लॉकडाउन के दौरान घर से काम करते वक़्त प्रेरित रहने के लिए 10 टिप्स

कोरोनावायरस लॉकडाउन लॉकडाउन के दौरान घर से ऑफिस का काम नहीं कर पाने से आप अपने समय का उपयोग कैसे करते हैं, इसके कुछ फायदे एवं नुकसान हो सकते है।

लॉकडाउन के दौरान घर से काम करते वक़्त प्रेरित रहने के लिए 10 टिप्स

लोग कोरोनोवायरस महामारी के दौरान घर से काम करने के फायदे और नुकसानों के बारे में बताही रहते हैं। लेकिन अगर आपके पास घर से काम करने का विकल्प नहीं है, तो इसके अपने फायदे और नुकसान हो सकते हैं। फायदे में कोई काम का तनाव नहीं होना , घर के कामों पर ध्यान केंद्रित कर पाना, आराम करने के लिए अधिक समय मिलना, आदि हैं । दूसरी तरफ, मुख्य नुकसान कम या कोई आय नहीं होना है।

यह सब कहने के बाद, अब इन अतिरिक्त समय को फायदे और नुकसान,दोनों के रूप में देखा जा सकता है। प्रारंभ में, आपने इतने खाली समय का खूब आनंद लिया होगा, लेकिन अब जब दो महीने बीत चुके हैं, तो अब यह समय तनाव की तरह महसूस होना शुरू हो सकता है। यह सब कब समाप्त होगा, इसका कोई उत्तर नहीं होने के कारण, सब कुछ निराशाजनक लग सकता है और आपके दिन उदासीनता और बोरियत लग सकती है। लेकिन इसके बावजूद आपके लिए प्रेरित रहना आवश्यक है।

यहां कुछ सुझाव दिए गए हैं जिससे आप अपने समय को पुनर्केंद्रित करने और अपनी ऊर्जा को उत्पादक और सकारात्मक दिशा में ले जा सकते हैं ।

1. निर्देशित कसरत सत्र करें

लॉकडाउन के कारण रोज़ दिनभर घर पर रहने से हमारी पहले से चल रही सुस्त जीवन शैली और भी बिगड़ गई है। कसरत करना जरूरी है, लेकिन सामान्य परिस्थितियों में भी कसरत करने की प्रेरणा पाना कठिन है, लॉकडाउन के दौरान यह सब मन पर निर्भर करता है। निर्देशित कसरत सत्र एक तरह से इस समय में वरदान सामान हो सकता है। चाहे वह डांस सेशन हो या कार्डियो, दोनों के लिए कई वर्कआउट और फिटनेस ऐप हैं, जो लाइव और प्री-रिकॉर्डेड वर्कआउट सेशन की सुविधा देते हैं। उनमें से बहुत सारे (जैसे नाइक ट्रेनिंग क्लब) बिल्कुल मुफ्त हैं।

2. खाना पकाने का मज़ा लें

जब आपके पास समय, स्थान और धैर्य हो, तब आप महसूस करेंगे कि खाना बनाना एक आनंदमय कार्य है और एक प्रकार की थेरेपी समान भी है। हालांकि अगर आपने कभी भी मैगी के अलावा कुछ नहीं बनाया हो, तो भी आप अपने पसंदीदा व्यंजनों की रेसिपी ऑनलाइन देख सकते हैं और बस ,शुरुआत कर सकते हैं। वीडियो रेसिपीज ज्यादा अच्छे साबित हो सकते हैं - क्यूंकि इससे आप सभी विधियों और सामग्रियों को स्पष्ट रूप से देख सकते हैं और उनका अनुसरण कर सकते हैं, जिससे आपके अच्छे परिणाम प्राप्त करने की संभावना बढ़ जाती है। अच्छा संगीत चलाइये,अपने लिए एक ड्रिंक बनाइये, और कुकिंग को एक सुकून भरा और मजेदार अनुभव बनाइये। सोशल मीडिया पर अपने डिश की कलात्मक तरीके से क्लिक की गई तस्वीरों को डालना न भूलें!

3. ध्यान और सचेतन का अभ्यास करें

लोग आजकल ध्यान और सचेतन के बारे में बात करते रहते हैं, और यह एक ट्रेंड ही बन गया है - की आप अपने जीवन को बेहतर बनाने में कितने शक्तिशाली और प्रभावी है। ऐसे समय पर, ध्यान वास्तव में आपके लिए मददगार साबित हो सकता है। कम से कम पांच मिनट के ध्यान से शुरुआत करें। हेडस्पेस जैसे ऐप आपकी ध्यान-समाधि की यात्रा में आपका मार्गदर्शन करते हैं और आरंभ करने के लिए बहुत अच्छे विकल्प हैं। सचेतन, जीवन का एक तरीका है, और इसमें आपके दिमाग को प्रशिक्षित करने की प्रक्रिया शामिल है। आपको किसी पहाड़ पर जाने या ऑनलाइन योग कक्षाओं के लिए साइन अप करने की आवश्यकता नहीं है। इसके लिए आसान चीज़ों को करके आप शुरुआत कर सकते हैं जैसे कि मल्टीटास्किंग करना छोड़े, भोजन करते समय अपने फोन को दूर रखें, बातचीत करते समय पूरे मन और ध्यान से सुनें और अब और वर्त्तमान क्षण में अपने मन को रखें |

4. चिंता स्थगन करने की तकनीक लागू करें

हर कोई कोरोनावायरस महामारी के बारे में चिंता कर रहा है, लेकिन चूंकि आपके पास बहुत खाली समय है, इसलिए आपके लिए ज्यादा चिंता करना स्वाभाविक होगा। कहा जाता है कि खाली दिमाग शैतान का घर होता है। इसलिए, खाना पकाने, वर्कआउट करने आदि में खुद को सकारात्मक रूप से व्यस्त रखने के अलावा, आप चिंता और तनाव को दूर करने के लिए चिंता स्थगन की तकनीक का उपयोग करके देख सकते हैं। यह सब कुछ स्वीकार करके भी ,दिनभर आपके ज़हन में नकारात्मक विचार उत्पन्न होने से रोकने का यह एक स्वस्थ तरीका है । चिंता के लिए एक विशिष्ट अवधि निर्धारित करें, मान लें ,हर शाम 15 मिनट, और केवल उस अवधि के दौरान चिंताजनक विचारों में लिप्त रहें। यदि आप किसी अन्य समय में खुद को चिंतित पाते हैं, तो बस अपने आप को याद दिलाएं कि आपने चिंता के लिए बाद की अवधि निर्धारित की है।

5. भविष्य के लिए एक सूची बनाएं

यदि आप अपनी नौकरी खो चुके हैं या अवैतनिक छुट्टी पर हैं, तो कुछ अच्छा उम्मीद करना मुश्किल हो सकता है। महामारी के बारे में बहुत अनिश्चितता है और कोई भी नहीं बता सकता कि यह कब समाप्त होगा। एक बात तो निश्चित है - जीवन तो जारी रहेगा ही भले ही यह 'नए सामान्य' तरीके से हो। इसलिए, भविष्य के लिए सूची बनाने का प्रयास करें। ये सूची दो प्रकार की हो सकती है। पहला, काम से संबंधित सूचियाँ - जिन कार्यस्थलों पर आप आवेदन देना चाहते हैं, वे भूमिकाएँ जिन्हें आप कार्यस्थल पर निभाना चाहते हैं, आदि। दूसरा, मनोरंजन सम्बंधित सूचियाँ - लॉकडाउन खत्म होने पर जिन चीज़ों को आप खरीदना चाहते हैं,जिन रेस्तरां पर जाना चाहते हैं , जिन दोस्तों से मिलेंगे, आदि।

6. ऑनलाइन कोर्स के लिए साइन अप करें

यदि आप घबरा रहे हैं कि आप घर पर रहकर पिछड़ जा रहे हैं क्यूंकि घर पर बैठकर आप कोई काम नहीं कर रहे हैं या कुछ उत्पादक नहीं कर रहे हैं, तो आप ऑनलाइन कोर्स के लिए साइन अप कर सकते हैं। कौरसेरा, उडेमी, एड-एक्स और भी अन्य प्लेटफॉर्म विभिन्न विषयों पर सैकड़ों मुफ्त पाठ्यक्रम प्रदान करते हैं। ये पाठ्यक्रम प्रतिष्ठित विश्वविद्यालयों द्वारा पेश किए जाते हैं, और आप इसके सभी कंटेंट मुफ्त में उपयोग कर सकते हैं। जब आपको एक प्रमाणपत्र चाहिए हो और एक ग्रेडेड परीक्षा देना हो तभी आपको भुगतान करने की आवश्यकता होती है। यह उन विषयों को पढ़ने का एक शानदार अवसर है, जो आपने कॉलेज में नहीं पढ़े थे, लेकिन आपकी उनमे हमेशा रूचि रही थी जैसे कि कला, दर्शन, तंत्रिका विज्ञान, आदि । आप शेक्सपियर के नाटकों, रोमन वास्तुकला, आदि जैसे प्रमुख रुचियों में भी लिप्त हो सकते हैं।

7. समुदाय में योगदान दें

यह इतिहास में पहली बार हो रहा है कि शायद दुनिया में हर कोई - देश, उम्र, या समुदाय के निरपेक्ष - एक संकट भरे दौर से गुजर रहा है। ऐसे समय में, यह अच्छा होगा यदि आप समुदाय में किसी भी तरह से कुछ योगदान कर सकते हैं और इन मुश्किल वक़्त को वंचितों के लिए थोड़ा बेहतर बना सकते हैं। बेशक , संगठनों में दान करना एक अच्छा तरीका है, लेकिन इसके लिए कई अन्य तरीके भी हैं। उदाहरण के लिए, यदि आप एक मनोवैज्ञानिक हैं, तो आप थेरेपी सत्रों को ऑनलाइन सब्सिडी दरों पर लोगो को उपलब्ध करा सकते हैं। यदि आप एक ब्लॉगर या यूट्यूबर जैसे कंटेंट क्रिएटर हैं, तो आप लोगों के मनोरंजन के लिए और अधिक कंटेंट बना कर डाल सकते हैं। यदि आपको किसी क्षेत्र में विशेष ज्ञान प्राप्त है जैसे कि मार्केटिंग, अर्थशास्त्र, बेकिंग, आदि, तो आप मामूली शुल्क लेकर ऑनलाइन कार्यशालाओं का संचालन कर सकते हैं।

8. पुराने शौक में डूबे रहे

पढ़ने, पेंटिंग, बेकिंग, गायन, और वीडियो गेम खेलने जैसे शौक में डूबे रहना आपको आपकी सामान्य व्यस्त दिनचर्या में मामूली या समय की बर्बादी लग सकती थी। लेकिन अब, उन्हें वापस शुरू करने का यह सही मौका है - और वो भी बिना किसी अपराधबोध के! उदाहरण के लिए, हम में से कई लोग ऐसा अक्सर कहते हैं कि हम फिर से एक बच्चे की तरह जीना चाहते हैं। ऐसा इसलिए हो सकता है कि क्योंकि बचपन एक ऐसा समय था जब हम अपनी ख़ुशी के लिए सब कुछ करते थे ,बिना ये सोचे कि यह हमारे लिए उत्पादक है या नहीं। लॉकडाउन फिर से इस तरह कि ख़ुशी के अनुभव करने का सुनहरा मौका है।

9. अपने निवेश की समीक्षा करें

बजट न बनाने का या उस पर टिके न रह पाने का सबसे आम बहाना लोगों के पास यह होता है कि उनके पास अभी समय नहीं है। परन्तु अभी बिलकुल सही समय है! कोरोनावायरस महामारी में , आपकी वित्तीय स्थिति भी बदल चुकी होगी - आपकी आय कम हो गई होगी और वही आपके खर्चें भी कम हो गए होंगे। उनकी समीक्षा करें और अगले कुछ महीनों के लिए वित्तीय योजना बनाएं। यह आपके निवेश की समीक्षा करने का भी एक अच्छा समय है। सुनिश्चित करें कि आपके पास पर्याप्त तरल निधि मौजूद हो , और यदि आप निवेश करना भी चाहते हैं, तो डिजिटल स्वर्ण में निवेश करने के विकल्प पर विचार करें। नए ऋण लेने से दूर रहना और अपने विवेकाधीन खर्चों पर अंकुश लगाना समझदारी होगी ।

10. एक दिनचर्या बनाए रखें

ऑफिस नहीं जाना और पूरा दिन अकेले रहना आपको परेशान कर सकता है। चूँकि अब आपको कोई शेड्यूल नहीं बनाए रखना है, आपके लिए कोई काम की समय सीमा नहीं है, या कोई कॉल लेना ज़रूरी नहीं है, तो संभावना है कि आपका नींद का समय गड़बड़ हो गया हो और आपके दिन एक दूसरे में विलय होने लगे हो। ऊपर बताई गई बातों को करने का सबसे अच्छा तरीका है कि आप पहले एकदिनचर्या निर्धारित करें। चाहे रोजाना वर्कआउट करना हो या अपने शौक के काम करना हो, आप ऐसा तभी कर पाएंगे जब आप मानसिक रूप से तैयार हों और आपने इसके लिए समय तय किया हो| जब आपके पास कुछ और करने को न हो ,तो लगातार शो देखना और सोशल मीडिया में दिनभर स्क्रॉल करना आसान है। इसलिए, बैठें और कुछ चीजों की सूची बनाएं जिन्हें आप रोज़ करना चाहते हैं, और फिर उन्हें करें। इससे आप खुश और उत्पादक और कम बोरियत महसूस करेंगे।

आखरी शब्द

अंत में, यह याद रखना आवश्यक है कि हर किसी के जीवन जीने का तरीका बहुत अलग है। इसलिए, हालांकि कुछ लोग उत्साही परियोजनाओं को पूरा कर रहे हो जैसे कि एक किताब लिखना या वजन कम करना या लॉकडाउन के दौरान हर एक मिनट में उत्पादक होना, पर आपको भी वैसा ही करने की ज़रूरत नहीं है। आपको बस वही करना है जो आपके मानसिक, शारीरिक और वित्तीय स्वास्थ्य के लिए सबसे अच्छा है और इस वैश्विक स्वास्थ्य संकट से सुरक्षित और सावधानी से निकलना है।

डिस्क्लेमर : यह लेख केवल सामान्य सूचना उद्देश्यों के लिए है और इसे निवेश या कानूनी सलाह के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए। इन क्षेत्रों में निर्णय लेते समय आपको स्वतंत्र सलाह लेनी चाहिए।




संबंधित लेख