New rules for savings bank account: बैंक खातों के मिनिमम बैलेंस के नए नियम

खाते में न्यूनतम बैलेंस न रखने पर लगेगी पेनल्टी।

बैंक खातों के मिनिमम बैलेंस के नए नियम

New rules for savings bank account: खाताधारकों के लिए एक महत्वपूर्ण सूचना आई है। एसबीआई, एचडीएफसी, ऐक्सिस बैंक और आईसीआईसीआई बैंक के खाताधारकों को अपने खाते में न्यूनतम राशि (मिनिमम बैलेंस) के बारे में अब अधिक सावधानी बरतनी पड़ेगी। इन सभी बैंको ने अपने ग्राहकों के बचत (सेविंग) खातों के बारे में एक नियम अनिवार्य कर दिया है। इस नियम के अनुसार यदि ग्राहक को अपने बचत खाते में बैंको द्वारा निर्धारित न्यूनतम राशि (मिनिमम बैलेंस) हर समय रखना अनिवार्य होगा। ऐसा न करने पर बैंक द्वारा पेनल्टी लगाई जाएगी। 

जब कोई ग्राहक बैंक में अपना खाता खोलता है तो बैंक द्वारा उसे कुछ सुविधाएँ और सेवाएँ प्रदान की जाती हैं। इन सुविधाओं के लिए बैंक द्वारा कुछ नियम भी तय किए जाते हैं। इन्हीं में से एक नियम है मिनिमम बैलेंस की अनिवार्यता। मिनिमम बैलेंस अलग-अलग बैंको के लिए अलग-अलग तय किया जाता है इसलिए मिनिमम बैलेंस की राशि अलग-अलग होती है। एचडीएफसी, एसबीआई, ऐक्सिस बैंक और आईसीआईसीआई बैंक द्वारा मिनिमम बैलेंस की राशि निर्धारित की गई है। 

यह भी पढ़ें: भारत के लिए सब्सिडी सही है या गलत?

विभिन्न बैंको द्वारा निर्धारित राशि 

1. स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई )

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने स्थान के आधार पर मिनिमम बैलेंस की राशि तय की है। यानी अलग-अलग जगहों पर रहने वाले लोगों अलग-अलग राशि मिनिमम बैलेंस के लिए बैंक में रखनी होगी। इस आधार पर यदि ग्राहक ग्रामीण क्षेत्रों का निवासी है तो उसे ₹1,000 की मिनिमम बैलेंस राशि खाते में रखनी होगी। वहीं यदि ग्राहक सेमी-अर्बन क्षेत्रों में रहता है तो उसके लिए निर्धारित मिनिमम बैलेंस की राशि है ₹2,000। उसी के साथ यदि ग्राहक मेट्रो सिटी का निवासी है तो उसके लिए मिनिमम बैलेंस निर्धारित किया गया है ₹3,000। 

2. एचडीएफसी बैंक 

एचडीएफसी बैंक ने भी मिनिमम बैलेंस की राशि निर्धारित करने के लिए ग्राहकों के रिहायशी इलाकों को ध्यान में रखा है। बैंक के नए नियमों के अनुसार यदि खाताधारक शहरी इलाकों में रहता है तो उसके लिए ₹10,000 की मिनिमम बैलेंस की सीमा होगी वहीं सेमी-अर्बन क्षेत्रों में रहने वाले ग्राहक के लिए यह राशि ₹5,000 होगी। ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले खाताधारकों के लिए मिनिमम बैलेंस ₹2,500 निर्धारित किया गया है। 

3.आईसीआईसीआई बैंक 

इस बैंक ने भी मिनिमम बैलेंस निर्धारित करने के लिए इलाकों का ही वर्गीकरण चुना है। आईसीआईसीआई बैंक की भी मिनिमम बैलेंस की शर्त एचडीएफसी बैंक के समान ही है अर्थात शहरी इलाकों के ग्राहकों के लिए ₹10,000 सेमी-अर्बन क्षेत्रों में रहने वाले ग्राहकों के लिए ₹5,000 और ग्रामीण क्षेत्र के ग्राहकों के लिए ₹2,500 की सीमा निर्धारित की गई है।

4. ऐक्सिस बैंक 

एक्सिस बैंक ने भी अपने मिनिमम बैलेंस की सीमा निर्धारण रिहायशी इलाकों के आधार पर ही किया है। इन नियमों के तहत शहरी इलाकों में रहने वाले खाताधारकों के लिए ₹12,000 की सीमा रखी गई है तो सेमी-अर्बन इलाकों में रहने वाले खाताधारकों को मिनिमम बैलेंस ₹5,000 का रखना अनिवार्य होगा। ग्रामीण क्षेत्रों के खाताधारक के लिए ₹2,500 की मिनिमम बैलेंस की सीमा रखी गई है। 

ग्राहक और खाताधारक ध्यान रखें ये नियम स्पेशल बैंक अकाउंट जैसे प्रधानमंत्री जनधन योजना, पेंशनधारियों के बचत खाते, सैलरी अकाउंट और नाबालिग ग्राहकों के बचत खातों पर लागू नहीं होगा। 

यह भी पढ़ें: अपने व्यक्तिगत वित्त का ऑडिट कैसे करे?

ICICI Prudential Value Discovery Fund 2022

संवादपत्र

संबंधित लेख