Get up to 34 lakhs on maturity by saving only Rs 50 per day: रोज केवल 50 रुपए बचा कर, मैच्योरिटी पर 34 लाख तक पाएं

पोस्ट ऑफिस के होल लाइफ एश्योरेंस प्लान में रोज 50 रुपए जमा कर 34 लाख तक पा सकते हैं।

पोस्ट ऑफिस के इस प्लान में रोज बचाएं

Post office plan: भारत में अधिकतर लोग अपने निवेश पर सुरक्षित और गारंटी युक्त लाभ पाना चाहते हैं। इसी वजह से पोस्ट ऑफिस की विभिन्न योजनाओं  में निवेश करना पसंद करते हैं। पोस्ट ऑफिस की “होल लाइफ एश्योरेंस” एक ऐसी ही योजना है जिसमें आप नियमित रूप से रोज 50 रुपए की बचत कर मैच्योरिटी पर 34 लाख रुपए तक पा सकते हैं।

होल लाइफ एश्योरेंस प्लान में 10 हजार से लेकर 10 लाख रुपए तक का निवेश किया जा सकता है। इस योजना में निवेश के लिए अपकी उम्र कम से कम 19 साल और अधिक से अधिक 55 साल तक होनी चाहिए, यानी कि 19 से 55 साल के बीच का कोई भी व्यक्ति इस योजना में अपना बीमा करा सकता है। इस योजना में आपको कम से कम 50 रुपए रोज जमा करा सकते हैं। 
सुरक्षित और निश्चित लाभ के लिए पोस्ट पोस्ट के इंश्योरेंस प्लान में निवेश करना सबसे अच्छा है क्योंकि इस निवेश पर जोखिम नहीं होता है। हमारे देश में अब भी बीमा न करने वाले लोगों की संख्या बहुत अधिक है। खासकर ग्रामीण अंचलों में रहनेवाले लोगों के बीमा या निवेश का औसत शहरी क्षेत्र के लोगों की अपेक्षा बहुत ही कम है।

इस बात को ध्यान में रखकर पोस्ट ऑफिस ने रूरल पोस्टल लाइफ इंश्योरेंस योजनाएं आरंभ कीं। 24 मार्च 1995 को आरंभ की गई इन योजनाओं का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण अंचलों के लोगों को बीमा कराने के लिए प्रोत्साहित करना है। तो आइए इन रूरल पोस्टल लाइफ इंश्योरेंस योजनाओं में से एक एक योजना “होल लाइफ एश्योरेंस” के बारे में जानते हैं।

यह भी पढ़ें: ७ वित्तीय नियम

80 साल की उम्र तक जारी रहेगा बीमा

पोस्ट ऑफिस ने 1995 में रूरल पोस्टल लाइफ इंश्योरेंस योजना के अंतर्गत 6 योजनाएँ आरंभ की थीं। होल लाइफ एश्योरेंस प्लान को ग्राम सुरक्षा योजना भी कहा जाता है। इस योजना में निवेश करने वाला व्यक्ति 80 साल का होने तक व्यक्तिगत रूप से बीमित रहता है। अगर वह 80 साल के बाद भी जीवित रहता है, तो उसे मैच्योरिटी की रकम मिलेगी और अगर 80 साल की उम्र से पहले निवेश करने वाले व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है, तो बीमे की रकं उसके द्वारा नामित व्यक्ति को मिलेगी।
इस योजना में कम से कम 10,000 और अधिक से अधिक 10,00,000 रुपए तक का बीमा कराया जा सकता है। योजना में निवेश करने के 4 साल के बाद अगर आप चाहें तो आपको लोन की भी सुविधा मिलती है। 

इसके अलावा अगर आप इस प्लान के मैच्योर होने से पहले ही इसे बंद कर अपनी जमा की गई रकम निकालना चाहते हैं, तो आप पॉलिसी खरीदने के तीन साल के बाद आप उसे सरेंडर कर सकते हैं। पर 5 साल के पहले पॉलिसी बंद करने पर आपको बोनस का लाभ नहीं मिलेगा।

विस्तारित गणना 

इस योजना में केवल 50 रुपए रोज के हिसाब से जमा करने होंगे। मान लीजिए आप पोस्ट ऑफिस की इस योजना में 20 साल की उम्र में बीमा कराते हैं, तो 50 साल की मैच्योरिटी के लिए आपको हर महीने प्रीमियम के रूप में 1666 रुपए और जीएसटी देना होगा, जबकि 55 साल तक देना हो तो केवल 1515 रुपए देने होंगे। इसी तरह, 58 साल के लिए 1436 रुपए और 60 साल में मैच्योरिटी होने पर हर महीने 1388 रुपए का प्रीमियम भरना होगा। अगर 20 साल का कोई पॉलिसी धारक 60 साल की उम्र में मैच्योरिटी चाहता है, तो उसे अगले 40 साल तक 1388 रुपए मासिक प्रीमियम देना होगा, जो रोज के 50 रुपए से भी कम होता है।

इस समय इस योजना में प्रति 1,000 की बीमित राशि पर पोस्ट ऑफिस द्वारा 60 रुपए का वार्षिक बोनस दिया जा रहा है। इस तरह 10 लाख की बीमित राशि पर वार्षिक बोनस के 60 हजार रुपए जमा होंगे। अगले 40 वर्ष तक 60 हजार रुपए प्रति वर्ष के हिसाब से करीब 24 लाख रुपए का वार्षिक बोनस जमा होगा। योजना के मैच्योर होने पर निवेश करने वाले व्यक्ति को 24 लाख रुपए का बोनस और 10 लाख रुपए की बीमित यानी कुल 34 लाख रुपए मिलेंगे। इस तरह यह निवेशक के लिए काफी लाभदायक योजना साबित होगी।

यह भी पढ़ें: मार्केट में निफ़्टी ५० से रिटर्न कैसे पाए?

Post office plan: भारत में अधिकतर लोग अपने निवेश पर सुरक्षित और गारंटी युक्त लाभ पाना चाहते हैं। इसी वजह से पोस्ट ऑफिस की विभिन्न योजनाओं  में निवेश करना पसंद करते हैं। पोस्ट ऑफिस की “होल लाइफ एश्योरेंस” एक ऐसी ही योजना है जिसमें आप नियमित रूप से रोज 50 रुपए की बचत कर मैच्योरिटी पर 34 लाख रुपए तक पा सकते हैं।

होल लाइफ एश्योरेंस प्लान में 10 हजार से लेकर 10 लाख रुपए तक का निवेश किया जा सकता है। इस योजना में निवेश के लिए अपकी उम्र कम से कम 19 साल और अधिक से अधिक 55 साल तक होनी चाहिए, यानी कि 19 से 55 साल के बीच का कोई भी व्यक्ति इस योजना में अपना बीमा करा सकता है। इस योजना में आपको कम से कम 50 रुपए रोज जमा करा सकते हैं। 
सुरक्षित और निश्चित लाभ के लिए पोस्ट पोस्ट के इंश्योरेंस प्लान में निवेश करना सबसे अच्छा है क्योंकि इस निवेश पर जोखिम नहीं होता है। हमारे देश में अब भी बीमा न करने वाले लोगों की संख्या बहुत अधिक है। खासकर ग्रामीण अंचलों में रहनेवाले लोगों के बीमा या निवेश का औसत शहरी क्षेत्र के लोगों की अपेक्षा बहुत ही कम है।

इस बात को ध्यान में रखकर पोस्ट ऑफिस ने रूरल पोस्टल लाइफ इंश्योरेंस योजनाएं आरंभ कीं। 24 मार्च 1995 को आरंभ की गई इन योजनाओं का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण अंचलों के लोगों को बीमा कराने के लिए प्रोत्साहित करना है। तो आइए इन रूरल पोस्टल लाइफ इंश्योरेंस योजनाओं में से एक एक योजना “होल लाइफ एश्योरेंस” के बारे में जानते हैं।

यह भी पढ़ें: ७ वित्तीय नियम

80 साल की उम्र तक जारी रहेगा बीमा

पोस्ट ऑफिस ने 1995 में रूरल पोस्टल लाइफ इंश्योरेंस योजना के अंतर्गत 6 योजनाएँ आरंभ की थीं। होल लाइफ एश्योरेंस प्लान को ग्राम सुरक्षा योजना भी कहा जाता है। इस योजना में निवेश करने वाला व्यक्ति 80 साल का होने तक व्यक्तिगत रूप से बीमित रहता है। अगर वह 80 साल के बाद भी जीवित रहता है, तो उसे मैच्योरिटी की रकम मिलेगी और अगर 80 साल की उम्र से पहले निवेश करने वाले व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है, तो बीमे की रकं उसके द्वारा नामित व्यक्ति को मिलेगी।
इस योजना में कम से कम 10,000 और अधिक से अधिक 10,00,000 रुपए तक का बीमा कराया जा सकता है। योजना में निवेश करने के 4 साल के बाद अगर आप चाहें तो आपको लोन की भी सुविधा मिलती है। 

इसके अलावा अगर आप इस प्लान के मैच्योर होने से पहले ही इसे बंद कर अपनी जमा की गई रकम निकालना चाहते हैं, तो आप पॉलिसी खरीदने के तीन साल के बाद आप उसे सरेंडर कर सकते हैं। पर 5 साल के पहले पॉलिसी बंद करने पर आपको बोनस का लाभ नहीं मिलेगा।

विस्तारित गणना 

इस योजना में केवल 50 रुपए रोज के हिसाब से जमा करने होंगे। मान लीजिए आप पोस्ट ऑफिस की इस योजना में 20 साल की उम्र में बीमा कराते हैं, तो 50 साल की मैच्योरिटी के लिए आपको हर महीने प्रीमियम के रूप में 1666 रुपए और जीएसटी देना होगा, जबकि 55 साल तक देना हो तो केवल 1515 रुपए देने होंगे। इसी तरह, 58 साल के लिए 1436 रुपए और 60 साल में मैच्योरिटी होने पर हर महीने 1388 रुपए का प्रीमियम भरना होगा। अगर 20 साल का कोई पॉलिसी धारक 60 साल की उम्र में मैच्योरिटी चाहता है, तो उसे अगले 40 साल तक 1388 रुपए मासिक प्रीमियम देना होगा, जो रोज के 50 रुपए से भी कम होता है।

इस समय इस योजना में प्रति 1,000 की बीमित राशि पर पोस्ट ऑफिस द्वारा 60 रुपए का वार्षिक बोनस दिया जा रहा है। इस तरह 10 लाख की बीमित राशि पर वार्षिक बोनस के 60 हजार रुपए जमा होंगे। अगले 40 वर्ष तक 60 हजार रुपए प्रति वर्ष के हिसाब से करीब 24 लाख रुपए का वार्षिक बोनस जमा होगा। योजना के मैच्योर होने पर निवेश करने वाले व्यक्ति को 24 लाख रुपए का बोनस और 10 लाख रुपए की बीमित यानी कुल 34 लाख रुपए मिलेंगे। इस तरह यह निवेशक के लिए काफी लाभदायक योजना साबित होगी।

यह भी पढ़ें: मार्केट में निफ़्टी ५० से रिटर्न कैसे पाए?

Expert Article block example

संवादपत्र

संबंधित लेख