पैसों का ख्याल रखने के 9 क्रिएटिव तरीके

पैसों का ख्याल रखना कोई बोरिंग काम बिल्कुल नहीं है. यहाँ कुछ तरीके बताए जा रहे हैं जिनसे आप अपने पैसों का ख्याल रख सकते हैं.

 पैसों का ख्याल रखने के 9 क्रिएटिव तरीके

हम सभी जानते हैं कि हमने अपने भविष्य के लिए बचत के जो लक्ष्य तय किए हैं, उन्हें हासिल करने के लिए हमें अपने पैसों का ख्याल पूरी ज़िम्मेदारी से करना होगा और अपने पैसों पर ज़्यादा ध्यान देना होगा. हालांकि, सभी लोग ऐसा नहीं कर पाते. कुछ लोगों को यह एक मुश्किल काम लगता है, तो कुछ लोग इसमें आलस करते हैं - मानो उनसे कोई पहाड़ उठाने को कह दिया गया हो. 

फाइनेंशियल प्लानिंग का मतलब सिर्फ़ पैसे बचाना नहीं होता, इसके गहरे मायनों को समझना ज़रुरी है. इसका उद्देश्य यह है कि अपने दीर्घकालिक वित्तीय लक्ष्यों को हासिल करने के लिए आप अनुशासन के साथ-साथ खर्च करने और अपनी मर्ज़ी से अपने पैसे का इस्तेमाल करने के बीच एक संतुलन बनाकर चल सकें.

यहाँ पैसों की देखभाल से जुड़े कुछ तरीके और क्रिएटिव ट्रिक्स बताई जा रही हैं जिनसे आपको अपनी फाइनेंशियल लाइफ़ को मज़बूत बनाने में आसानी होगी.

1. एक विज़न बोर्ड बनाएं

उन सभी वित्तीय लक्ष्यों की सूची बनाएं जिन्हें आप हासिल करना चाहते हैं और उस बोर्ड पर ऐसी तस्वीरें जोड़ें जो आपकी फाइनेंशियल प्लानिंग में मदद करने के लिए ज़रूरी हों. जैसे कि, कोई ऐसी तस्वीर जोड़ें जो आपको अपना खुद का व्यापार बढ़ाने, कार खरीदने, अपने सपनों का घर खरीदने या छुट्टी के लिए पैसे बचाने के लिए प्रेरित करे. दिखने वाले रिमाइंडर आपको प्रेरित भी करेंगे और आप अपने लक्ष्य को पाने के लिए ज़रूरी गतिविधियों पर नज़र भी रख सकेंगे. अपने आर्ट एंड क्राफ्ट स्किल की मदद से आप बढ़िया रिमाइंडर बना सकते हैं और खुद को बेहतर तरीके से प्रेरित करके कामयाब हो सकते हैं.

2. स्मार्ट लक्ष्य निर्धारित करें

जब आप अपने लक्ष्यों को तय कर लेते हैं, तो आपको एक फाइनेंशियल बजट बनाना होगा, अपनी आय और खर्चों को समझना होगा, और उसके हिसाब से अपने सभी लक्ष्यों के लिए एक समयसीमा निर्धारित करनी होगी और उन्हें प्राथमिकता देनी होगी. हर लक्ष्य स्मार्ट (SMART) (Specific, Measurable, Achievable, Relevant, और Trackable यानी ख़ास, मापने योग्य, हासिल करने योग्य, प्रासंगिक और ट्रैक करने योग्य) होना चाहिए. जैसे-जैसे आप प्रगति देखेंगे, अच्छा काम करते रहने के लिए आपका उत्साह और भी बढ़ेगा. अगर आप किसी लक्ष्य को पाने के करीब हैं, तो लक्ष्य को फास्ट-ट्रैक करने के तरीके खोजें और इसे पूरा करके अपनी सूची में टिक करते चलें.

3. माइलस्टोन का जश्न मनाएं

आप जब भी कोई लक्ष्य हासिल करते हैं - चाहे बड़ा हो या छोटा - उसे अच्छी तरह से किए जाने की ख़ुशी में खुद को शाबाशी दें. उदाहरण के लिए, अगर आपने अपने सभी क्रेडिट कार्ड के बकाया भुगतान के लिए अपनी पिछली खरीदारी में कटौती की थी, तो पेमेंट करने के बाद अगली बार वो कपड़े, गैजेट्स, या एक्सेसरी ज़रूर खरीदें जिन्हें आप लेना चाहते थे. ध्यान रहे, अपनी ज़रूरत और बजट के हिसाब से ही चलें ताकि आपको बाद में परेशानी न हो.

4. बजटिंग टूल्स इस्तेमाल करें

बजट बनाना और ट्रैक करना एक आसान काम होना चाहिए. इसके लिए कई एप्लिकेशन मौजूद हैं जिन्हें आसानी से आप अपने स्मार्टफ़ोन पर इस्तेमाल कर सकते हैं और अपने लक्ष्यों के आधार पर अपने बजट को कस्टमाइज़ कर सकते हैं. इनसे पैसे की बचत करने वाले टिप्स और डिस्काउंट डील भी मिलते हैं. ऐसे ही कुछ ऐप हैं Goodbudget, Mint और Monefy जो आपके बजट, बिल और फाइनेंशियल स्थिति को मैनेज करने में आपकी मदद करते हैं. सबसे मज़ेदार बात यह है कि ये ऐप रियल-टाइम में आपकी बचत और खर्चों को ट्रैक करते हैं और ज़रूरत पड़ने पर आपको कड़े फ़ैसले लेने में भी मदद कर सकते हैं. 

5. किसी फाइनेंस एक्सपर्ट से जुड़ें

अगर जिम में वर्कआउट के लिए एक्सपर्ट ट्रेनर की मदद ली जा सकती है, तो अपने पैसों की देखभाल के लिए किसी फाइनेंस एक्सपर्ट से क्यों नहीं? यह एक्सपर्ट एक पार्टनर/जीवनसाथी, भाई/बहन या दोस्त हो सकता है. कोई ऐसा व्यक्ति चुनना बेहतर है जिसके वित्तीय लक्ष्य आपकी ही तरह हों या जो आपके जितना ही कमाता हो. आप अपना वित्तीय ज्ञान साझा कर सकते हैं, एक-दूसरे को प्रेरित कर सकते हैं, बचत पर प्रतिस्पर्धा कर सकते हैं, निवेश की तुलना कर सकते हैं या तनाव कम करने के लिए अपनी वित्तीय स्थिति के बारे में आपस में बात कर सकते हैं. किसी के साथ इस तरह मिलकर काम करने से पैसे की देखभाल और बचत के लक्ष्य पाना और भी मज़ेदार अनुभव हो सकता है.

6. बचत में मदद करने वाले गेम इनस्टॉल करें

अपनी बजट की प्रक्रिया को गेमिफाइड एप्लिकेशन के साथ और ज़्यादा मज़ेदार बनाएं. उदाहरण के लिए, फॉर्च्यून सिटी बजटिंग ऐप के साथ आने वाला एक गेम है. आप एक वर्चुअल सिटी बना सकते हैं और अपग्रेड कर सकते हैं, रोजाना ऐप इस्तेमाल करने पर मिलने वाले रिवॉर्ड के लिए शुक्रिया कह सकते हैं. इसी तरह, Qapital जैसे ऐप में IFTTT (इफ दिस देन दैट) जैसी सुविधाएँ हैं. IFTTT की मदद से आप ऐसे नियम बना सकते हैं जिन्हें अन्य एप्लिकेशन और डेटा से जोड़ा जा सकता है. उदाहरण के लिए, आप मज़ेदार नियम बना सकते हैं जैसे कि “हर बार जब भारत क्रिकेट मैच जीतता है, तो 1000 रुपये बचाएं’.

7. अपनी हर बचत को जोड़ते रहें

अगर एक ही बार में बड़ी मात्रा में बचत करना मुश्किल लगता हो, तो आप अपनी हर बचत को थोड़ा-थोड़ा करके भी जोड़ सकते हैं. आप डिजिटल चैनल/कार्ड के माध्यम से जो खरीदते हैं उसे Sqrrl, Spenny, Acorns जैसे ऐप राउंड ऑफ कर देते हैं और इस अमाउंट को अलग-अलग इन्वेस्टमेंट बकेट की ओर भेज देते हैं. उदाहरण के लिए, मान लीजिए कि आपने 373 रुपये का कोई पिज़्ज़ा ऑर्डर किया. इसे राउंड ऑफ करके 400 रुपये कर दिया जाएगा और 27 रुपये का बैलेंस एक लिक्विड फंड में चला जाता है जिसे बाद में निवेश लक्ष्य को पूरा करने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है. इस तरह, हर बार जब आप खर्च करते हैं, तो आप बचाते भी हैं. इससे पहले कि आपको पता लगे, आपके पास लिक्विड फंड में कंपाउंडिंग के एक बड़े हिस्से के रूप में पैसा मौजूद हो जाता है, जो निवेश के लिए तैयार है.

8. अपना ज्ञान बढ़ाएं

आप जितना ज़्यादा पैसों की देखभाल को समझेंगे, इसमें आपको उतना ही ज़्यादा मज़ा आएगा. पर्सनल फाइनेंस की किताबें पढ़कर आप अपने वित्तीय ज्ञान को सरल और निर्देशित तरीके से बढ़ा सकते हैं. अपने खाली समय में, थोड़ा पढ़ने की आदत डालें. अगर आपको पढ़ना पसंद नहीं है, तो आप स्टैक्स, फाइनेंशियल फुटबॉल, मनी मैजिक, हिट द रोड जैसे ऐप्स या वेबसाइटों पर क्विज़, ट्रिविया, और फाइनेंस से जुड़े गेम खेल सकते हैं, जो आपको मज़ेदार और इंटरैक्टिव तरीके से सीखने में मदद करते हैं.

9. सही रवैया अपनाएं

आखिरी मगर बेहद ज़रूरी बात, शुरू से ही मन को पॉज़िटिव रखें. परिणाम दिखना शुरू होने में कुछ समय लगेगा, इसलिए इसके लिए तैयार रहें. इसी तरह ऊंचे शिखर पर पहुँचा जाता है - एक बार में एक कदम चढ़कर. और वैसे भी, बचत और निवेश को प्राथमिकता देने का मतलब यह नहीं है कि आप खुद को किसी इच्छा से वंचित रखें. अगर आपको बरिस्ता की कॉफी पसंद है, तो खुद को रोकें नहीं और अपनी कॉफ़ी का आनंद लें, लेकिन उस खर्च को कहीं और संतुलित करने का तरीका ज़रूर खोजें.

याद रखें, बजट को बहुत रोक कर चलाना भी नुकसानदेह हो सकता है. बल्कि, थोड़ा मौज-मस्ती के साथ अगर आप इस काम को करें तो बहुत आसान हो जाएगा और आपको अपने फाइनेंशियल माइलस्टोन तक तेज़ी से पहुंचने में देर नहीं मि




संबंधित लेख