भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) के सहायक, डिपॉज़िट इंश्‍योरेंस और क्रेडिट गारंटी कॉर्पोरेशन (DICGC), 5 लाख रुपये तक के निवेश पर बैंक सावधि जमा (FD) की ब्याज दरों पर रिटर्न की गारंटी देते हैं।

जानें कि कौन-कौन से बैंक सावधि जमा पर सबसे अधिक दर देते हैं

भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) के सहायक

ये बैंक सावधि जमा पर 6.5 की दर दे रहे हैं

बैंक एफडी (सावधि जमा) पर ब्याज दरों को सुरक्षित निवेश का विकल्प माना जाता है। यह विशेष रूप से सही है यदि आप शेयर बाजार और क्रिप्टोकरेंसी के उच्च-जोखिम, उच्च-रिटर्न से दूर रहना चाहते हैं। यदि आपकी उम्र 60 वर्ष से अधिक है तो वरिष्ठ
नागरिकों के लिए एफडी पर ब्याज़ दरें अधिक लाभदायक है। 

सट्टा बाजार में अपनी मेहनत की सारी कमाई को जोखिम में डालने के बजाय, आप एफडी दरों पर 6.5 प्रतिशत या उससे अधिक की जोखिम-मुक्त कमाई कर सकते हैं। असल में, भारत में छोटे निजी बैंक भी टेक्‍स-सेविंग एफडी की पेशकश करते हैं, जो आपको आयकर अधिनियम की धारा 80C के तहत कर कटौती का दावा करने की अनुमति देता है। एफडी के बारे में अधिक जानने के लिए, कृपया इन FAQs को देखें।  

2022 में बैंक एफडी पर 6.5 प्रतिशत की ब्‍याज दर देने वाले शीर्ष 3 बैंक 
आइए उन भारतीय बैंकों के बारे में जानते हैं जो सावधि जमा पर सबसे अधिक ब्याज दर दे रहे हैं।

1. इंडसइंड बैंक

इंडसइंड बैंक लिमिटेड, जिसका मुख्यालय मुंबई में है, सबसे अधिक ब्याज दरों की पेशकश करने वाली वीडियो स्‍कीम की एक विस्तृत श्रृंखला प्रदान करता है। अधिकतम दर इन लोगों को दी गई:

2 करोड़ रुपये से कम की बचत करने वाले लोगों (60 साल से कम उम्र) के लिए 2 साल से लेकर 61 महीने से कम तक 6.5 प्रतिशत है।
2 करोड़ रूपये की बचत करने वाले वरिष्‍ठ नागरिकों के लिए 1 साल से लेकर 2 साल तक 6.5 प्रतिशत है।
2 करोड़ रूपये की बचत करने वाले वरिष्‍ठ नागरिकों के लिए 2 साल से लेकर 61 महीनों से कम तक 7 प्रतिशत है। 
इंडस टैक्स सेवर स्कीम (5 वर्ष) खरीदने वाले लोगों (60 साल से कम उम्र) के लिए 6.5 प्रतिशत है।
इंडस टैक्स सेवर स्कीम (5 वर्ष) खरीदने वाले लोगों के लिए 7 प्रतिशत है।

2. आरबीएल बैंक (पूर्व में रत्नाकर बैंक)

1943 में स्थापित आरबीएल बैंक एक निजी भारतीय बैंक है। यह अपने ग्राहकों को 6.5 प्रतिशत और 7 प्रतिशत बैंक एफडी ब्याज दर प्रदान करता है। आइए मुंबई स्थित इस बैंक द्वारा दी जाने वाली विभिन्न श्रेणियों के लिए एफडी की ब्याज़ दरों को देखते हैं:

2 करोड़ रूपये से कम बचत करने वाले लोगों (60 साल से कम उम्र के) के लिए 24 महीने से लेकर 36 महीनों से कम तक 6.5 प्रतिशत है।
2 करोड़ से कम बचत करने वाले वरिष्‍ठ नागरिकों के लिए:
12 महीनों से लेकर 24 महीनों से कम तक 6.75 प्रतिशत है
24 महीनों से लेकर 36 महीनों से कम तक 7 प्रतिशत है
36 महीनों से लेकर 60 महीनों से कम तक 6.8 प्रतिशत है
60 महीनों से लेकर 60 महीने 1 दिन तक 6.8 प्रतिशत है
टैक्स सेविंग सावधि जमा (60 महीने) खरीदने वाले वरिष्ठ नागरिकों के लिए 6.8 प्रतिशत है

3. डीसीबी बैंक

डीसीबी बैंक एक निजी रूप से संचालित शेड्यूल्‍ड कमर्शियल बैंक है। पूरे भारत में, इसकी 400 बैंक शाखाएं हैं और लगभग 9,50,000 ग्राहक हैं। डीसीबी बैंक की स्थापना 1930 के दशक में की गई थी और इसका मुख्यालय मुंबई में है। इस बैंक द्वारा दी जाने वाली एफडी दरें इस प्रकार हैं: 

2 करोड़ रूपये से कम बचत वाले लोगों (60 साल से कम उम्र) के लिए18 महीने से लेकर 36 महीनों से कम तक 6.5 प्रतिशत है।
2 करोड़ रूपये से कम बचत वाले लोगों (60 साल से कम उम्र) के लिए 36-120 महीनों तक 6.5 प्रतिशत है।
2 करोड़ से कम बचत वाले वरिष्‍ठ नागरिकों के लिए:
12 महीनों के लिए 6.5 प्रतिशत
15 महीने से लेकर 18 महीनों से कम तक 6.6 प्रतिशत
18 महीने से लेकर 36 महीनों से कम तक 7 प्रतिशत
36—120 महीने के लिए 7.1 प्रतिशत

इन तीन निजी क्षेत्र के बैंकों के अलावा, कई अन्य छोटे बैंक हैं जो बैंक एफडी पर 6.5 प्रतिशत या उससे अधिक ब्याज दरों की पेशकश करते हैं। उनमें से कुछ बंधन बैंक, यस बैंक, डच बैंक, आईडीएफसी फर्स्ट बैंक, सूर्योदय स्मॉल फाइनेंस बैंक, उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक, करूर वैश्य बैंक और अन्य हैं।

भारत में विभिन्न अग्रणी बैंकों में सबसे अधिक दरों और उनमें निवेश करने के तरीकों के बारे में अधिक जानने के लिए, यहां क्लिक करें।

निष्कर्ष

आमतौर पर बैंकों द्वारा उच्च सावधि जमा ब्याज दरों की पेशकश इसलिए की जाती है ताकि नए ग्राहकों को अपने बैंक में नए खाते खोलने के लिए आकर्षित किया जा सके। यह जानना आवश्‍यक है कि भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) के सहायक, डिपॉज़िट इंश्‍योरेंस और क्रेडिट गारंटी कॉर्पोरेशन (DICGC), 5 लाख रुपये तक के निवेश (मूलधन + ब्‍याज) पर बैंक सावधि जमा (FD) पर रिटर्न की गारंटी देते हैं। 

M Stock

संवादपत्र

संबंधित लेख