आपके वित्तीय लक्ष्य क्या होने चाहिए और उसकी प्राथमिकता कैसे तय करें?

वित्तीय लक्ष्यों को निर्धारित करना और प्राथमिकता तय करना, किसी के लिए भी मुश्किल काम हो सकता है। यह लेख आपको इस काम में शामिल विभिन्न चरणों के माध्यम से मार्गदर्शन करेगा, जिससे आपका काम आसान हो जाएगा।

आपके वित्तीय लक्ष्य क्या होने चाहिए

वित्तीय स्वतंत्रता सुनिश्चित करने के लिए वित्तीय लक्ष्य निर्धारित करना सबसे जरूरी काम है। आपको ऐसा लग सकता है कि आपके पास कुछ समय के लिए पर्याप्त पैसे हैं। लेकिन, वर्तमान और भविष्य की जरूरतों को पूरे करने के लिए वित्तीय लक्ष्य तैयार करना बहुत जरूरी है।

वित्तीय प्रबंधन का प्राथमिक लक्ष्य क्या होता है? इसका मुख्य उद्देश्य होता है एक समग्र वित्तीय योजना बनाना, जो आपके मूल्यों और लक्ष्यों के साथ तालमेल रखता हो। वित्तीय प्रबंधन के लक्ष्य विशिष्ट और गणना करने योग्य होने चाहिए। इस लेख में, हम आपको आपके वित्तीय लक्ष्यों को प्राथमिकता तय करने के लिए आवश्यक कदमों के बारे में बताएंगे।

शुरू करना

सबसे पहले आप जीवन में पूर्ण और सुरक्षित महसूस करने के लिए उन सभी चीजों की एक सूची बनाएं, जो आपके पास होनी चाहिए। ये जरूरतें कुछ भी हो सकती हैं, नई कार खरीदने से लेकर अपने सामाजिक जीवन को बेहतर बनाने तक की जरूरत। एक बार जब आपको जीवन से आप क्या चाहते हैं, इस बारे में साफ साफ पता चल जाए, तो आपको लक्ष्यों को दो अलग-अलग श्रेणियों - वित्तीय और गैर-वित्तीय में बांटने की जरूरत होती है।

गैर-वित्तीय लक्ष्य

कई बार गैर-वित्तीय लक्ष्य भी आपकी आर्थिक मदद कर सकते हैं। उदाहरण के लिए, हर वीकेंड पर आउटिंग पर पैसा खर्च करने के बजाय, आप अपने दोस्तों के साथ घर पर मूवी नाइट या गेम्स नाइट प्लान कर सकते हैं।

वित्तीय लक्ष्य

वित्तीय लक्ष्य विशिष्ट, हासिल करने योग्य, समयबद्ध, गणना करने योग्य और प्रासंगिक लक्ष्य होते हैं, जो आपको जीवन के लिए आपके दृष्टिकोण को साकार करने में सक्षम बनाते हैं। चूंकि हर कोई अलग होता है, इसलिए अलग-अलग लोगों के लिए ये लक्ष्य अलग-अलग हो सकते हैं। यहां कुछ लोकप्रिय उदाहरण दिए गए हैं:

  • दीर्घावधि तक देखभाल
  • दान पुण्य
  • कोई कारोबार शुरू करना
  • सुरक्षा तंत्र
  • कॉलेज/उच्च अध्ययन
  • सेवानिवृत्ति
  • घर को फिर से तैयार करना 

संबंधित: स्मार्ट वित्तीय लक्ष्य निर्धारित करने और उसकी प्रगति पर आसानी से नजर रखने की टिप्स

अपने वित्तीय लक्ष्यों की प्राथमिकता तय करें 

किसी की भी हर महीने असीमित कमाई हो, इसकी संभावना ज्यादा नहीं है। आप चाहे कितना भी कमा लें, बेहतर होगा कि इसे पूरा खर्च नहीं करें। ध्यान से खर्च करके और अपनी जरूरत और कमाई के मुताबिक वित्तीय निवेश योजना तैयार करके अपने नकदी प्रवाह का प्रबंधन करना जरूरी है।

वित्तीय लक्ष्य निर्धारित करना अभी शुरुआत है; आपको अपने लक्ष्यों की प्राथमिकता तय करने के बारे में भी स्पष्ट होना चाहिए। आप तीन अलग-अलग मापदंडों के आधार पर वित्तीय लक्ष्यों को प्राथमिकता दे सकते हैं - महत्व, समय सीमा और पैसों की उपलब्धता।

महत्व के आधार पर

वित्तीय लक्ष्य के महत्व को समझना आसान है। आपको खुद से यह पूछना चाहिए कि क्या कुछ लक्ष्य ऐसा हो सकता है, जिसके बिना आपका काम चल सकता है या नहीं। इसके लिए आपको अपने सभी लक्ष्यों के नफा और नुकसान का मूल्यांकन करने की आवश्यकता हो सकती है। उदाहरण के लिए, कल्पना करें कि आप अपने आप को ऐसी स्थिति में पाते हैं जहां आप अपनी सेवानिवृत्ति या अपने बच्चे की उच्च शिक्षा के लिए पैसे अलग रख सकते हैं।

कुछ लोगों के लिए, एक सेवानिवृत्ति योजना अधिक महत्वपूर्ण हो सकती है क्योंकि उनकी भविष्य में देखभाल करने वाला कोई नहीं है। आखिरकार, छात्र शैक्षिक ऋण के लिए आवेदन करने के पात्र हैं, लेकिन सेवानिवृत्ति के माध्यम से लोगों की मदद करने के लिए ऐसा कोई विशिष्ट ऋण नहीं है। इसके विपरीत, अन्य लोग अपने बच्चे की शिक्षा पर खर्च करना पसंद कर सकते हैं, क्योंकि उनके पास पहले से ही एक सुरक्षा कवर है या उनके सेवानिवृत्त होने के बाद उनकी देखभाल करने वाला कोई है।

लक्ष्यों को उन चीजों में वर्गीकृत करने की प्रक्रिया 

जिनकी आपको जरूरत है और जिन चीज़ों के बिना आप रह सकते हैं, प्रत्येक व्यक्ति के लिए व्यक्तिगत है। अपने आप से निर्णायक प्रश्न पूछते रहिये, जिससे प्राथमिकता तय करना बहुत आसान हो जाएगा। 

समय सीमा के आधार पर

जब आप समय सीमा के आधार पर अपने लक्ष्यों की प्राथमिकता तय करते हैं, तो उन्हें तीन श्रेणियों में बांटा जा सकता है- अल्पकालिक, मध्यम अवधि और दीर्घकालिक।

·     अल्पकालिक वित्तीय लक्ष्य

अल्पकालिक वित्तीय लक्ष्यों का उद्देश्य आपको बड़े लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए आवश्यक ज्ञान और आत्मविश्वास प्रदान करना है। ये लक्ष्य आसान होते हैं - जैसे बजट बनाना, खर्च करने की आदतों को समायोजित करना, या आपातकालीन निधि बनाना।

किसी भी निवेश सलाहकार या एक वित्तीय परामर्शदाता के पास पहुंचकर गंभीर और कार्रवाई योग्य अल्पकालिक लक्ष्यों को स्थापित करने का सबसे अच्छा तरीका है। एक पेशेवर वित्तीय लक्ष्य योजनाकार आपकी प्राथमिकताओं को हल करने और एक ठोस योजना बनाने में आपकी मदद कर सकता है।

·     मध्यम अवधि के वित्तीय लक्ष्य

मध्यम अवधि के वित्तीय लक्ष्य या मध्यवर्ती वित्तीय लक्ष्य, आपके अल्पकालिक और दीर्घकालिक लक्ष्यों के बीच एक सेतु स्थापित करने के लिए होते हैं। इस तरह के लक्ष्यों में शादी के लिए भुगतान करना, महत्वपूर्ण डाउन पेमेंट के लिए बचत करना या भारी छात्र ऋण का भुगतान करना शामिल हो सकता है।

एक बार जब आप अपने मध्यावधि लक्ष्यों को निर्धारित कर लेते हैं, तो आपको योजना बनाने की आवश्यकता होती है कि उन्हें पूरा करने के लिए आपको कितनी बचत करनी होगी। आपकी वर्तमान खर्च करने की आदतें इस बिंदु पर एक महत्वपूर्ण हो सकती है। 

·     लंबी अवधि के वित्तीय लक्ष्य

हम में से लगभग सभी के लिए अंतिम दीर्घकालिक वित्तीय लक्ष्य आराम से सेवानिवृत्त होना है। मानिये या नहीं मानिये, सेवानिवृत्ति के लिए योजना बनाने की शुरुआत कभी भी कर सकते हैं। यहां तक कि अगर आपने केवल कुछ महीनों के लिए योजना बनाई है, तो भी आपको लंबी अवधि के लिए योजना बनाना शुरू कर देना चाहिए। अन्य सामान्य दीर्घकालिक लक्ष्य किसी भी गिरवी रखे सामान का भुगतान करना, विदेश यात्रा पर जाना या ऋण-मुक्त रहना हो सकता है।

संबंधित:  लंबी अवधि के वित्तीय लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए 9-बिंदु मार्गदर्शिका

पैसों की उपलब्धता के आधार पर

अंत में, एक निश्चित समय पर आपके लिए उपलब्ध पैसों के आधार पर अपने वित्तीय लक्ष्यों को प्राथमिकता देना सबसे अच्छा होगा। उदाहरण के लिए, आप एक ही समय में एक भव्य शादी समारोह का आयोजन करने और एक भारी गिरवी का भुगतान करने की योजना बना सकते हैं। इसके लिए सबसे पहले आपको अपनी वित्तीय स्थिति का आकलन करने और आपके पास उपलब्ध पैसों को ध्यान में रखने की जरूरत है। आपका बजट आपको एक समय में केवल एक लक्ष्य के लिए भुगतान करने की अनुमति दे सकता है।

आखिरी शब्द

वित्तीय प्रबंधन, निस्संदेह, सभी के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है, चाहे वह किसी भी उम्र और लिंग का हो। जैसे ही आप कमाई करना शुरू करते हैं, आपको अपने वित्तीय लक्ष्य निर्धारित करने और उस दिशा में काम करने की आवश्यकता है। अपनी प्राथमिकताओं को समझे बिना आंख बंद करके लक्ष्य निर्धारित करना नुकसान पहुंचा सकता है। इसलिए, विभिन्न मापदंडों के आधार पर अपने लक्ष्यों की प्राथमिकता तय करें। 

संबंधित: यूलिप लंबी अवधि के लक्ष्यों को पूरा करने में कैसे मदद कर सकता है

वित्तीय लक्ष्यों को प्राथमिकता देना पैसों के स्वस्थ प्रबंधन की कुंजी है। किसी पेशेवर से सलाह लें और अपने वर्तमान और भविष्य को सुरक्षित करने के लिए एक योजना बनाएं।

वित्तीय स्वतंत्रता सुनिश्चित करने के लिए वित्तीय लक्ष्य निर्धारित करना सबसे जरूरी काम है। आपको ऐसा लग सकता है कि आपके पास कुछ समय के लिए पर्याप्त पैसे हैं। लेकिन, वर्तमान और भविष्य की जरूरतों को पूरे करने के लिए वित्तीय लक्ष्य तैयार करना बहुत जरूरी है।

वित्तीय प्रबंधन का प्राथमिक लक्ष्य क्या होता है? इसका मुख्य उद्देश्य होता है एक समग्र वित्तीय योजना बनाना, जो आपके मूल्यों और लक्ष्यों के साथ तालमेल रखता हो। वित्तीय प्रबंधन के लक्ष्य विशिष्ट और गणना करने योग्य होने चाहिए। इस लेख में, हम आपको आपके वित्तीय लक्ष्यों को प्राथमिकता तय करने के लिए आवश्यक कदमों के बारे में बताएंगे।

शुरू करना

सबसे पहले आप जीवन में पूर्ण और सुरक्षित महसूस करने के लिए उन सभी चीजों की एक सूची बनाएं, जो आपके पास होनी चाहिए। ये जरूरतें कुछ भी हो सकती हैं, नई कार खरीदने से लेकर अपने सामाजिक जीवन को बेहतर बनाने तक की जरूरत। एक बार जब आपको जीवन से आप क्या चाहते हैं, इस बारे में साफ साफ पता चल जाए, तो आपको लक्ष्यों को दो अलग-अलग श्रेणियों - वित्तीय और गैर-वित्तीय में बांटने की जरूरत होती है।

गैर-वित्तीय लक्ष्य

कई बार गैर-वित्तीय लक्ष्य भी आपकी आर्थिक मदद कर सकते हैं। उदाहरण के लिए, हर वीकेंड पर आउटिंग पर पैसा खर्च करने के बजाय, आप अपने दोस्तों के साथ घर पर मूवी नाइट या गेम्स नाइट प्लान कर सकते हैं।

वित्तीय लक्ष्य

वित्तीय लक्ष्य विशिष्ट, हासिल करने योग्य, समयबद्ध, गणना करने योग्य और प्रासंगिक लक्ष्य होते हैं, जो आपको जीवन के लिए आपके दृष्टिकोण को साकार करने में सक्षम बनाते हैं। चूंकि हर कोई अलग होता है, इसलिए अलग-अलग लोगों के लिए ये लक्ष्य अलग-अलग हो सकते हैं। यहां कुछ लोकप्रिय उदाहरण दिए गए हैं:

  • दीर्घावधि तक देखभाल
  • दान पुण्य
  • कोई कारोबार शुरू करना
  • सुरक्षा तंत्र
  • कॉलेज/उच्च अध्ययन
  • सेवानिवृत्ति
  • घर को फिर से तैयार करना 

संबंधित: स्मार्ट वित्तीय लक्ष्य निर्धारित करने और उसकी प्रगति पर आसानी से नजर रखने की टिप्स

अपने वित्तीय लक्ष्यों की प्राथमिकता तय करें 

किसी की भी हर महीने असीमित कमाई हो, इसकी संभावना ज्यादा नहीं है। आप चाहे कितना भी कमा लें, बेहतर होगा कि इसे पूरा खर्च नहीं करें। ध्यान से खर्च करके और अपनी जरूरत और कमाई के मुताबिक वित्तीय निवेश योजना तैयार करके अपने नकदी प्रवाह का प्रबंधन करना जरूरी है।

वित्तीय लक्ष्य निर्धारित करना अभी शुरुआत है; आपको अपने लक्ष्यों की प्राथमिकता तय करने के बारे में भी स्पष्ट होना चाहिए। आप तीन अलग-अलग मापदंडों के आधार पर वित्तीय लक्ष्यों को प्राथमिकता दे सकते हैं - महत्व, समय सीमा और पैसों की उपलब्धता।

महत्व के आधार पर

वित्तीय लक्ष्य के महत्व को समझना आसान है। आपको खुद से यह पूछना चाहिए कि क्या कुछ लक्ष्य ऐसा हो सकता है, जिसके बिना आपका काम चल सकता है या नहीं। इसके लिए आपको अपने सभी लक्ष्यों के नफा और नुकसान का मूल्यांकन करने की आवश्यकता हो सकती है। उदाहरण के लिए, कल्पना करें कि आप अपने आप को ऐसी स्थिति में पाते हैं जहां आप अपनी सेवानिवृत्ति या अपने बच्चे की उच्च शिक्षा के लिए पैसे अलग रख सकते हैं।

कुछ लोगों के लिए, एक सेवानिवृत्ति योजना अधिक महत्वपूर्ण हो सकती है क्योंकि उनकी भविष्य में देखभाल करने वाला कोई नहीं है। आखिरकार, छात्र शैक्षिक ऋण के लिए आवेदन करने के पात्र हैं, लेकिन सेवानिवृत्ति के माध्यम से लोगों की मदद करने के लिए ऐसा कोई विशिष्ट ऋण नहीं है। इसके विपरीत, अन्य लोग अपने बच्चे की शिक्षा पर खर्च करना पसंद कर सकते हैं, क्योंकि उनके पास पहले से ही एक सुरक्षा कवर है या उनके सेवानिवृत्त होने के बाद उनकी देखभाल करने वाला कोई है।

लक्ष्यों को उन चीजों में वर्गीकृत करने की प्रक्रिया 

जिनकी आपको जरूरत है और जिन चीज़ों के बिना आप रह सकते हैं, प्रत्येक व्यक्ति के लिए व्यक्तिगत है। अपने आप से निर्णायक प्रश्न पूछते रहिये, जिससे प्राथमिकता तय करना बहुत आसान हो जाएगा। 

समय सीमा के आधार पर

जब आप समय सीमा के आधार पर अपने लक्ष्यों की प्राथमिकता तय करते हैं, तो उन्हें तीन श्रेणियों में बांटा जा सकता है- अल्पकालिक, मध्यम अवधि और दीर्घकालिक।

·     अल्पकालिक वित्तीय लक्ष्य

अल्पकालिक वित्तीय लक्ष्यों का उद्देश्य आपको बड़े लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए आवश्यक ज्ञान और आत्मविश्वास प्रदान करना है। ये लक्ष्य आसान होते हैं - जैसे बजट बनाना, खर्च करने की आदतों को समायोजित करना, या आपातकालीन निधि बनाना।

किसी भी निवेश सलाहकार या एक वित्तीय परामर्शदाता के पास पहुंचकर गंभीर और कार्रवाई योग्य अल्पकालिक लक्ष्यों को स्थापित करने का सबसे अच्छा तरीका है। एक पेशेवर वित्तीय लक्ष्य योजनाकार आपकी प्राथमिकताओं को हल करने और एक ठोस योजना बनाने में आपकी मदद कर सकता है।

·     मध्यम अवधि के वित्तीय लक्ष्य

मध्यम अवधि के वित्तीय लक्ष्य या मध्यवर्ती वित्तीय लक्ष्य, आपके अल्पकालिक और दीर्घकालिक लक्ष्यों के बीच एक सेतु स्थापित करने के लिए होते हैं। इस तरह के लक्ष्यों में शादी के लिए भुगतान करना, महत्वपूर्ण डाउन पेमेंट के लिए बचत करना या भारी छात्र ऋण का भुगतान करना शामिल हो सकता है।

एक बार जब आप अपने मध्यावधि लक्ष्यों को निर्धारित कर लेते हैं, तो आपको योजना बनाने की आवश्यकता होती है कि उन्हें पूरा करने के लिए आपको कितनी बचत करनी होगी। आपकी वर्तमान खर्च करने की आदतें इस बिंदु पर एक महत्वपूर्ण हो सकती है। 

·     लंबी अवधि के वित्तीय लक्ष्य

हम में से लगभग सभी के लिए अंतिम दीर्घकालिक वित्तीय लक्ष्य आराम से सेवानिवृत्त होना है। मानिये या नहीं मानिये, सेवानिवृत्ति के लिए योजना बनाने की शुरुआत कभी भी कर सकते हैं। यहां तक कि अगर आपने केवल कुछ महीनों के लिए योजना बनाई है, तो भी आपको लंबी अवधि के लिए योजना बनाना शुरू कर देना चाहिए। अन्य सामान्य दीर्घकालिक लक्ष्य किसी भी गिरवी रखे सामान का भुगतान करना, विदेश यात्रा पर जाना या ऋण-मुक्त रहना हो सकता है।

संबंधित:  लंबी अवधि के वित्तीय लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए 9-बिंदु मार्गदर्शिका

पैसों की उपलब्धता के आधार पर

अंत में, एक निश्चित समय पर आपके लिए उपलब्ध पैसों के आधार पर अपने वित्तीय लक्ष्यों को प्राथमिकता देना सबसे अच्छा होगा। उदाहरण के लिए, आप एक ही समय में एक भव्य शादी समारोह का आयोजन करने और एक भारी गिरवी का भुगतान करने की योजना बना सकते हैं। इसके लिए सबसे पहले आपको अपनी वित्तीय स्थिति का आकलन करने और आपके पास उपलब्ध पैसों को ध्यान में रखने की जरूरत है। आपका बजट आपको एक समय में केवल एक लक्ष्य के लिए भुगतान करने की अनुमति दे सकता है।

आखिरी शब्द

वित्तीय प्रबंधन, निस्संदेह, सभी के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है, चाहे वह किसी भी उम्र और लिंग का हो। जैसे ही आप कमाई करना शुरू करते हैं, आपको अपने वित्तीय लक्ष्य निर्धारित करने और उस दिशा में काम करने की आवश्यकता है। अपनी प्राथमिकताओं को समझे बिना आंख बंद करके लक्ष्य निर्धारित करना नुकसान पहुंचा सकता है। इसलिए, विभिन्न मापदंडों के आधार पर अपने लक्ष्यों की प्राथमिकता तय करें। 

संबंधित: यूलिप लंबी अवधि के लक्ष्यों को पूरा करने में कैसे मदद कर सकता है

वित्तीय लक्ष्यों को प्राथमिकता देना पैसों के स्वस्थ प्रबंधन की कुंजी है। किसी पेशेवर से सलाह लें और अपने वर्तमान और भविष्य को सुरक्षित करने के लिए एक योजना बनाएं।

Expert Article block example

संवादपत्र

संबंधित लेख