यहाँ एक महिला के रूप में खुद की देखभाल करने का तरीका बताया गया है

आखिरी बार आपने अपने लिए फूल कब खरीदे थे? आप एक आदमी की प्रतीक्षा किए बिना ऐसा और बहुत कुछ कर सकते हैं!

यहाँ एक महिला के रूप में खुद की देखभाल करने का तरीका बताया गया है

बड़े होने के दौरान, आपने अक्सर वर्णन सुना होगा कि एक महिला को हमेशा एक पुरुष की ज़रूरत होती है। आपके पास एक भाई होता है, आपकी रक्षा करने के लिए, एक पिता और फिर एक पति आपको एक नाम देने के लिए, और एक बेटा परिवार के वंश को आगे ले जाने के लिए। हां, ऐसे पितृसत्तात्मक विश्वास समस्यात्मक हो सकते हैं। इसलिए नहीं कि पिता, भाई, पति और बेटे हमारे जीवन में महत्वपूर्ण भूमिका नहीं निभाते - वे निभाते हैं। लेकिन फिर, माताएं, बहनें और बेटियां भी यह करते हैं।

मनुष्य सामाजिक प्राणी है। हमें अपने आस-पास ऐसे लोगों की आवश्यकता है जो हमारी भलाई की परवाह करते हैं और हमारे विकास और खुशी में हमारी मदद करते हैं। लेकिन पुरुषों को रक्षक और प्रदाता की अनन्य भूमिका सौंपना और महिलाओं को निष्क्रिय पालक-पोषक कि भूमिका देना, दोनों लिंगों के लिए हानिकारक है।

स्वास्थ्य, भावनात्मक और मानसिक कल्याण और आंतरिक शांति की बात करते समय आपका सबसे पहला कर्तव्य स्वयं के लिए होना चाहिए। जब किसी के पास आत्मनिर्भर और स्वाभिमानी नींव होती है तभी उन्हें दूसरों की देखभाल कर सकते हैं। महिलाओं को पढ़ाने वाले समाज के लिए यह देखना असामान्य नहीं है कि यदि वे एक पत्नी और माँ नहीं हैं, तो वे अधूरे हैं और अपने अस्तित्व में कुछ मुख्य भूमिका खो दे रहे हैं।

विवाह और मातृत्व सुंदर चीजें हो सकती हैं, लेकिन यह एक बहुत ही व्यक्तिगत विकल्प है और इसे महिलाओं के लिए एक कठोर और ज़रूरी भूमिका के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए।

इन दिनों अधिक से अधिक युवा महिलाओं को लगातार रिश्ते में रहने का दबाव महसूस होता है। उनमें से कुछ ने कभी भी किसी महत्वपूर्ण समय का एहसास नहीं किया जब वे एकल रहे - यह उनके लिए अकल्पनीय लगता है! वैलेंटाइन डे पर छोटी चीज़ों से प्यार जताने से लेकर किसी के साथ यात्रा करने या नई चीज़ों को आज़माने के लिए, वे लोग अपने जीवन में खुशी के लिए एक साथी को ज़रूरत के रूप में देखते हैं।

जाहिर है, यह सच या ठीक नहीं है। किसी भी उम्र की एक महिला को और जीवन के किसी भी पड़ाव पर, चाहे वह एकल माँ हो, युवा कामकाजी महिला या विधवा हो, वे पूरी खुशहाल और सार्थक जीवन जी सकती है। उन्हें बस अपनी थोड़ी अतिरिक्त देखभाल करने के लिए थोड़ा और विवेकपूर्ण होने की ज़रूरत है।

आइए कुछ बातों पर ध्यान दें, जो आपको एक महिला के रूप में अपने लिए करनी चाहिए:

अ) यदि आप अपने 20 और 30 के दशक में हैं

हो सकता है कि आपको शादी करने की कोई जल्दी नहीं हो, या शायद आप कभी भी शादी नहीं करना चाहते होंगे। किसी भी तरह से, आपको अपने लिए एक अच्छे जीवन के निर्माण करने में कोई लापरवाही नहीं करनी चाहिए। यहाँ कुछ चीजें दी गई हैं जो आपको करनी चाहिए:

  • आप जिस तरह का जीवन जीना चाहते हैं, उसका निर्णय कर लें

यह एक बार का सवाल नहीं है, यह कुछ ऐसा सवाल है जो आपको समय लेकर अच्छी तरह से सोचना होगा। आपके लिए कौन सी नौकरी सही है? आपको कुछ ऐसा ढूंढ़ना चाहिए जिसमें आप कुशल हो, जिसे करने में आनंद आये, और अच्छी तरह से कमाया भी जाये ताकि आप खुद को आर्थिक रूप से खड़ा कर सकें। आप कहां रहना चाहते हैं? आपके व्यक्तिगत लक्ष्य, जुनूनी परियोजनाएं, शौक क्या हैं? वर्तमान में आप अपने जीवन के किन पहलुओं से प्यार करते हैं और किसके आप बदलने की प्रतीक्षा नहीं कर सकते? क्या आप उच्च शिक्षा प्राप्त करना चाहेंगे? इन सवालों का जवाब देते समय, खुद के प्रति ईमानदार रहें।

  • अपने वित्त पर नियंत्रण रखें

धन में शक्ति है। हालाँकि, पैसा कमाना पर्याप्त नहीं है - आपको यह भी पता होना चाहिए कि इसे कैसे संभाला जाए। व्यक्तिगत वित्त की दो मूल बातें हैं: एक बजट बनाना और एक आपातकालीन निधि का निर्माण करना। ऐसी नीतियों से भयभीत न हों; इसका मतलब यह है कि आपको अपने पैसे का सर्वोत्तम तरीके से उपयोग करना चाहिए। एक बजट आपकी आय की तुलना में आपके मासिक खर्चों की एक सूची है। एक आपातकालीन निधि आपके 6-9 महीनों के रहने के खर्च के बराबर की धनराशि है, जिसे आप ऐसी जगह पर रखते है, जो कि जरूरत पड़ने पर आसानी से सुलभ हो। यह फिक्स्ड डिपॉजिट या एक उच्च-ब्याज अर्जन बचत खाता हो सकता है।

  • स्वयं के संगत का आनंद लेना सीखें

आपके पास जीने के लिए केवल एक जीवन है। इसलिए बैकपैकिंग जाओ, नए रेस्तरां आज़माओ, एक नया कौशल सीखो, एक अनोखे शौक में लिप्त हो। अगर आपके पास अपने जैसे विचारधारा वाले मित्र नहीं हैं तो भी ऐसी चीजें करें। इसे सफलतापूर्वक करने के लिए, आपको अपनी संगत में खुश रहना और सहज होना सीखना चाहिए। शुरुआत में, यह अजीब लग सकता है क्योंकि हम महिलाओं को स्वतंत्र रूप से जीना सिखाया नहीं जाता है। लेकिन आप जल्दी महसूस करेंगे कि यह वास्तव में कितना सशक्त, मुक्त और शांतिपूर्ण है। लेकिन आपको शुरुआत के लिए, अपने सुविधा क्षेत्र से बाहर जाने की जरूरत नहीं है; हो सकता है कि आप थिएटर में अकेले फिल्म देखकर चीजों को बदल सकते हैं।

ब) यदि आप एकल माँ हैं

पेरेंटिंग कभी भी आसान नहीं होती है। अकेले सब कुछ करना इसे और कठिन स्तर पर ले जाता है। एकल माताओं, विशेष रूप से जो लोग पूर्णकालिक काम करते हैं, वे बॉस-लेडी होती हैं - इसमें कोई संदेह नहीं है। जब आप सुपरवुमन होते हुए रॉक कर रही हो, तो यहां कुछ चीजें हैं जिन्हें आपको याद रखना चाहिए:

  • अपने लिए समय निकालें

समय और ऊर्जा आपके लिए दो आवश्यक संसाधन हैं क्योंकि आपके पास करने के लिए बहुत कुछ है! हालांकि, उन सभी अभिभावक-शिक्षक बैठकों, कार्य प्रतिबद्धताओं और सोते समय की कहानियों के बीच, आपको अपने लिए कुछ समय निकालना चाहिए। जब आप अपनी आवश्यकताओं, चाहतों और भावनाओं की देखभाल करने के लिए समय निकालते हैं, तो आप अपने आप को फिर से ऊर्जा प्रदान कराती है और संतोषप्रद महसूस कराती हैं। यह स्वयं के देखभाल के लिए सोने की दिनचर्या के रूप में आसानी से ढल सकता है या हर साल एक छुट्टी पर अकेले जाने के रूप में तब्दील हो सकता है - भले ही यह एक छोटी यात्रा हो।

  • अपने बच्चे की शिक्षा के लिए वित्तीय रूप से योजना बनाएं

समय उड़ जाता है और बच्चे तेजी से बड़े हो जाते हैं। उनको पालने का खर्च अगले कुछ वर्षों में बढ़ जाएगी, खासकर जब बात उनकी शिक्षा की होगी। अपने बच्चों को भविष्य की संभावनाएं देने के लिए, आपको शुरुआत से ही रणनीतिक योजना बनाना शुरू कर देना चाहिए। इस बात पर विचार करें कि आपको उन्हें कॉलेज में डालने के लिए कितने पैसे खर्च करने की आवश्यकता होगी, मुद्रास्फीति का हिसाब लगाना होगा, और फिर निवेश के रास्ते की तलाश करें जो आपको वांछित राशि को बचाने में मदद कर सकते हैं। इस बाल शिक्षा व्यय कैलकुलेटर का उपयोग करके मुद्रास्फीति की दर के हिसाब से कुल शिक्षा व्यय का हिसाब लगाएं।

  • अपनी पहचान मत छोड़ो

माताओं का उनके बच्चों पर ध्यान केंद्रित करना और अपना सब कुछ देना सामान्य बात है,इतना कि यदि आप उनसे पूछें कि उनके शौक, लक्ष्य, जुनून या रुचियां क्या हैं, तो वे जवाब के लिए अटक सकते हैं। माँ बनना बहुत बड़ा काम है, और यह एक महत्वपूर्ण जिम्मेदारी भी है। लेकिन आपके लिए यह भी आवश्यक है कि आपकी अपनी पहचान हो क्योंकि जब आपके बच्चे बड़े हो जाते हैं और अपना जीवन शुरू करते हैं, तो आप ये न करना चाहते 'अब क्या '? साथ ही, ऐसा व्यक्ति होना जो विभिन्न प्रकार का शौक रखता हो, आपको अपने बच्चों के लिए एक अच्छा आदर्श बना सकता है।

सी) यदि आप विधवा हैं

जीवनसाथी को खोने के दर्द से निकलना एक लंबी और कठिन यात्रा हो सकती है जब तक आपका मन ठीक हो और आप नया उद्देश्य ढूंढे। भले ही कई साल हो गए हों, लेकिन यह आसान नहीं होगा। यहाँ कुछ चीजें हैं जिन्हें आपको ध्यान में रखना चाहिए:

  • अपनी सेवानिवृत्ति की योजना बनाएं

यह कोई ऐसी चीज नहीं है जिसे आपको हल्के में लेना चाहिए। सेवानिवृत्ति योजना और अपने लिए एक सेवानिवृत्ति कोष का निर्माण करना महत्वपूर्ण है यदि आप अपने सुनहरे वर्षों को स्वतंत्र रूप से और शान से जीना चाहते हैं। इसके लिए किसी वित्तीय विशेषज्ञ से परामर्श करना सबसे अच्छा होगा ताकि आपकी योजना ठोस और प्रभावी हो। इस रिटायरमेंट कैलकुलेटर का उपयोग यह जानने के लिए करें कि आरामदायक सेवानिवृत्त जीवन जीने के लिए आपको कितनी बचत करने की जरूरत है।

  • खुद को फिर से ढूंढे और नियमित कार्यक्रम को तोड़ें

चाहे वह एकल हो या न हो, जब किसी की बढ़ती उम्र में अपने सुविधा क्षेत्र से बाहर निकलने और कुछ नया जानने के लिए संकोच करना स्वाभाविक है। लेकिन जीवन में एक बच्चे के समान खुशी और उत्साह को जगाये रखने के लिए और खुद को फिर से तलाशने के तरीके खोजने के लिए यह कदम उठाना आवश्यक है। एक नए शहर या देश की यात्रा करना इसके सबसे अच्छे तरीकों में से एक है। जब आप नई संस्कृतियों और स्थानों का पता लगाते हैं, नए लोगों के साथ बातचीत करते हैं, और ऐसी गतिविधियों में संलग्न होते हैं जो दिनचर्या से अलग हैं, तो आप भी अपने बारे में बहुत कुछ जानते हैं - आपके विचार और भावनाएं कैसे काम करती हैं।

  • एक नया कौशल सीखें (या पुराने को फिर से खोज लें)

जब आप छोटे थे तब के बारे में सोचें और यह कि आपको स्कूल के बाहर क्या करने में मज़ा आता था। क्या यह पेंटिंग, पढ़ना, या प्रकृति के साथ समय बिताना था? अपनी पुरानी पसंद और जुनून के साथ फिर से जुड़ें और नए कि खोज करें। एक नया कौशल सीखना, जैसे कि विदेशी भाषा, केवल आपको खुश नहीं करेगा ; पर यह आपके दिमाग को सक्रिय रखेगा, मनोभ्रंश का जोखिम कम करेगा और आपके पुरे मानसिक स्वास्थ्य में सुधार लाएगा।

ऐसा कुछ भी नहीं है जो आप अपने लिए नहीं कर सकते हैं और दूसरे कर सकते हैं। यह केवल सामाजिक अभ्यास को भुलाकर अपने आप की बेहतर देखभाल करने की इच्छा रखना है। तो चलते रहो, और उड़ान भरो !




संबंधित लेख