TomorrowMakers

अगर आप वसीयत बनाने की प्रक्रिया जटिल होने की वजह से इसे बनाने से बच रहे हैं, तो आपके लिए इन बातों को जानना जरूरी है।

Where There Is a Way, There Can Be a Will

अगर आप किसी से पूछेंगे कि क्या आपने वसीयत बनाई है तो और ज्यादातर लोग यही जवाब देंगे उनको फिलहाल वसीयत की जरूरत नहीं है। अनुमान है कि 80 फीसदी भारतीय वसीयत नहीं बनाते हैं। वसीयत बनाने में ढिलाई के पीछे कई वजहें हैं। इसमें से कुछ मुख्य वजहें ये हैं: 

  • मेरा कोई वकील नहीं है....वसीयत बनाना झंझट का काम है।
  • मैंने अपने जीवनसाथी और बच्चों को अपनी इच्छाओं के बारे में बता दिया है और ये काफी है।
  • अभी वसीयत के बारे में सोचने का वक्त नहीं आया है। 

फ्री आईविल बुकलेट को डाउनलोड करें

हम सभी ने कभी न कभी ऐसे किस्से के बारे में सुना ही होगा जिसमें कोई व्यक्ति की बिना वसीयत बनाए ही मृत्यु होने के बाद पारिवारिक मुश्किलें बढ़ीं हों। सच्चाई ये है कि वसीयत बनाने के कई फायदे हैं।
वसीयत बनाने के लिए पूरी संपत्ति की एक संगठित सूची बनाना जरूरी है। ये उन लोगों के लिए फायदेमंद है जिन्होंने अपनी संपत्ति की ठीक से रिकॉर्ड नहीं बनाया हुआ है।
अगर आपका कारोबार है तो वसीयत होने से कारोबार की मल्कियत के परिवर्तन में आसानी होगी। वसीयत से आपके वारिसों के हित का संरक्षण होता है या फिर अगर आप किसी और संपत्ति देना चाहते हैं तो उसे आपके वारिसों से संरक्षण मिलेगा।
वसीयत से जिम्मेदारियों का भी बटवारा होता है, आप बता सकते हैं कि आपकी मृत्यु के बार कौन किसकी जिम्मेदारी उठाएगा।
अगर हम आपको बताएं वसीयत बनाने का एक आसान और वर्चुअल तरीका भी है? इसके लिए आपको सिर्फ अपनी संपत्ति की संगठित सूची की जरूरत है और बस एक आसान कागजात भरना होगा। एगॉन लाइफ का आईविल एक आसान, संशोधन योग्य और कस्टमाइज्ड ई-बुक है जिसमें वसीयत बनाने का कानूनी प्रारूप दिया गया है और इसकी मदद से आप बिना खर्च के वसीयत बना सकते हैं।

क्यों आपको आईविल पर गौर देना चाहिए?
आईविल सरल और परेशानी के बिना वसीयत बनाने के तरीका होने के साथ ही फॉर्म में सभी अहम शामिल हैं जैसे –

  • बयान कि ये आपकी आधिकारिक अंतिम इच्छा और वसीयतनामा है। यहां आपको बस दी गई खाली जगहों में अपनी जानकारी भरनी होती है। 
  • संपत्ति की संगठित सूची: इस संशोधन योग्य अनुभाग में आप अपने बैंक खातों, निवेश, स्वामित्व वाली संपत्ति, फिक्स्ड डिपॉजिट, गहने, क्लब की सदस्यता, डिजिटल संपत्ति और बाकी दूसरी संपत्ति की जानकारी भर सकते हैं।
  • देनदारी की संगठित सूची: इस संशोधन योग्य अनुभाग में आप कर्ज, क्रेडिट कार्ड, निजी कर्ज और बाकी देनदारी की जानकारी भर सकते हैं।
  • बयान की उपरोक्त सभी संपत्ति आपकी अपनी हैं और उनपर किसी और का दावा नहीं है।
  • वसीयत के निष्पादक (जो आपकी मुत्यु के बाद आपकी संपत्ति का प्रबंधन करेगा) की नियुक्ति की जानकारी और निष्पादक का नाम और पता।

फ्री आईविल बुकलेट को डाउनलोड करें

निष्पादक को प्राधिकार देना

  • आपकी इच्छानुसार अंतिम संस्कार का इंतजाम करना
  • संपत्ति को जमा करना, देनदारी का निपटारा करना और इसके लिए होने वाला खर्च
  • वसीयत संप्रमाण हासिल करना (एक कानूनी प्रक्रिया जिसमें वसीयत को अदालत में प्रमाणित किया जाता है और उसे वैध सार्वजनिक दस्तावेज के रूप में स्वीकार किया जाता है) और इसके लिए होने वाला खर्च
  • आप और आपके गवाहों से संबंधित

आपकी इच्छानुसार संपत्ति के बंटवारे का बयान
नाबालिग वारिस होने पर कानूनी अभिभावक या मुख्य निष्पादक के अक्षम होने की स्थिति में वैकल्पिक निष्पादक की नियुक्ति का बयान

आईविल में अनुबंध 1 भी शामिल है जिसमें विशिष्ट उत्तरदान (जैसे अपनी दूसरी बेटी के नाम प्राचीन वस्तुओं का संग्रह करना) की जानकारी भर सकते हैं। आप कई व्यक्तिओं में संपत्ति के बंटवारे के अनुपात को लेकर भी विवरण दे सकते हैं। 

फ्री आईविल बुकलेट को डाउनलोड करें

आप वसीयत बनाने की प्रक्रिया अभी इसी वक्त शुरू कर सकते हैं। 
बस आपको आईविल डाउनलोड करके सरल फॉर्म को पढ़ना होगा। आपके मन में कोई सवाल हो तो आपको उसका जवाब बुकलेट में शामिल एफएक्यू में मिल जाएगा। तो फिर वसीयत न बनाने के लिए कोई वजह बाकी ही नहीं रह गई। वसीयत एक अहम कानूनी दस्तावेज है जो आपकी मृत्यु के बाद मुश्किल भरे वक्त में आपके प्रियजनों को मानसिक शांति देता है और साथ ही उनको मिलने वाली विरासत को भी सुरक्षित रखता है। 
वसीयत बनाने के लिए आईविल एक सरल और तेज तरीका है, जिससे आप भविष्य के मामलों के निपटारे को लेकर सुनिश्चित हो सकते हैं। आप वसीयत बनाने के परेशानी मुक्त इस अनुभव को अपने परिवारजनों और दोस्तों को भी बताएं और उन्हें इसे इस्तेमाल करने के लिए प्रोत्साहित करें। 
“एगॉन लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड (पहले नाम एगॉन रेलिगेयर लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड था) एगॉन, अंतर्राष्ट्रीय कंपनी है जो जीवन बीमा, पेंशन और एसेट मैनेजमेंट की सेवाएं मुहैया कराती है और बेनेट, कोलमैन एंड कंपनी (द टाइम्स ऑफ इंडिया ग्रुप), देश का सबसे बड़ा मीडिया संस्थान, के बीच ज्वाइंट वेंचर है। एगॉन लाइफ इंश्योरेंस देश में सबसे पहले डिजिटल प्लैटफॉर्म पर आने वाली जीवन बीमा कंपनियों में से एक है। एगॉन लाइफ इंश्योरेंस ऐसी बीमा कंपनी है जो ऑनलाइन प्लैटफॉर्म की मदद से आकर्षक और व्यक्तिगत तरीके से ग्राहकों तक पहुंचती है। कंपनी की ग्राहक संबंधी पहल में आईकेयर, आईएंगेज, आईएलर्ट, एगॉन लाइफ टाइम्स न्यूजलेटर और स्वास्थ्य और चुस्ती-फुर्ती से संबंधित फेसबुक लाइव सेशन शामिल हैं।“

डिस्क्लेमर: यह लेख सिर्फ सामान्य जानकारी उद्देश्य के लिए है और इसे निवेश, बीमा, कर या कानूनी सलाह के रूप में नहीं समझा जाना चाहिए। इन क्षेत्रों से संबंधित निर्णय लेने के पहले विशेषज्ञों से स्वतंत्र सलाह प्राप्त करें। 

संबंधित लेख