FM relaxes rules of LTC cash voucher scheme

एल.टी.सी. कैश वाउचर योजना के बिल को अपने जीवनसाथी या किसी आश्रित के नाम पर भी बनाया जा सकता है |

वित्तीय मंत्री ने एल.टी.सी. कैश वाउचर योजना में कुछ ढील दी है

इस कठिन वर्ष में थोड़ी राहत देने के लिए ,वित्तीय मंत्री ने एल.टी.सी. कैश वाउचर योजना के नियमों में थोड़ी छूट दी है | उन्होंने सभी केंद्रीय मंत्रालयों और विभागों को सलाह भी दी है कि वे दिवाली उत्सव के शुरू होने से पहले त्यौहार के एडवांस बाँट दे |

बदलावों में क्या शामिल है ?

वित्त मंत्रालय के व्यय विभाग ने स्पष्ट किया है कि अवकाश यात्रा रियायत (एल.टी.सी.) कैश वाउचर योजना के बिल को अपने जीवन साथी या किसी आश्रित के नाम पर भी बनाया जा सकता है | जब अक्टूबर 2020 में यह विशेष योजना पेश की गई थी, तो ऐसा कहा गया था कि प्रतिपूर्ति के वैध होने के लिए जो बिल या इनवॉइस जमा किया जाए, वो कर्मचारी के नाम पर ही होना आवश्यक है |

एक अलग विकास में, सभी केंद्रीय सरकार के कर्मचारियों को त्यौहार के एडवांस के अंतर्गत 10,000 रुपये तक के ऋण के लिए पात्र किया गया है| यह ऋण ब्याज मुक्त होगी और छुट्टियों के दौरान किसी भी खर्च के लिए उपयोग की जा सकेगी | ऋण राशि को रु-पे कार्ड ( जिसे उत्सव प्रीपेड कार्ड कहा जाता है ) में डाला जाएगा ,जिसे ऑफलाइन दुकानों पर या इ-कॉमर्स के वेबसाइट पर चीज़ें खरीदने के लिए उपयोग में लिया जा सकता है | ऋण को 10 इ.एम.आई में वसूला जाएगा | कर्मचारियों को उनके द्वारा खर्च किये गए पैसे वापस चुकाने होंगे,जबकि कोई भी बैलेंस (यदि हो) 31 मार्च,2021 के बाद रद्द हो जाएगी |

एल.टी.सी. कैश वाउचर योजना क्या है ?

कोविड -19 महामारी के कारण यात्राओं के बंद होने से, सरकार ने 20 अक्टूबर,2020 को अपने कर्मचारियों के लिए एल.टी.सी. कैश वाउचर योजना की घोषणा की थी | इस योजना में सरकारी कर्मचारियों को उनके एल.टी.सी. के कर छूट वाले हिस्से के बदले कुछ वस्तु एवं सेवाएं खरीदने की अनुमति दी गई है | यह उन्हें अभी भी कर छूट के पात्र होने में सक्षम बनाये रखेगा |

इसके शर्तों में निर्देशित किया गया है कि इस योजना का उपयोग करने वाले कर्मचारियों को किराये का 3 गुना और अवकाश नकदीकरण जितनी राशि को वस्तु या सेवा खरीदने में खर्च करना होगा | साथ ही, जो कुछ भी वो खरीदें उसमे 12 % या उससे ज्यादा की जी.एस.टी. होनी चाहिए | उन्हें 31 मार्च 2021 तक सभी खरीददारी करनी होगी | नकद भत्ते के सम्बन्ध में, प्रति व्यक्ति आवागमन के अनुमानित एल.टी.सी. किराये की जगह अधिकतम 36,000 रुपये तक की छूट दी जाएगी |

सभी रियायतों का लाभ उठाने के लिए, सभी ख़रीदियों को जी.एस.टी पंजीकृत विक्रेताओं द्वारा डिजिटल माध्यम से किया जाना चाहिए और वाउचरों में चुकाए गए जी.एस.टी राशि इंगित होनी चाहिए|

एल.टी.सी लाभ कौन उठा सकता है ?

एल.टी.सी कैश वाउचर योजना को शुरुआत में केंद्रीय सरकार के कर्मचारियों के लिए पेश किया गया था ,परन्तु अब आयकर विभाग ने इस रियायत का राज्य सरकारों और प्राइवेट क्षेत्रों में भी विस्तार किया है | 

संवादपत्र