पैसे की किल्लत के बिना शाकाहारी कैसे बनें

शाकाहारी होने से पहले, आपके पास अपने स्वाद और पसंद के बारे में सोचने और विचार करने के लिए बहुत कुछ है। पैसा, हालांकि, एक निर्णायक कारक नहीं होना चाहिए ।

पैसे की किल्लत के बिना शाकाहारी कैसे बनें

शाकाहार उन चीजों में से एक है जिसके कई मिथक हैं। कई लोगों को लगता है कि एक शाकाहारी आहार स्वस्थ नहीं है; और यह हिप्पी लोगों के लिए है, और एक शाकाहारी बनने के लिए बहुत पैसे की जरूरत होती है। और हर दूसरे मिथक की तरह, इसे भी ध्वस्त करना महत्वपूर्ण है । 

शाकाहार होने के कई स्वास्थ्य लाभ हैं जो चिकित्सा पेशेवरों द्वारा समर्थित हैं - जैसे कम रक्तचाप, बेहतर गुर्दे का कार्य, हृदय रोग का खतरा कम होना, वजन घटाने में मदद करना, और बहुत कुछ। और शाकाहारी न केवल हिप्पी के लिए है - यह उन सभी के लिए भी है जो अपने शरीर और धरती मां के बेहतर देखभाल करने के लिए एक सचेत निर्णय लेना चाहता है।

शाकाहारी होना एक महंगी जीवन शैली का विकल्प है, इस सच को भी पुरी तराह झुतलाया नहीं जा सकता है । आपकी वित्तीय स्थिति को निश्चित रूप से आपको यह महत्वपूर्ण निर्णय लेने से नहीं रोकनी चाहिए। तो यहां हम बता रहे है कि बिना पैसे की किल्ल्त किये,आप कैसे शाकाहारी बन सकते हैं|

1.अपने लिए खाना बनाना सीखें
शाकाहारी बनना आर्थिक रूप से केवल तभी टिकाऊ हो सकता है अगर आप खाना बनाना सीखते है । कभी-कभी, आप अपने पसंदीदा शाकाहारी कैफे से भोजन ऑर्डर कर सकते हैं। लेकिन दैनिक आधार पर, आप जो तीन समय भोजन खाते हैं - साथ ही कोई भी स्नैक्स - आपके द्वारा खुद तैयार किया जाना चाहिए। रोटी, सब्जी, दाल और चावल जैसे विशिष्ट भारतीय भोजन के बारे में बड़ी बात यह है कि यह सब मुख्य रूप से शाकाहारी है। लेकिन घी, पनीर और दही को छोड़ना याद रखें! इसलिए, आपको कुछ बहुत जटिल नई व्यंजनों को सीखने की ज़रूरत नहीं है। वैकल्पिक रूप से, यदि आपके पास एक कुक है, तो आप उन्हें आवश्यक निर्देश दे सकते हैं।

2. एक फ़ूड  ब्लॉगर के साथ अपने जीवन की तुलना मत करो

हालांकि बहुत से लोग स्वास्थ्य सम्बंधित कारणों से या पशु क्रूरता से बचने के लिए शाकाहारी बनना चुनते हैं, हम इस तथ्य से इनकार नहीं कर सकते कि शाकाहार होना वर्तमान में एक ट्रेंड बन गया है । इसका मतलब यह है कि बाहर हजारों फ़ूड ब्लॉगर्स  हैं, जो एक 1000 रुपये का सलाद खाते हैं या बहुत सुन्दर कांच की बोतलों में आर्गेनिक स्मूथीज कोअपने फ्रिज में रखा करते है जिसमे प्रत्येक 400 रुपये का होता है । यदि आप उनके इंस्टाग्राम फ़ीड को देखते हैं और उनकी नकल करने की कोशिश करते हैं, तो आप एक महीने से अधिक समय तक अपने बजट को गंभीर रूप से प्रभावित किए बिना नहीं रह पाएंगे। आपको यह समझने की जरूरत है कि फ़ूड ब्लॉगर्स द्वारा विज्ञापित बहुत सारे खाने पीने की चीज़ें , ब्रांडों द्वारा प्रायोजित होती हैं; वे इसके लिए खर्च नहीं करते हैं।

3. मार्केटिंग की चालबाज़ियों के बारे में जागरूक रहें

हमारी पूंजीवादी दुनिया की प्रकृति यह है कि जब भी कंपनियां कुछ लोकप्रिय होते हुए देखती हैं, तो वे स्मार्ट मार्केटिंग रणनीतियों को नियोजित करके कमाई करने की कोशिश करती हैं। शाकाहार उन चीजों में से एक है जिसका भी फायदा उठाया जा रहा है । इसलिए, आप अक्सर देखेंगे कि महंगी खाद्य वस्तुओं को भारी बढ़ावा दिया जा रहा है, जैसे मूंगफली से बने मक्खन के बजाय बादाम मक्खन को ,जो महंगा है और देखें तो उतना ही स्वास्थप्रद है,जितना मूंगफली का मक्खन।सुपरफूड्स, अच्छा खाना और ग्लूटेन-फ्री आहार जैसे बहुत सारे नए रुझानों को अक्सर शाकाहार से जोड़ा जाता है, लेकिन वे अलग-अलग चीजें हैं और आपको इसे लेकर परेशान नहीं होना चाहिए। 

4. अपने सामान्य किराने की दुकानों पर खरीदारी जारी रखें

यह एक लोकप्रिय धारणा है कि एक बार जब आप शाकाहारी बन जाते हैं, तो आप सिर्फ शाकाहारी दुकानों, किसानों के बाजार, या फैंसी खाद्य दुकानों जैसे विशिष्ट स्थानों पर ही खरीदी कर सकते हैं । किसी भी व्यक्ति से पूछें जो लंबे समय से शाकाहारी है और वे आपको कुछ और ही बताएंगे। विदेशी दुकानों पर खरीदारी एक सामयिक आनंद लेने का मौका हो सकता है, लेकिन अपने मासिक किराने चलाने के लिए, आप अपने सामान्य दुकानों पर खरीदारी जारी रख सकते हैं । एक और बात जो आपके शाकाहारी होने पर आपके किराने के बिल को कम कर सकता है,वह है कि आप सीखें कि कैसे शाकाहारी पनीर और बादाम के दूध के रूप में शाकाहारी विकल्प आप खुद घर पर बनाएं ।

5. मौसम और क्षेत्र के अनुसार खाइये 

बहुत सारे प्रभावी शाकाहारी जो आप ऑनलाइन देखेंगे,वे भारतीय नहीं हैं। वो जो खाते हैं,उसे खाने की कोशिश करना या जिस तरह से खाते हैं, उसका अनुसरण करने कि कोशिश करना फायदेमंद नहीं होगा क्योंकि वे चीजें या तो यहां आसानी से नहीं मिलेगी, या उसकी कीमत ज्यादा होगी, या हमारी जलवायु या जीवन शैली के लिए वो अनुपयुक्त होगी। पेशेवरों का कहना है कि आप जहां रहते है ,आपको उस के अनुसार खाना चाहिए क्योंकि वह आपके शरीर के लिए स्वस्थ होगा। इसलिए आपको उन भारतीयों से जुड़ने की कोशिश करनी चाहिए जो शाकाहारी हैं ताकि यह देखा जा सके कि उन्होंने अपनी डाइट कैसे बदली है । हमेशा बहुत सारे मौसमी फल और सब्जियों को शामिल करने कि कोशिश करें क्योंकि वे स्वस्थ, ताजा और साथ ही सस्ती भी हैं।

6. भोजन की योजना बनाने में लिप्त हो

शाकाहारी होना एक बहुत बड़ा जीवन शैली परिवर्तन है जिसे शुरुआत में कुछ प्रयास और योजना की आवश्यकता होगी । काम पर एक थकावटपूर्ण दिन बिताने के बाद, यदि आपके पास खाने के लिए कुछ भी नहीं है या शाकाहारी भोजन बनाने के लिए सही सामग्री नहीं है, तो आपको इससे बहुत चिड़चिड़ाहट होगी। तो पहले से अपने भोजन की योजना बनाइये और तदनुसार किराने की खरीदारी करना शुरू कीजिये । यह आपको किराने के बिलों को बचाने में भी मदद करेगा क्योंकि आप केवल वही खरीदेंगे जिसकी आपको ज़रूरत है ।

जैसा कि आप देख सकते हैं, शाकाहारी होना एक महंगा मामला नहीं है अगर आप इसकी रणनीतिक दृष्टिकोण और बुद्धिमानी से योजना बनाये। इन बातों को ध्यान में रखें और आप देखेंगे कि आपके मासिक बजट में कोई खास बदलाव नहीं दिखेगा । तो, आगे बढ़ो और पैसे कि चिंता किये बिना इस सराहनीय जीवन शैली परिवर्तन को स्वीकारें ।

संबंधित लेख