भारत की जीवन बीमा कंपनियां, जिनका दावा निपटान अनुपात 95 प्रतिशत से अधिक है

सही जीवन बीमा कंपनी चुनना मुश्किल हो सकता है। यह लेख आपको सबसे अधिक दावा निपटान अनुपात वाली टॉप पांच कंपनियों के बारे में बताएगा।

भारत की टॉप पांच जीवन बीमा कंपनियां

जीवन बीमा के महत्व को बढ़ा-चढ़ाकर नहीं बताया जा सकता। यदि आप अपने परिवार के भविष्य को सुरक्षित रखना चाहते हैं, तो आपको जीवन बीमा पॉलिसी लेने के बारे में सोचना होगा। जीवन बीमा अनिवार्य रूप से आपके और आपके बीमाकर्ता के बीच एक अनुबंध है, जिसमें आप नियमित प्रीमियम का भुगतान करते हैं। फिर, आपकी दुर्भाग्यपूर्ण मृत्यु की स्थिति में, आपके लाभार्थियों को एकमुश्त पैसा मिलेगा। 

ये बीमा राशि आपके लाभार्थियों के लिए एक स्वागत योग्य सुरक्षा जाल के रूप में कार्य करेगी। इससे उनको आपके जाने के बाद किसी भी वित्तीय कठिनाई का सामना नहीं करना पड़ेगा। लेकिन सवाल है कि आपको जीवन बीमा कंपनी का चुनाव कैसे करना चाहिए? 

आइए, दावा निपटान अनुपात के बारे में बात करते हैं, जो कि जीवन बीमा कंपनी चुनते समय ध्यान देने के लिए सबसे महत्वपूर्ण बातों में से एक है।

दावा निपटान अनुपात का सीधा मतलब

दावा निपटान अनुपात उन दावों का प्रतिशत है, जो किसी भी जीवन बीमा कंपनी को प्राप्त होने वाले दावों की कुल संख्या की तुलना में तय होती है। इसकी गणना निम्न सूत्र का उपयोग करके प्रतिशत के रूप में की जाती है।

दावा निपटान अनुपात = (निपटान दावों की संख्या ÷ प्राप्त दावों की कुल संख्या) x 100

दावों को कई कारणों से खारिज किया जा सकता है जैसे कि दूसरे की पॉलिसी को अपना बताकर दावा करना, गलत बयानी, धोखाधड़ी आदि। इसलिए, आपको अपना आवेदन भरते समय बेहद सावधान रहना चाहिए।

संबंधितमृत्यु दावा: क्या एक से अधिक जीवन बीमा पॉलिसी का दावा करना संभव है? 

सबसे अधिक दावा निपटान अनुपात क्यों देखना चाहिए?

किसी भी बीमा कंपनी का दावा निपटान अनुपात किसी वित्तीय वर्ष के दौरान स्वीकार और अस्वीकार किए गए दावों की संख्या को दर्शाता है। तो, यह सबसे बढ़िया बीमा प्रदाता के बारे में जानने के सर्वोत्तम तरीकों में से एक है। 95 प्रतिशत से अधिक के दावा निपटान अनुपात वाली कंपनियों को चुनना सही है, क्योंकि यह इस बात का संकेत देता है कि आप बिना किसी परेशानी के अपना दावा प्राप्त कर सकेंगे।

हालांकि, दावा निपटान अनुपात का इस्तेमाल अक्सर जीवन बीमा कंपनी की गुणवत्ता को आंकने के लिए किया जाता है, अपने निर्णय को पूरी तरह से उसी पर आधारित करना सही नहीं है। आपको दूसरी बातों पर भी विचार करना चाहिए, जैसे कि योजना कवरेज, सेवा गुणवत्ता, नीति लाभ आदि।

संबंधित: महामारी के समय में जीवन बीमा कवरेज के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

तो वित्त वर्ष 2019-2020 के लिए सबसे अधिक दावा निपटान अनुपात वाली टॉप पांच जीवन बीमा कंपनियां कौन सी हैं?

यहां भारत की टॉप पांच जीवन बीमा कंपनियों की जानकारी दी जा रही है, जिनका दावा निपटान अनुपात 95 प्रतिशत से अधिक है: 

  1. मैक्स लाइफ: मैक्स लाइफ 99.22 प्रतिशत के दावा निपटान अनुपात के साथ हमारी सूची में पहले स्थान पर है।
  1. एचडीएफसी लाइफ: एचडीएफसी का प्रभावशाली दावा निपटान अनुपात 99.07 प्रतिशत है।
  2. टाटा एआईए: टाटा एआईए का दावा निपटान अनुपात 99.06 प्रतिशत है।
  3. प्रामेरिका लाइफ इंश्योरेंस: हालांकि प्रामेरिका लाइफ इंश्योरेंस के पास इस सूची में अन्य कंपनियों की तुलना में काफी कम मामले थे, फिर भी इसका दावा निपटान अनुपात 98.42 प्रतिशत रहा।
  4. केनरा एचएसबीसी ओबीसी: हमारी सूची में आखिरी कंपनी केनरा एचएसबीसी ओबीसी का दावा निपटान अनुपात 98.12 प्रतिशत है।

आखिरी शब्द

किसी भी जीवन बीमा कंपनी का दावा निपटान अनुपात से आप यह तो जान सकते हैं कि वह कंपनी कुल मिले दावों में से कितने का निपटान करती है, लेकिन यह किसी भी प्रदाता को पहचानने का एकमात्र मानदंड नहीं होना चाहिए। यह संभव हो सकता है कि दूसरी कंपनियों ने वास्तविक कारणों से दावों को खारिज कर दिया हो।

संबंधित:  सही बीमा कंपनी कैसे चुनें? 

जीवन बीमा प्रदाता को चुनते समय हम अनुशंसा करते हैं कि उनकी लाभ राशियों की भी जांच करें। यह आपको एक सूचित निर्णय लेने में मदद करेगा।

संवादपत्र

संबंधित लेख