क्या आपने गोल्ड योजनाओं के बारे में सुना है? इनसे जुड़ी कुछ बातें जो आपको जाननी चाहिए

क्या आपने कभी किसी ज्वैलर के द्वारा लाई गई गोल्ड योजना के बारे में सुना है? और क्या यह सोना खरीदने का बेहतर तरीका है?

x Gold schemes offered by jewelers and their ways how they work

इस बारे में कोई शक नहीं है कि भारतीयों को सोने से बनी हर चीज़ से बहुत प्यार है। चाहे शादी हो या बच्चे या जन्म हमारे यहां लगभग हर खुशी के मौके पर   या तो सोना खरीदा जाता है या उपहार में दिया जाता है। बहुत से ज्वैलर्स इस बात को समझते हैं कि सोना हमारी जिंदगी में कितना महत्व रखता है इसलिए वे सोने की खरीद आसान बनाने के लिए नई-नई योजनाएं लाते रहते हैं। 


यहां कुछ गोल्ड योजनाओं के बारे में बता रहे हैं जो आपके सोने की खरीद को सस्ता और आसान बना सकती हैं।  

तनिष्क गोल्डन हार्वेस्ट स्कीम

गोल्ड हार्वेस्ट स्कीम ( जीएचएस) एक गोल्ड सेविंग्स स्कीम है जिसे तनिष्क ज्वैलर्स लेकर आया है। इस योजना में: 

आप भारत के किसी भी तनिष्क शोरूम से 22 कैरट सोने के गहने   खरीद सकते हैं। 
आपको कुल 11 महीने तक एक निश्चित धनराशि का निवेश करना होगा
इस योजना में आखिरी किश्त यानि 12वीं किश्त तनिष्क अपनी तरफ से जमा करेगा
इस योजना को शुरू करना बहुत आसान है क्योंकि आप भारत के किसी भी तनिष्क शोरूम पर जाकर इससे जुड़ सकते हैं। आप चाहें तो ऑनलाइन भी इससे जुड़ सकते हैं। एक बार योजना के लिए ऑनलाइन रजिस्टर हो जाने पर आपको कुछ   जानकारियां भरने के बाद अपनी पहली किश्त चुकानी होगी। उसके बाद से आप हर किश्त ऑनलाइन जमा कर सकते हैं। 


याद रखें, एक बार पहली किश्त चुकाने के बाद आप इस योजना या  किश्त की राशि में कोई बदलाव नहीं कर सकते। खासतौर से अगर आप ने वह योजना चुनी है जिसमें आखिरी किश्त तनिष्क के द्वारा जमा की जाएगी। 

इस योजना का एक अतिरिक्त फायदा यह है कि इसके पूरा होने पर आप   इस योजना से मिले फायदे को उस समय चल रही दूसरी योजना में जोड़   सकते हैं। 


किश्त भरना भूल गए तो क्या होगा? 

आपको सलाह दी जाती है कि अगर आप समय पर किश्त देना भूल जाएं   तो तय तारीख के 3 दिनों के भीतर उसे जमा कर दें। ऐसा नहीं करने पर आप जितने दिन की देरी करेंगे उसके हिसाब से आपको मिलने वाली छूट में कटौती की जाएगी। आप जमा धन राशि को कभी भी नकद रूप में ले सकते हैं। हालांकि, समय सीमा से पहले नकद भुगदान लेने पर आपको गहने की   बनवाई पर लगने वाले खर्च पर मिलने वाली छूट या कुल मूल्य पर मिलने  वाली छूट नहीं मिलेगी। इस योजना को शुरू करते समय आपको अपने नॉमिनी की जानकारी भी  देनी होगी ताकि आपकी मृत्यु होने की स्थिति में उनसे संपर्क किया जा सके। 

नोट : इस योजना में आप सोने के सिक्के नहीं खरीद सकते। 

मालाबार गोल्ड एंड डायमंड स्मार्ट बाइ स्कीम

अगर आप सोने के गहनों की खरीद पर पैसे बचाना चाहते हैं तो मालाबार  गोल्ड एंड डायमंड स्मार्ट बाइ योजना आपको अच्छी लग सकती है। इस योजना के तहत आपको मिलते हैं: 

आकर्षक छूट
केवल बीआईएस हॉलमार्क 916 सोना
पूरे जीवन के लिए आपके सोने का मुफ्त रखरखाव
एक वर्ष के लिए मुफ्त बीमा और वापस खरीद की गारंटी
इस योजना में आप सोने के गहने ऑनलाइन खरीद सकते हैं, भले ही वे   गहने स्टॉक में हों या ना हों। इसमें एक “स्मार्ट बाइ” का विकल्प भी है, जिसमें आप अपने चुने गहने के लिए अग्रिम भुगतान करते हैं। 

यह जानना जरूरी है कि इस योजना में आप केवल उन्हीं गहनों को खरीद  सकते हैं जिनके आकार में बदलाव की जरूरत नहीं पड़ती जैसे हार,   तनमानिया, नोज़ पिन, और पेंडेंट। अलग-अलग आकार में मिलने वाले गहनों जैसे कड़े, चैन, ब्रेसलेट, और अंगूठी को खरीदने के लिए आपको “स्मार्ट बाइ+ कस्टमाइज़” का विकल्प चुनना होगा। 

‘स्मार्ट बाइ’ और ‘स्मार्ट बाइ+ कस्टमाइज़’ योजना: 

आप गहनों का चुनाव ऑनलाइन कर सकते हैं
अलग-अलग आकार वाले गहने होने पर आप उपयुक्त आकार का चयन कर  सकते हैं
सामान्यतः ये उत्पाद आपको छूट के साथ मिलते हैं
ऑर्डर देने के बाद आपको इसके डिलीवरी की तारीख दी जाएगी
अगर आपको गहना पसंद नहीं आता है तो आप इसे ऑनलाइन या पास के स्टोर में जाकर बदल सकते हैं। 
* आपके गहने पर सामान्य बाइ-बैक दर और एक्सचेंज पॉलिसी लागू होगी। 

नोट : आपको दिखाए गए गहने की कीमत एक अनुमान के आधार पर    बताई जाती है। उत्पाद के वजन के आधार पर उसकी अंतिम कीमत में कुछ बदलाव हो   सकता है। इसी तरह, आपको मिलने वाली छूट चुने गए गहने पर निर्भर करती है।

 प्रिंस ज्वैल प्लस 

 द प्रिंस ज्वैल प्लस गोल्ड स्कीम को प्रिंस ज्वैलर्स लेकर आए हैं। इस योजाना में: 

आप किश्तों पर पैसा बचा सकते हैं और उस पैसे से भविष्य में सोना    खरीद सकते हैं। अगर आप आगे आने वाले समय में सोना खरीदना चाहते हैं तो यह   योजना आपके लिए बिल्कुल सही है
आपको 11 मासिक किश्तों में पैसा देना होगा। एक किश्त कम से कम 1000 रूपये की होनी चाहिए और इसे बाद में 500 रुपये के गुणक में बढ़ाया जा सकता है
पहली किश्त चुकाने के बाद आपको आगे की सभी किश्तें अगले 11   महीनों में चुकाना जरूरी है।
जब आप गहने खरीदने का सोचेंगे तो उस समय आपको कोई अतिरिक्त    पैसा नहीं देना होगा। आप ऑनलाइन या प्रिंस ज्वैलरी शोरूम पर जाकर भी पैसा चुका सकते हैं।

नोट : पहली किश्त चुकाने के बाद किश्त की राशि में बदलाव नहीं कर    सकते। अगर आप कोई किश्त चुकाने में देरी करते हैं तो सोना खरीदते समय   आपको ‘ कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं’ वाला फायदा नहीं मिलेगा। 

दूसरे ज्वैलर्स के द्वारा लाई गई गोल्ड योजनाएं

जीआरटी गोल्डन इलेवन फ्लैक्सी प्लान: मासिक अग्रिम भुगतान 500 रूपये से शुरू। 11 किश्त चुकाने के बाद आप मनपंसद गहना खरीद सकते हैं 
कल्याण ज्वैलर्स: अग्रिम किश्त की राशि 500 रूपये से 4000 रूपये  तक हो सकती है
ललिता ज्वैलर्स: खाता खोलने के लिए न्यूनतम राशि है 1000 रूपये   और आप 1000 रूपये के गुणक में निवेश कर सकते हैं।
भीमा ज्वैलर्स: यहां आप 250 रूपये के गुणक में निवेश कर सकते हैं
पीएनजी ज्वैलर्स: किश्त शुरू करने के लिए न्यूनतम राशि है 3000   रूपये और आप उसके बाद 500 रूपये के गुणक में निवेश कर सकते हैं

सोने की बढ़ती कीमतों को देखते हुए, अगर आप भविष्य में सोना खरीदने की सोच रहे हैं तो ऊपर बताई योजनाएं आपकी खरीद को आसान और   सस्ता बना सकती हैं। 


डिसक्लेमर: यह लेख केवल सामान्य जानकारी देने के उद्देश्य से लिखा गया है और इसे निवेश, कर या कानूनी सलाह के रूप में नहीं माना जाना चाहिए। इन क्षेत्रों में निर्णय लेने से पहले विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।

संबंधित लेख