नेटबैंकिंग को एक्टिवटे करने की योजना बना रहे हैं ?यहां बताया गया है वो सब जो आपको जानना चाहिए

एक चीट शीट जो आपको नेटबैंकिंग को सुरक्षित रूप से प्रबंधित करने के लिए जानकारी से लैस करती है

नेटबैंकिंग को एक्टिवटे करने की योजना बना रहे हैं ?यहां बताया गया है वो सब जो आपको जानना चाहिए

आज, डिजिटलीकरण हमारे जीवन को छूता है और गति और सुविधा का लाभ देकर हमारी दिनचर्या को प्रभावित करता है। पहले,बैंकिंग लेन-देन में समय लगता था, लेकिन हाल ही में यह बेहद आसान हो गया है, जिससे शाखा में जाने और लाइन में इंतजार करने की आवश्यकता समाप्त हो जाती है। यदि आप नेटबैंकिंग के लिए नए हैं और अपने खाते को पंजीकृत करने और एक्टिवेट करने की इच्छा रखते हैं, तो यहां कुछ आसान-से निर्देश दिए गए हैं जिसका शुरुआत में आप पालन कर सकते हैं |

लेकिन इससे पहले, यहां थोड़ी पृष्ठभूमि बताई गई है। केवल वे बैंक जिनकी भारत में भौतिक उपस्थिति है, वे ही खाता धारकों को इंटरनेट बैंकिंग की पेशकश करने की अनुमति देते है। इसका मतलब यह है कि भारत में बिना शाखाओं वाले वर्चुअल बैंकों के खाताधारकों के पास नेटबैंकिंग का विकल्प नहीं होगा।

नेटबैंकिंग के साथ शुरुआत

नेटबैंकिंग को पंजीकृत / एक्टिव करने के लिए, आप दो विकल्पों में से एक चुन सकते हैं। पहले प्रिंटेड फॉर्म को भरकर और जमा करके बैंक शाखा से औपचारिक रिक्वेस्ट करना है। या फिर आप ज्यादातर बैंकों द्वारा दिए गए ऑनलाइन पंजीकरण विकल्प का उपयोग भी कर सकते हैं। दोनों के लिए औपचारिकताएं समान और उपयोगकर्ता के अनुकूल हैं। प्रिंटेड फॉर्म में और ऑनलाइन पंजीकरण फॉर्म में मांगी गई जानकारी भी समान होती हैं। भ्रम से बचने के लिए, हम नेटबैंकिंग को पंजीकृत करने और एक्टिवेट करने के ऑनलाइन विकल्प को देखेंगे। यह अधिकांश बैंकों में समान होता है; किसी भी छोटे बदलाव को समझना और उसका पालन करना आसान है।

इससे पहले कि आप नेटबैंकिंग को पंजीकृत / एक्टिवेट करने का प्रयास करें, सुनिश्चित करें कि आपके पास अपने बैंक खाते को खोलने के समय दिए गए मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी मौजूद हो। इस मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी को "पंजीकृत" मोबाइल नंबर / ईमेल आईडी कहा जाता है और यह खाते से जुड़ी कुछ ही संख्याएं हैं। सभी ओटीपी और अन्य अधिसूचना आम तौर पर आपके पंजीकृत मोबाइल नंबर पर ही भेजी जाती हैं। यदि आप अपना मोबाइल नंबर / ईमेल आईडी बदलते हैं, तो आपको उसे अपने खाते की जानकारी में अपडेट करना होगा।

अपने बैंक की वेबसाइट पर लॉग इन करना

यहां बताया गया है कि आपको क्या सावधानी बरतनी चाहिए और किन चीज़ों कि अभ्यास करने की आवश्यकता है। हर बार जब आप अपने बैंक की वेबसाइट पर लॉग इन करते हैं, तो आपको अपने ब्राउज़र के एड्रेस बार में यु.आर.एल. लिखकर ऐसा करना होगा। गूगल (या किसी भी सर्च इंजन) में कभी भी बैंक की साइट न खोजें और प्रदर्शित लिंक पर क्लिक न करें - इससे आप एक नकली साइट पर पहुँच सकते हैं जो आपको अपने खाते के व्यक्तिगत जानकारी से दूर कर सकता है। इसके अतिरिक्त, वेब पते की शुरुआत में हरे पैडलॉक प्रतीक के साथ http प्रोटोकॉल देखें।

अपने विवरण के साथ पंजीकरण करें

  • विवरण दर्ज करें: आपको अपना खाता नंबर, शाखा कोड, देश और निवास करने वाला शहर, पंजीकृत मोबाइल नंबर और ग्राहक जानकारी फ़ाइल (सी.आई.एफ.) नंबर जैसे इनपुट विवरणों की आवश्यकता होगी।
    • यह ध्यान रखें कि आपका सी.आई.एफ. आपके खाता नंबर से अलग है और पासबुक या आपकी चेकबुक के पहले पृष्ठ पर छपा एक अनूठा नंबर है। नेटबैंकिंग का उपयोग करके भी इसका पता लगाया जा सकता है।
  • अपना ओटीपी सत्यापित करें: जब आप सभी विवरण दर्ज कर लेते हैं, तो 'सब्मिट ’पर क्लिक करें। आपको अपनी पहचान की पुष्टि करने और अनुरोध को मान्य करने के लिए एक ओ.टी.पी. प्राप्त होगा। इनपुट बॉक्स में ओ.टी.पी. दर्ज करें।
    • आपके द्वारा सफलतापूर्वक विवरण और ओ.टी.पी. जमा करने के बाद, पृष्ठ आपके अस्थायी उपयोगकर्ता नाम को प्रदर्शित करेगा, और आपको दो बार अपना पासवर्ड दर्ज करना होगा|
  • उपयोगकर्ता नाम बदलें: इस प्रक्रिया को सफलतापूर्वक पूरा करने पर, आपको फिर से लॉग इन करना होगा और उपयोगकर्ता नाम को अपनी पसंद से बदलना होगा। यह वह उपयोगकर्ता नाम होगा जिसे आप भविष्य के सभी लेनदेन के लिए उपयोग करेंगे।
    • उपयोगकर्ता नाम या पासवर्ड बदलने की प्रक्रिया सरल है; आपका मार्गदर्शन करने के लिए ऑन-स्क्रीन निर्देश देखें।

ट्रांसक्शन के प्रकार जो आप कर सकते हैं

बचत खातों के खाताधारक अन्य खातों (या खाताधारकों) को पैसे ट्रांसफर करने और बिलों का भुगतान करने के लिए नेटबैंकिंग का उपयोग कर सकते हैं। एन.ई.एफ.टी. (राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर), आर.टी.जी.एस. (रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट) और आई.एम.पी.एस. (तत्काल भुगतान सेवा) के माध्यम से ट्रांसफर की सुविधा दी गई है। आप नेटबैंकिंग के माध्यम से बिल भुगतान कर सकते हैं - जैसे क्रेडिट कार्ड से भुगतान या उपयोगिता बिल।

अपने फंड को कैसे ट्रांसफर करें?

  • पैसे को दूसरे को ट्रांसफर करने के लिए, उपयुक्त मेनू पर नेविगेट करें और लाभार्थी का विवरण जोड़ें।
  • इसके बाद, आपको रिक्वेस्ट की पुष्टि करने के लिए एक ओटीपी भेजा जाएगा।
  • आपका रिक्वेस्ट 30 मिनट के भीतर स्वीकृत हो जाएगा, जिसके बाद आप वांछित राशि को ट्रांसफर कर सकते हैं।
  • जब आप वास्तव में किसी लाभार्थी को राशि ट्रांसफर करते हैं, तो आपको ट्रांसफर की जाने वाली राशि का विवरण भरने के बाद फिर से एक ओटीपी दर्ज करना होगा।
  • अधिकांश बैंक आपको लाभार्थी के रूप में जोड़े बिना किसी को त्वरित ट्रांसफर करने की अनुमति देते हैं। इस प्रक्रिया में कुछ मिनट लगते हैं।
  • अधिकांश बैंक आवर्ती भुगतान के लिए स्थायी निर्देश स्थापित करने की अनुमति देते हैं।
  • कुछ बैंक भविष्य की तारीखों के लिए भुगतान के समय निर्धारण की भी अनुमति देते हैं।

बिल भुगतान कैसे करें?

  • आपको मेनू में आवश्यक बिलर्स को जोड़ना होगा।
  • एक बार जब आप ऐसा कर लेते हैं, तो आप अपनी पसंद की किसी भी तारीख को किसी भी राशि का भुगतान कर सकते हैं।
  • राशि आपके बचत बैंक खाते की बैलेंस राशि से काट ली जाएगी।
  • वैकल्पिक रूप से, किसी सेवा प्रदाता या ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म को भुगतान करने के लिए, उन्हें बिलर के रूप में जोड़ने की कोई आवश्यकता नहीं होती है।
  • उदाहरण के लिए, यदि आप अमेज़ॅन को भुगतान करना चाहते हैं, तो आपने उत्पाद को कार्ट में शामिल करने के बाद, 'चेकआउट' पर क्लिक करें और दिए गए विकल्पों में से विकल्प के रूप में नेटबैंकिंग का चयन करें।
  • सूची में से अपना बैंक चुनें, और फिर वह आपको अपने बैंक के नेटबैंकिंग होम पेज पर ले जाया जाएगा।
  • अपना उपयोगकर्ता नाम और पासवर्ड और भुगतान की जाने वाली राशि दर्ज करें, इसके बाद आपके मोबाइल पर ओटीपी प्राप्त होगा।
  • निर्दिष्ट राशि आपके खाते से काट ली जाएगी और आपकी खरीद के एवज में अमेज़न में जमा कर दी जाएगी।

याद करने योग्य कुछ बिंदु

  • यदि आपने अपने ब्राउज़र से नेटबैंकिंग में लॉग इन किया है, तो लेनदेन पूरा होने के बाद लॉग आउट करना याद रखें।
  • सार्वजनिक वाई-फाई नेटवर्क से लॉग इन करने से बचें क्योंकि आपको पता नहीं चलेगा यदि आपकी सुरक्षा से समझौता हो ।
  • ऑनलाइन लेन-देन करने पर अन्य विंडो को खुला रखने के अभ्यास से भी बचें।



संबंधित लेख