नए पी.वी.सी. आधार कार्ड को क्या अधिक स्मार्ट और बेहतर बनाता है ?

नया पी.वी.सी. आधार कार्ड ऑफलाइन पहचान प्रमाणीकरण को सरल बनाता है |

नए पी.वी.सी. आधार कार्ड को क्या अधिक स्मार्ट और बेहतर बनाता है

आधार कार्ड के शुरू होने के 10 वर्ष बाद अब उसमे कुछ बदलाव किये जा रहे हैं | भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यु.आई.डी.ए.आई.) नए प्रारूप में कार्ड्स जारी कर रहे हैं जो न केवल अधिक टिकाऊ होगा बल्कि उसमे अनेकों सुरक्षा सम्बंधित सुविधाएं भी होगी| यहां जानिए कि संक्षिप्त में आपके लिए इसके क्या मायने हैं : अब आप आसानी से अपने वॉलेट में आधार कार्ड लेकर घूम सकते हैं और चाहे कही भी हो,अपनी पहचान तुरंत सत्यापित कर सकते हैं |

आधार कार्ड के नवीनतम संस्करण में क्या नया है,यह जानने के लिए आगे पढ़ें |

  • बेहतर गुणवत्ता: नया कार्ड पी.वी.सी. (पॉली-विनाइल क्लोराइड) पदार्थ में छपा हुआ होता है | इससे प्रिंट की गुणवत्ता बढ़ जाती है| इसके अलावा, यह लैमिनेट किया हुआ भी होता है ,जो इसे खरोंच, फैलाव या धब्बे लगने से बचाता है| लैमिनेशन से कार्ड वाटरप्रूफ होने के अलावा इसमें प्रिंट के विवरण की दृश्यता भी स्पष्ट होती है | रंग-रूप के सन्दर्भ में कहें तो नया आधार कार्ड उतना ही अच्छा दिखता है जितना कोई अन्य डेबिट या क्रेडिट कार्ड लगता है |
  • मजबूत सुरक्षा सुविधाएं : जाली आधार कार्ड के बढ़ते मामलों को देखते हुए, यु.आई.डी.ए.आई. ने कई सुरक्षा सुविधाएं भी जोड़ी है जो इस कार्ड में छेड़-छाड़ करना असम्भव कर देगा|इसमें एक भूत-छवि,होलोग्राम, माइक्रो-टेक्स्ट और एक गिलोच पैटर्न शामिल है जो इस नए कार्ड के डुप्लीकेट बनाने को असंभव कर देता है | और तो और, नए पी.वी.सी. आधार कार्ड में एम्बॉस की हुई यु.आई.डी.ए.आई. लोगो भी है ,जो की पुराने संस्करण में शामिल नहीं था |
  • त्वरित सत्यापन: इस नए आधार कार्ड से ऑफलाइन सत्यापन अधिक सरल हो गया है | इसमें एक क्यू.आर. कोड होता है जिसमे उपयोगकर्ता की सामान्य जानकारी जैसे कि नाम,पता और जन्म तिथि शामिल होते हैं | इसका मतलब है कि आप 12-संख्या की आधार संख्या या भौतिक फोटोकॉपी दिए बिना ही अपनी पहचान सत्यापित कर सकते हैं |
  • जारी करने की तिथि और प्रिंट तिथि : पहले, जारी करने की तिथि को अक्सर नामांकन की तिथि ( जब कोई नामांकन केंद्र में पहली बार आधार के लिए पंजीकरण कराता था ) के साथ भ्रमित किया जाता था | हालांकि, यह कम ही लोगों को ज्ञात है कि आधार कार्ड पर उल्लेखित तिथि वास्तव में वह दिन है जिस दिन वह कार्ड प्रिंट हुआ था | जारी करने की तिथि मूल आधार कार्ड पर बिलकुल नहीं दर्शाई जाती है | यु.आई.डी.ए.आई. ने नए पी.वी.सी. आधार कार्ड पर जारी करने की तिथि और प्रिंट तिथि डालकर इस समस्या को भी सुलझा दिया है | परिणामस्वरूप, आधार कार्ड की जारी होने की तिथि अब अपरिवर्तनीय होगी जबकि आपके पुनः प्रिंट के हर बार अनुरोध करने पर प्रिंट तिथि अपडेट होते जाएगी |

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

आप नए पी.वी.सी. आधार कार्ड के लिए कैसे आवेदन कर सकते हैं ?

आपको यु.आई.डी.ए.आई. की ऑनलाइन 'आर्डर आधार कार्ड' सेवा द्वारा पी.वी.सी. आधार कार्ड आसानी से पुनः प्रिंट होकर मिल सकता है| यदि यु.आई.डी.ए.आई. में आपका मोबाइल नंबर पंजीकृत नहीं है तो भी आप वैकल्पिक नंबर का उपयोग करके नए पी.वी.सी. के प्रिंट के लिए आर्डर कर सकते हैं |

लागू शुल्क क्या हैं?

आपके द्वारा आर्डर किये गए हर नए पी.वी.सी. आधार कार्ड के लिए 50 रुपये की मामूली शुल्क वसूली जाती है | यह शुल्क जी.एस.टी. और स्पीड पोस्ट शुल्क सहित है| आप क्रेडिट/डेबिट कार्ड,यु.पी.आई., नेट बैंकिंग आदि से भुगतान कर सकते हैं |

आप आवेदन की स्थिति कैसे जांच सकते हैं ?

यु.आई.डी.ए.आई. वेबसाइट पर जाएं और 'मेरा आधार' टैब पर क्लिक करें,उसके बाद 'आधार पी.वी.सी. कार्ड स्टेटस जांचें' पर क्लिक करें | फिर, 28-संख्या की सेवा अनुरोध संख्या दर्ज करें ,आपका 12-संख्या वाला आधार नंबर और कैप्चा कोड दर्ज करें |अंत में, 'स्टेटस जांचें' पर क्लिक करें |




संबंधित लेख

No Related Articles