क्या आप अपने निवेशों को घटाने का सोच रहे हैं ?यहां जानिये कि आपको क्या नहीं करना चाहिए| Thinking of cutting back on your investments? Here’s what not to do

जानिये कि अपनी वर्तमान आवश्यकताओं को पूरा करते हुए निवेश राशि को कैसे कम किया जाये जिससे कि आपकी भावी लक्ष्यों पर भी बुरा असर न पड़े |

क्या आप अपने निवेशों को घटाने का सोच रहे हैं ?यहां जानिये कि आपको क्या नहीं करना चाहिए

इस महामारी ने बहुत वित्तीय नुकसान पहुँचाया है ,जिससे लोग ज़रूरी चीज़ों,इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों,और ऐशो-आराम की चीज़ों पर कम खर्च करने के लिए मजबूर हो गए हैं। कई लोग बेरोजगार हो गए हैं और उनके पास आय का कोई स्त्रोत नहीं है। चीज़ें इतनी बदल गई है कि कुछ निवेशकों को अपनी मासिक निवेश योजनाओं को दोबारा जांचने की आवश्यकता हो गई है क्यूंकि उनके पास भविष्य में निवेश करने के लिए पैसे नहीं बचे हैं।

वर्तमान की स्थिति को देखते हुए,यह सलाहनीय है कि आप भविष्य से ज्यादा वर्तमान को प्राथमिकता दें। हालांकि,इस प्रक्रिया में आपको ये गलतियां नहीं करनी चाहिए।

  • आपके स्वास्थ कवर को बंद न करें: वर्तमान परिस्थिति में स्वास्थ बीमा सबके लिए प्राथमिकता बन चुकी है। कोविड ने करोड़ों लोगों की उम्र या उनकी पिछली स्वास्थ स्थिति की परवाह किये बिना,उन पर बुरा असर डाला है। इस वायरस ने कई दीर्घकालिक स्वास्थ जटिलताओं जैसे कि फेफड़े या हृदय की बीमारियों को परिणाम दिया है। इसलिए ,इस वक़्त स्वास्थ बीमा को हटाने से या उसे कम करने से ,बाद में ज्यादा खर्च का सामना करना पड़ सकता है। अस्पताल में भर्ती होने से और दवाइयों के खर्च से आपके वित्त में अच्छा-ख़ासा झटका लग सकता है। इसलिए, प्रीमियम राशि के बावजूद ,ध्यान रखें कि आप स्वास्थ योजना में कोई समझौता न करें।
  • अपनी जीवन बीमा बंद न करें :जीवन अप्रत्याशित होता है,इसलिए अपने परिवार की सुरक्षा को हर वक़्त दिमाग में रखना ज़रूरी है। जीवन बीमा योजना आपकी गैर मौजूदगी में ,आपके अपनों के लिए निश्चित रिटर्न प्रदान करता है। जीवन बीमा योजनाएं,जैसे कि निश्चित मासिक आय योजना से आपको बीमा के साथ-साथ सुरक्षित निवेश अवसर भी मिलते हैं।
  • निवेश को पूरी तरह से बंद न करें : यदि आप ऐसी स्थिति में हैं जहां आपके नियोक्ता वर्तमान की आर्थिक संकट के कारण आपके वेतन में कटौती कर रहे हैं ,तो आप फिर भी २०-३०-५० के नियम से निवेश जारी रख सकते हैं ,जहां आप हर माह के वेतन का २०% बचत या निवेश कर सकते हैं। आप इसी हिसाब से म्यूच्यूअल फंड में निवेश के लिए एक सीमा निर्धारित कर सकते हैं। इससे आपको अन्य खर्चों के लिए आसानी होगी।
  • गैर-ज़रूरी चीज़ों पर अधिक खर्च: ऐसे एसेट्स का निर्माण करें जिसकी कीमत समय के साथ बढे। इस समय में कार जैसे गिरावट वाली एसेट्स पर खर्च करने से बचें। याद रखें कि समय के साथ कार का मूल्य कम होगा। परन्तु यदि आप वही पैसा किसी म्यूच्यूअल फंड में निवेश करते हैं या रिटायरमेंट खाते में डालते हैं तो समय के साथ आपका पैसा बढ़ेगा और उच्च रिटर्न देगा। इसलिए, अपने खर्चों की प्राथमिकता सूचि बनाएं और गैर आवश्यक चीज़ों पर अभी अधिक खर्च न करें।

सम्बंधित: बजट पर निवेश करना: ५०,००० रुपये के मासिक वेतन में कैसे निवेश करें

करने योग्य चीज़ें

  • कंपनियों के कम जोखिम वाले स्टॉक्स पर निवेश करें : इस महामारी की स्थिति ने अर्थव्यवस्था को कम प्रदर्शन करने पर मजबूर किया है और बाजार को बाधित किया है। स्टॉक बाजार की अस्थिरता अभी तक के अपने सबसे उच्च स्तर पर है। इसलिए, थोड़ी बहुत कटौती करने में कोई हर्ज नहीं है यदि आपकी जोखिम क्षमता आपको बड़ी राशि निवेश करने की अनुमति नहीं देती है। हालांकि, बिलकुल भी निवेश न करने की बजाय ,शेयर बाजार में निवेश करने के लिए आपको एक निश्चित न्यूनतम राशि तय कर लेनी चाहिए। इससे आप पर अधिक भार आये बिना आपको बाज़ार के अवसरों का लाभ उठाने मिलता है। यह एक अच्छा समय है जिसमे आप अपना ध्यान उच्च जोखिम वाले स्टॉक से हटाकर पब्लिक प्रोविडेंट फंड ,राष्टीय पेंशन योजना,फिक्स्ड डिपाजिट जैसी सुरक्षित निवेश साधनों पर डालना शुरू कर सकें।
  • इक्विटी से डेब्ट की तरफ रुख करना : इक्विटी फंड उच्च रिटर्न प्रदान करती है ,पर उनमे जोखिम भी अधिक होते हैं। इस अनिश्चितता के समय में ,आपको अपने इक्विटीज में निवेशों को कम करनी चाहिए। हालांकि, अपने निवेश को पूरी तरह कम करने की जगह ,आप उस पैसे को डेब्ट फंड में डाल सकते हैं। उदाहरण के लिए, यदि आप इक्विटी फंड्स में १०,००० रुपये नहीं डाल सकते हैं ,तो कम से कम 5000 रुपये डेब्ट फंड या निश्चित आय वाले फंड में डालने का प्रयास करें।
  • अपनी वर्तमान और भविष्य की ज़रूरतों पर ध्यान दे : याद रखें कि एक म्यूच्यूअल फंड किसी बचत खाते से ज्यादा रिटर्न देता है। यदि आप अपना पैसा बचत खाते में जमा करते हैं तो आप एक वर्ष में लगभग ४-६% तक की ब्याज प्राप्त कर पाएंगे। यदि आप उतनी ही राशि को म्यूच्यूअल फंड में निवेश करते हैं ,तो आप उसी समय सीमा में उससे दोगुना या ज्यादा ब्याज पा सकते हैं। ध्यान रखें कि निवेश हमेशा जोखिमपूर्ण नहीं होता। आप अपनी जोखिम क्षमता को समायोजित कर अपनी ज़रूरत अनुसार एक अच्छी निवेश विकल्प का चयन कर सकते हैं।

सम्बंधित: कहाँ और कैसे मिलेनियल निवेश करते हैं ?

अंतिम पंक्तियाँ

अभी के समय में एक अच्छी निवेश योजना बहुत ज़रूरी हो सकती है। इसलिए, निवेश करना बंद न करें। एक विकल्प के रूप में, ऐसे बेहतर साधनों पर निवेश करें जो कम जोखिम और निश्चित रिटर्न देते हैं। निवेश जोखिम को कम करने के लिए ६ प्रायोगिक रणनीतियां।

संबंधित लेख