क्या आपने अपने पसंदीदा गहनों का बीमा करवाने के बारे में सोचा है? | Tomorrowmakers

आप हर उस चीज की सुरक्षा करते हैं जो आपको बहुत पसंद होती है और पसंदीदा चीज आपके लिए बहुत मूल्यवान भी होती है। तो फिर अपने गहनों का भी बीमा क्यों ना करवाया जाए?

Insure your favourite jewellery

गहने किसी भी महिला के सबसे अच्छे दोस्त कहे जाते हैं। जन्मदिन पर मिले किसी कंगन से लेकर शादी के दिन मिले हार तक- यह उनकी जिंदगी का अभिन्न हिस्सा होते हैं। इसमें कोई शक नहीं कि आपको अपने गहनों पर गर्व महसूस होता है। लेकिन अगर आप इन्हें खो दें तो कैसा महसूस होता है ? 

जिस तरह से आप हर कीमती सामान जैसे कार या घर का बीमा करवाते हैं, उसी तरह जरूरी है कि आप कीमती गहनों का भी बीमा करें । यहां गहनों के बीमा के बारे में कुछ बातें बताई जा रही हैं जो आपको जाननी चाहिए: 


गहनों के बीमा में क्या-क्या शामिल किया जाता है? 

अधिकतर बीमा में निम्नलिखित कारणों से गहनों को खो देना या उनको हुआ नुकसान शामिल होता है: 

  • दुर्घटना
  • नुकसान
  • चोरी ( निर्दिष्ट बैंकों के लॉकर में रखे गहने भी शामिल होते हैं) 
  • आग, भूकम्प, या तूफान जैसी प्राकृतिक आपदा 
  • आंतकवादी घटना
  • भूस्खलन 

आप कौनसा विकल्प चुन सकते हैं? 

गहनों के लिए मोटे तौर से दो तरह के बीमा उपलब्ध हैं जिनमें से आप कोई भी बीमा चुन सकते हैं:

1. होम इंश्योरेंस पॉलिसी 

इस पॉलिसी में आप ‘कंटेंट्स कवर’ का विकल्प चुन सकते हैं जिसमें सभी तरह के गहने, कीमती पत्थर और उल्लेख किए गए कीमती सामानों का बीमा किया जाता है। हालांकि, इस मामले में अधिकतर एक सब-लिमिट होती है। 

उदाहरण के लिए,

अधिकतम कवर = कुल सम इंश्योर्ड का 25%

सामान का कवर = 5 लाख रूपये 

यहां केवल 1.25 लाख रूपये तक की कीमत के गहनों का कवर दिया जाएगा। 

2. स्टेंड अलोन इंश्योरंस पॉलिसी 

इस पॉलिसी में आपके गहनों का बीमा उतनी ही कीमत का होता है जितने कीमत का बीमा कवर लिया जाता है। इसका मतलब है कि इसमें कोई सब-लिमिट नहीं होती। इसके साथ ही इस पॉलिसी में कई तरह के जोखिमों से हुए नुकसान को भी शामिल किया जाता है जैसे किसी ने गहना पहन रखा है और वह गहना चोरी हो जाए आदि। 

दूसरी तरफ, कुछ ऐसी पॉलिसी भी बाजार में उपलब्ध हैं जिनमें ‘ऑल-रिस्क’ कवर दिया जाता है। 

गहनों के बीमा में क्या-क्या शामिल नहीं होता? 

अधिकतर गहनों के बीमा में निम्नलिखित चीजें शामिल नहीं होती: 

युद्ध, आंतकवादी हमले या दंगों में गहनों को हुआ नुकसान
बीमा लेने वाले व्यक्ति, उसके तहत काम करने वाले किसी व्यक्ति या परिवार के सदस्य द्वारा जानबूझकर गहनों को नुकसान पहुंचाना
घर को लगातार 30 दिन तक खाली छोड़ने पर गहनों की चोरी या सेंधमारी होने पर

आपको गहनों का बीमा क्यों लेना चाहिए? 

गहनों का बीमा लेने के बहुत से फायदे होते हैं: 

आपको गहने रखने के लिए अलग से बैंक लॉकर लेने की जरूरत नहीं होती। बैंक लॉकर में चोरी होने के खतरे के साथ गहने और कीमती सामान रखने के लिए शुल्क भी चुकाना पड़ता है। 

आप जरूरत पड़ने पर गहनों को बैंक से लेकर आने और फिर वापस रखने की समस्या से छुटकारा पा सकते हैं। गहनों का बीमा लेने पर आपके कीमती गहने हमेशा आपके साथ ही रहेंगे। 

Insure your favourite jewellery

आप गहनों का बीमा कैसे ले सकते हैं? 

गहनों का बीमा लेने के लिए कुछ निर्धारित प्रक्रियाएं पूरी करनी होती हैं क्योंकि आपके गहनों की सुरक्षा के लिए यह जरूरी है: 

  • वैल्यूएशन सर्टिफिकेट लें

वैल्यूएशन सर्टिफेकेट एक दस्तावेज है जो ज्वैलर से आप ले सकते हैं। वैल्यूएशन में ज्वैलर गहनों की कीमत का पता लगाता है। इसलिए जिन गहनों का बीमा लेना है उनकी एक सूची बनायें और एक विश्वसनीय और प्रतिष्ठित ज्वैलर से उसका वैल्यूएशन करवायें। 

  • सभी विकल्पों को जांचें 

हालांकि गहनों के बीमा में प्रीमियम कुल सम इंश्योर्ड पर निर्भर करता है लेकिन आप प्रीमियम पर छूट के बारे में पता कर सकते हैं। यह भी पता करें कि क्या इस बीमा में ‘ऑल-रिस्क’ कवर है। कुछ बीमा कंपनियां ‘फर्स्ट-लॉस लिमिट्स’ के आधार पर बीमा करती हैं- जिसमें आपके गहनों की कीमत के कुछ हिस्से का ही बीमा किया जाता है। 


बीमा का दावा कैसे करें? 

अगर आपके बीमा किए गहनों को नुकसान या क्षति होती है तो आपको बीमा की रकम लेने के लिए दावा दाखिल करना होगा: 

आपको गहनों की कीमत और गहनों को हुए नुकसान या क्षति के बारे में सारी जानकारी देनी होगी।
अगर चोरी या आग के कारण नुकसान होता है तो फायर डिपार्टमेंट की रिपोर्ट या एफआईआर ( फर्स्ट इन्फोरमेशन रिपोर्ट) लगानी होगी। 


निष्कर्ष :

गहने आपके समारोहों का हिस्सा होने के साथ आपके लिए गर्व का विषय भी होते हैं।  मुसीबत के समय किसी दोस्त की तरह ये आपके काम  आ सकते हैं। इसलिए,आपके घर, कार या जीवन की तरह गहनों का बीमा करवाना भी बहुत जरूरी है। 

संबंधित लेख