे आपके लिए सुखप्रद साबित होंगे और हो सकता है कि मुश्किल समय में ये आपको नौकरी की तलाश में जाने के लिए भी प्रेरित करें।

5. कुछ नया करने के लिए तैयार रहें

यह हो सकता है कि आप जिस उद्योग में थे,, जैसे पर्यटन या आतिथ्य, वह विशेष रूप से महामारी की चपेट में आ चूका हो । अस्थायी रूप से, आपको ऐसे कैरियर के अवसरों के लिए खुला होना चाहिए जो आपकी पिछली नौकरी से अलग हो। उदाहरण के लिए, यदि आप एक ट्रैवल कंपनी में मार्केटर थे, तो आप अन्य उद्योगों में एक मार्केटिंग संबंधित भूमिका की तलाश कर सकते थे। या यदि आपने एक विदेशी भाषा को एक शौक के रूप में सीखा है, मान लो ,जर्मन या जापानी, तो आप एक ग्लोबल कंपनी में अनुवादक बन सकते हैं, या छात्रों के लिए ऑनलाइन क्लास ले सकते हैं।

6.अतीत की गलतियों से सबक लें ,पर उन्हें न दोहराएं

अपनी पिछली नौकरी में आपकी पसंद और नापसंद की चीजों के बारे में सोचना,आपकी अगली नौकरी में मददगार साबित हो सकता है। आपके लिए क्या अच्छा है, और आपका करियर आगे किस दिशा में बढ़ रहा है,यह जानने की कोशिश करते हुए आत्मनिरीक्षण करना अच्छा होगा । यह बात बहुत अच्छी है कि आपके पास इन चीजों का पता लगाने का समय है। लेकिन ऐसा ज्यादा न करें क्यूंकि अपनी लंबी अवधि की बेरोजगारी को देखते हुए आप इस मनोस्थिति में नहीं होंगे।

अंत में, अपने आप को उन चीजों से वंचित नहीं करना आवश्यक है जिसमे आपको आनंद मिलता है। आपको यह नहीं सोचना चाहिए कि क्योंकि आप बेरोजगार हैं, आप मज़े करने या खुश रहने के लायक नहीं हैं। जब आप एक नई नौकरी ढूंढ़ने या आय का एक अस्थायी स्रोत खोजने पर ध्यान केंद्रित कर रहे हो, तो भी आपको अपने आप को याद दिलाना चाहिए कि आपको अपने रोजगार की स्थिति के बावजूद आराम करने और खुश रहने का हक़ है। इसलिए, अपने आप पर बहुत अधिक कठोर होने की कोशिश न करें।

संबंधित लेख