Online PF transfer: नौकरी के साथ करें पीएफ फंड ट्रांसफर | PF ट्रांसफर करने की स्टेप-बाय-स्टेप प्रोसेस

नौकरी बदलने पर अब घर बैठे ही ऑनलाइन पीएफ ट्रांसफर किया जा सकता है।

Online PF transfer

How to transfer PF balance online: तरक्की के लिए नौकरी बदलना एक आम सी बात हो गई है। नौकरी बदलने के साथ ही कर्मचारी भविष्य निधि खाता भी नई कंपनी में ट्रांसफर कर लेना चाहिए। यहाँ आपको पाँच ऐसे कदम बताए जा रहे हैं जिन्हें अपनाकर आप आसानी से घर बैठे यह काम पूरा कर सकते हैं। अपना पीएफ ट्रांसफर करने के लिए अब EPFO वेबसाइट का इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके लिए अब आपको दफ्तर के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे। 

यह भी पढ़ें: ७ वित्तीय नियम

PF ट्रांसफर करने की स्टेप-बाय-स्टेप प्रोसेस 

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) अपने उपभोक्ताओं को भविष्य निधि (Provident Fund) का ट्रांसफर करने की सुविधा देता है। अब घर बैठे ही वेबसाइट के माध्यम से पीएफ फंड ट्रांसफर किया जा सकता है। यह प्रक्रिया काफी आसान है इसके लिए केवल चंद कागजातों की जरूरत होती है। 

भविष्य निधि ट्रांसफर करने के लिए उपभोक्ता के पास ऐक्टिव यूएएन नंबर और उसका पासवर्ड होना चाहिए। यूएएन नंबर आधार से लिंक जुड़ा होना चाहिये। यूएएन नंबर में उपभोक्ता का खाता क्रमांक मोबाइल फ़ोन नंबर भी जुड़ा होना चाहिए। साथ ही पैन कार्ड या फिर आधार या ड्राइविंग लाइसेंस की सॉफ्ट कॉपी आपके पास तैयार होनी चाहिए। 

कैसे करें ट्रांसफर? 

  • ट्रांसफर के लिए EPFO वेबसाइट के यूनिफाइड मेंबर पोर्टल https://unifiedportal-mem.epfindia.gov.in/memberinterface/ पर लॉग इन करना होगा।
  • इसके बाद ऑनलाइन सर्विसेज पर ‘वन मेंबर वन ईपीएफ’ चुनें। 
  • माँगा गया पूरा विवरण भरें। 
  • वर्तमान नौकरी से संबंधित निजी जानकारी और पीएफ खाते की जानकारी देनी होगी। 
  • यह जानकारी देने के बाद ‘गेट डिटेल्स’ विकल्प चुनें जिसमें पिछले पीएफ खाते की जानकारी दर्ज दिखाई देगी।
  • इसके बाद ऑनलाइन क्लेम फॉर्म के अटेस्टेशन के लिए नियोक्ता और अधिकृत सिग्नेटरी होल्डिंग की उपलब्धता को चुनना होगा। मेंबर आइडेंटिफिकेशन या यूएएन नंबर भरना होगा। जिसके बाद इस खाते के रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर ओटीपी भेजा जाएगा।
  • ओटीपी भरने पर प्रक्रिया पूरी हो जाएगी। 

ध्यान रखें आपका पीएफ ट्रांसफर रिक्वेस्ट फॉर्म आपको ही अटेस्ट करना है। जब पिछली कंपनी ट्रांसफर के आवेदन को स्वीकृत कर लेगी तब पीएफ बैलेंस नए खाते में ट्रांसफर हो जाएगा।

यह भी पढ़ें: निफ़्टी ५० से रिटर्न 

EPFO कितनी पेंशन देगा ?

How to transfer PF balance online: तरक्की के लिए नौकरी बदलना एक आम सी बात हो गई है। नौकरी बदलने के साथ ही कर्मचारी भविष्य निधि खाता भी नई कंपनी में ट्रांसफर कर लेना चाहिए। यहाँ आपको पाँच ऐसे कदम बताए जा रहे हैं जिन्हें अपनाकर आप आसानी से घर बैठे यह काम पूरा कर सकते हैं। अपना पीएफ ट्रांसफर करने के लिए अब EPFO वेबसाइट का इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके लिए अब आपको दफ्तर के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे। 

यह भी पढ़ें: ७ वित्तीय नियम

PF ट्रांसफर करने की स्टेप-बाय-स्टेप प्रोसेस 

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) अपने उपभोक्ताओं को भविष्य निधि (Provident Fund) का ट्रांसफर करने की सुविधा देता है। अब घर बैठे ही वेबसाइट के माध्यम से पीएफ फंड ट्रांसफर किया जा सकता है। यह प्रक्रिया काफी आसान है इसके लिए केवल चंद कागजातों की जरूरत होती है। 

भविष्य निधि ट्रांसफर करने के लिए उपभोक्ता के पास ऐक्टिव यूएएन नंबर और उसका पासवर्ड होना चाहिए। यूएएन नंबर आधार से लिंक जुड़ा होना चाहिये। यूएएन नंबर में उपभोक्ता का खाता क्रमांक मोबाइल फ़ोन नंबर भी जुड़ा होना चाहिए। साथ ही पैन कार्ड या फिर आधार या ड्राइविंग लाइसेंस की सॉफ्ट कॉपी आपके पास तैयार होनी चाहिए। 

कैसे करें ट्रांसफर? 

  • ट्रांसफर के लिए EPFO वेबसाइट के यूनिफाइड मेंबर पोर्टल https://unifiedportal-mem.epfindia.gov.in/memberinterface/ पर लॉग इन करना होगा।
  • इसके बाद ऑनलाइन सर्विसेज पर ‘वन मेंबर वन ईपीएफ’ चुनें। 
  • माँगा गया पूरा विवरण भरें। 
  • वर्तमान नौकरी से संबंधित निजी जानकारी और पीएफ खाते की जानकारी देनी होगी। 
  • यह जानकारी देने के बाद ‘गेट डिटेल्स’ विकल्प चुनें जिसमें पिछले पीएफ खाते की जानकारी दर्ज दिखाई देगी।
  • इसके बाद ऑनलाइन क्लेम फॉर्म के अटेस्टेशन के लिए नियोक्ता और अधिकृत सिग्नेटरी होल्डिंग की उपलब्धता को चुनना होगा। मेंबर आइडेंटिफिकेशन या यूएएन नंबर भरना होगा। जिसके बाद इस खाते के रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर ओटीपी भेजा जाएगा।
  • ओटीपी भरने पर प्रक्रिया पूरी हो जाएगी। 

ध्यान रखें आपका पीएफ ट्रांसफर रिक्वेस्ट फॉर्म आपको ही अटेस्ट करना है। जब पिछली कंपनी ट्रांसफर के आवेदन को स्वीकृत कर लेगी तब पीएफ बैलेंस नए खाते में ट्रांसफर हो जाएगा।

यह भी पढ़ें: निफ़्टी ५० से रिटर्न 

EPFO कितनी पेंशन देगा ?

संवादपत्र

Union Budget