धूम्रपान और स्वास्थ्य बीमा: जो आप इस बारे में नहीं जानते होंगे?

धूम्रपान करना स्वास्थ्य के लिए खतरनाक है, और वैसे ही आपके परिवार पर इसके प्रभाव हैं। क्या धूम्रपान करने वाले को स्वास्थ्य बीमा मिल सकता है? यदि हां, तो यह धूम्रपान न करने वाले से कितना अलग होता है?

धूम्रपान और स्वास्थ्य बीमा: जो आप इस बारे में नहीं जानते होंगे?

आज भारत में स्वास्थ्य बीमा के सबसे बड़े प्रचलित मिथकों में से एक यह है कि धूम्रपान करने वाला व्यक्ति स्वास्थ्य बीमा का लाभ नहीं उठा सकता है। धूम्रपान और स्वास्थ्य बीमा साथ नहीं हो सकते ऐसा लग सकता है, लेकिन लोकप्रिय धारणा के विपरीत, धूम्रपान करने वाले को स्वास्थ्य बीमा मिल (और वे पा सकते हैं) सकता है।

हां, धूम्रपान न करने वाले लोगों की तुलना में धूम्रपान करने वालों को जीवनशैली से जुड़ी बीमारियों का खतरा अधिक होता है, जिससे उनके जीवन को खतरा होता है और इससे प्रीमियम राशि बढ़ जाती है। इसे ध्यान में रखते हुए, बीमा कंपनियां धूम्रपान करने वालों को थोड़ी अधिक खर्च पर स्वास्थ्य कवरेज प्रदान करती हैं। यदि आप एक धूम्रपान करने वाले व्यक्ति हैं, तो इस बात से आपको अपने परिवार के भविष्य - और अपने स्वास्थ्य की रक्षा करने से नहीं रुकना चाहिए।

धूम्रपान करने वालों के लिए स्वास्थ्य बीमा

स्वास्थ्य बीमा कंपनियों द्वारा परिभाषित 'धूम्रपान करने वाला' शब्द एक ऐसे व्यक्ति के लिए है जो किसी भी रूप में निकोटीन का सेवन करता है। स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी के लिए आवेदन करते समय, आपसे प्रश्न पूछे जाएंगे जैसे: क्या आप धूम्रपान करते हैं? क्या आपने पिछले 6 महीनों में तम्बाकू का सेवन किया है? क्या धूम्रपान के कारण आपको कोई भी जीवन शैली सम्बंधित बीमारी हुई है? स्वास्थ्य बीमा कंपनियां अपने जोखिम को कम करने के लिए एहतियाती चिकित्सा जांच कराती हैं। कारण स्पष्ट है: स्वास्थ्य के खतरे। सिगरेट में विभिन्न प्रकार के कार्सिनोजेन्स होते हैं जो कैंसर, दिल का दौरा, अस्थमा और पुरानी फेफड़ो से सम्बन्धी विकार की बीमारियों का कारण बन सकते हैं।

यदि आप प्रश्नों का अनुपालन करते हैं और अपने बीमा फॉर्म में धूम्रपान को एक आदत के रूप में घोषित करते हैं, तो आपको एक चिकित्सा परीक्षण से गुजरना होगा। यदि आपको झूठ बोलने का मन होता है, तो ध्यान रखें कि निकोटीन के निशान धूम्रपान करने वाले के मूत्र, रक्त, लार और बालों में पाए जा सकते हैं, जो इसके सेवन की आवृत्ति पर निर्भर करता है। यदि आप धूम्रपान करने वाले व्यक्ति हैं, तो आपको सलाह दी जाती है कि आपके स्वास्थ्य बीमा प्रदाता के साथ आप ईमानदार रहे और अपने किसी भी जीवन शैली में परिवर्तन के बारे में उन्हें अपडेट करें। ऐसा नहीं करने पर आपकी पॉलिसी रद्द हो सकती है और दावा के तहत कोई भी विववाद हो सकता है।

चिकित्सीय परीक्षण के परिणाम, आयु और सुनिश्चित किए गए मूल्य के आधार पर, एक योजना की पेशकश की जाती है। स्वास्थ्य बीमा प्रदाता ,टाइप 2 मधुमेह और उच्च रक्तचाप जैसी मौजूदा बीमारियों को भी ध्यान में रखते है। बिना किसी बीमारी के पिछले चिकित्सीय इतिहास के एक गैर-धूम्रपान करने वाला व्यक्ति बिना किसी बाधा के स्वास्थ्य बीमा का लाभ उठा सकता है, और कभी-कभार धूम्रपान करने वाला भी ऐसा कर सकता है। यदि आप कभी-कभी केवल निकोटीन का सेवन करते हैं और अच्छी मात्रा में शारीरिक व्यायाम करते हैं, तो आप अपनी फिटनेस को साबित करने और स्वास्थ्य बीमा कवर प्राप्त करने की प्रक्रिया को आसान बनाने में सक्षम हो सकते हैं। दूसरी ओर, एक नियमित धूम्रपान करने वाला व्यक्ति जो एक दिन में एक या दो पैक सेवन करता है और एक गतिहीन जीवन व्यतीत करता है ,उसे अतिरिक्त प्रीमियम का भुगतान करना पड़ सकता है।

धूम्रपान करने वालों के लिए प्रीमियम

जबकि स्वास्थ्य बीमा प्रदाता धूम्रपान करने वालों और धूम्रपान नहीं करने वालों, दोनों के लिए समान स्वास्थ्य बीमा योजनाएं प्रदान करते हैं, पर वे धूम्रपान करने वालों की चिकित्सा स्थिति देखने के बाद ही प्रीमियम राशि तय करते हैं। यदि धूम्रपान करने वाले की आयु 40 से ऊपर है और यदि वे नियमित रूप से तंबाकू का सेवन करते हैं तो बीमा की लागत अधिक होती है। कुछ स्वास्थ्य बीमा प्रदाता किसी भी विशिष्ट बीमारी का पता लगाने और सामान्य योजना में इसे कवर न करने के लिए एक चिकित्सीय परीक्षण पर जोर देते हैं।

दूसरी ओर, लगातार धूम्रपान करने वाले और तंबाकू के आदि लोगों को कंपनी के निर्णय के अनुसार एक स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी से वंचित किया जा सकता है।

हर स्वास्थ्य बीमा कंपनी अलग तरह से काम करती है। हालांकि कुछ कंपनी, धूम्रपान करने वालों के अतिरिक्त स्वास्थ्य समस्याओं को कवर करने के लिए एक उच्च प्रीमियम लेते हैं, कुछ अन्य ऐसा नहीं करते हैं। चूंकि भारत में स्वास्थ्य बीमा पॉलिसियों की कीमतें बहुत प्रतिस्पर्धी हैं, इसलिए अपने शोध करना और एक लचीली योजना चुनना सबसे अच्छा होगा। इसके अलावा, यदि आप एक नियमित धूम्रपान करने वाले व्यक्ति हैं, तो अपने बजट में आने वाले प्रीमियम राशि चुनने के साथ सबसे अच्छी स्वास्थ्य बीमा योजना की तलाश करना उचित रहेगा।

यदि आप लंबे समय से धूम्रपान करने वाले व्यक्ति हैं, जो तंबाकू छोड़ने की सोच रहे हैं, तो यह आदत छोड़ने के लिए पुनर्वास कार्यक्रम में नामांकन करने से स्वास्थ्य बीमा प्रीमियम को कम किया जा सकता है। हालाँकि, आपको कम से कम दो साल तक बिना तम्बाकू के सेवन किये रहना होगा, ताकि कोई भी बीमा कंपनी आपको चिकित्सकीय रूप से फिट मानें और आपकी प्रीमियम को गैर-धूम्रपान करने वाले श्रेणी में डालें|

धूम्रपान करने वालों को स्वास्थ्य बीमा की आवश्यकता क्यों है

धूम्रपान करने वाले अक्सर स्वास्थ्य बीमा कंपनी से संपर्क करने के बजाय अस्वीकृति के डर में रहना पसंद करते हैं। मन में इस डर को लेकर,वे आवेदन करते समय इस तथ्य को भी छिपाने की कोशिश करते हैं कि वे धूम्रपान करते हैं। यह एक अनावश्यक बाधा होती है, जो धूम्रपान करने वले स्वयं के लिए उत्पन्न करते हैं |अधिकांश स्वास्थ्य बीमा योजनाओं के लिए स्वास्थ्य जांच एक अनिवार्य शर्त है। जब परिक्षण का परिणाम आता है या दावा दर्ज करते समय आपका झूठ बोलते हैं,वह इस प्रक्रिया को केवल और जटिल बना देता है ।

धूम्रपान करने से स्ट्रोक, उच्च रक्तचाप, कैंसर और फेफड़े सम्बन्धी बीमारियों जैसे जानलेवा बीमारियों के होने का खतरा बढ़ जाता है। अपनी जीवनशैली को लेकर ईमानदार रहें और धूम्रपान से उत्पन्न होने वाली बीमारियों से खुद को जल्दी बीमाकृत कर लें।

एक स्वास्थ्य बीमा कंपनी किसी ऐसे दावे को इनकार कर सकती है जो धूम्रपान के कारण होने वाली बीमारी हो,जिसका आपने खुलासा नहीं किया हो पर उसे दावे के लिए आधार बनाया हो| हालांकि बीमारी का पता चलने से पहले 2-4 साल की पूर्व-निर्धारित प्रतीक्षा अवधि ,धूम्रपान करने वालों और धूम्रपान न करने वालों, दोनों के लिए समान है,फिर भी धूम्रपान करने वालों के लिए प्रीमियम अधिक होता है। इन सब के बावजूद , भले ही धूम्रपान करने वालों के लिए अधिक प्रीमियम हो और प्रतीक्षा अवधि अधिक लंबी हो,पर लंबे अस्पताल के बिलों के लिए कवर आपकी बचत को कम होने से बचाने में मदद कर सकता है।

चूंकि सभी धूम्रपान करने वालों की आदतें समान नहीं होती हैं, इसलिए स्वास्थ्य बीमा प्रदाताओं ने उन्हें तीन व्यापक श्रेणियों में सूचीबद्ध किया है:

  • विशेषाधिकार प्राप्त धूम्रपान करने वाला: कोई व्यक्ति जो धूम्रपान करता है लेकिन उसका एक साफ चिकित्सीय इतिहास हो । चूंकि वे स्वस्थ हैं, उनका प्रीमियम गैर-धूम्रपान करने वालों के जितना (या करीब)ही होगा।
  • सामान्य धूम्रपान करने वाला: कोई व्यक्ति जो धूम्रपान करता है और जिन्हे स्वास्थ्य संबंधी मामूली समस्याएँ है। विशेषाधिकार प्राप्त धूम्रपान करने वालों के मुकाबले इन धूम्रपान करने वालों के लिए प्रीमियम अधिक होगा।
  • टेबल-रेटेड धूम्रपान करने वाला: कोई व्यक्ति जो लंबे समय तक धूम्रपान करने वाला है और इस आदत के कारण स्वास्थ्य की ख़राब स्थिति से पीड़ित है। ऐसे ग्राहकों के लिए, प्रीमियम सबसे अधिक होगा क्योंकि स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं पहले से ही चल रही हैं। स्वास्थ्य बीमा कंपनियां अपने जोखिम को कम करने के लिए ऐसा करती हैं।

आखरी शब्द

भारत में धूम्रपान करने वालों की एक बड़ी संख्या है, इसलिए स्वास्थ्य बीमा कंपनियों ने सभी को कवरेज प्रदान करने के लिए अपनी नीतियों में कुछ अपवाद बनाए हैं। यदि आप एक धूम्रपान करने वाले हैं, तो आपको पॉलिसी खरीदते समय इसे साफ़ बताना चाहिए, क्योंकि दावे के दौरान यह जानकारी महत्वपूर्ण होगी। धूम्रपान करने वाले के रूप में, आपको अपने बजट में सबसे अच्छा स्वास्थ्य बीमा खरीदने पर विचार करना चाहिए। यह अचानक बीमारी के मामले में आपके परिवार को सुरक्षित करता है, अतिरिक्त खर्च को कम करता है, और यह सुनिश्चित करता है कि आप जरूरत के समय में वित्तीय रूप से तरल रहे।




संबंधित लेख