5 बीमा पॉलिसियों को 30 साल के होने से पहले खरीदना चाहिए

जीवन में जल्दी निवेश करने से आप कंपाउंडिंग के लाभों को प्राप्त कर सकते हैं और आपको अपने वित्तीय लक्ष्यों को जल्द हासिल करने में मदद मिलती है।

5 बीमा पॉलिसियों को 30 साल के होने से पहले खरीदना चाहिए

वित्तीय योजना शुरू करने का सबसे अच्छा समय वह है जब आप काम करना शुरू कर चुके होते है और आपने एक स्तर पर वित्तीय स्वतंत्रता हासिल कर ली हो। जीवन की अनिश्चितताओं से खुद को बचाने के लिए बीमा करवाना एक अच्छा तरीका है। भविष्य के लक्ष्यों की योजना बनाने से लेकर किसी दुर्घटना की स्थिति में आपके हितों की सुरक्षा के लिए , बीमा आपके पास होना चाहिए। आइए देरी से करने की बजाय जल्द ही योजना बनाने और बीमा खरीदने के लाभों को देखें।

  • कम प्रीमियम - जीवन बीमा पॉलिसी के लिए आवेदन करते समय कम आय होने से कोई बाधा नहीं होनी चाहिए। एक छोटे उम्र के व्यक्ति के लंबे समय तक जीवित रहने की उम्मीद होती है, इसलिए प्रीमियम काफी कम हो सकता है।
  • कंपाउंडिंग के लाभ - जल्दी निवेश करने का एक मुख्य लाभ यह है कि आप कंपाउंडिंग के लाभों को प्राप्त कर सकते हैं। जीवन में बाद में उच्च बीमा प्रीमियम का भुगतान करने का लाभ ,जल्दी शुरुआत करने के फायदों के बराबर नहीं हो सकता है।
  • लक्ष्य निर्धारण - सही बीमा पॉलिसी आपको अपने अल्पकालिक और साथ ही दीर्घकालिक वित्तीय लक्ष्यों को प्राप्त करने में मदद कर सकती है।

अब, आइए कुछ बीमा पॉलिसियों को देखें जिन्हें 30 वर्ष से कम आयु के प्रत्येक व्यक्ति को खरीदने पर विचार करना चाहिए।

1. टर्म इंश्योरेंस

एक टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी आपको या आपके परिवार को इस शर्त पर पूर्व-तय समय सीमा के लिए पूर्व-निर्धारित राशि आश्वस्त करती है यदि समय पर प्रीमियम का भुगतान किया जाता है। टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी चुनने के कुछ बेहतरीन कारण हैं, और यहाँ बताया गया है कि क्यों:

  • आप अत्यंत उचित प्रीमियम पर जीवन कवर का विकल्प चुन सकते हैं या अतिरिक्त बचत कवर के साथ एंडोमेंट बीमा का विकल्प चुन सकते हैं।
  • आप अपने जीवन के महत्वपूर्ण चरणों (जैसे शादी करने या माता-पिता बनने) के दौरान कवर बढ़ाना चुन सकते हैं; बहुत मामूली प्रीमियम से शुरुआत करें और इसे केवल आवश्यकतानुसार बढ़ाएँ।
  • आप अपनी योजना को राइडर्स जैसे विकलांगता कवर, गंभीर बीमारी कवर आदि के साथ अनुकूलित कर सकते हैं, जो आपको बीमित राशि प्राप्त करने का हकदार बनाते हैं।
  • बीमा पॉलिसी खरीदने और उसे नवीनीकृत करने की प्रक्रिया को बेहद सरल बनाया गया है।

2. स्वास्थ्य बीमा

स्वस्थ्य बीमा- बीमाकर्ता और बीमाधारक के बीच का एक अनुबंध है, जिसमें बीमाकर्ता अस्पताल में भर्ती होने के परिणामस्वरूप होने वाले किसी भी खर्च की प्रतिपूर्ति कर देगा। यह वित्तीय संकट दूर रखने में मदद करता है। स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी में निवेश करने के निम्नलिखित फायदे हैं:

  • अधिकांश प्रमुख बीमा प्रदाता एक 'नगदीरहित' विकल्प प्रदान करते हैं, जहाँ आपको अस्पताल में भर्ती होने के दौरान अपनी जेब से कुछ भी भुगतान करने की आवश्यकता नहीं होती है। बीमाकर्ता आवश्यक भुगतान सीधे अस्पताल में करता है।
  • आप अपने आपातकालीन निधियों पर प्रभाव को कम करते हुए, सर्वश्रेष्ठ अस्पतालों में उपचार प्राप्त करने का विकल्प चुन सकते हैं। अस्पताल में भर्ती होने के पूर्व और बाद के अन्य खर्च भी शामिल होते हैं। इसलिए, आप अपने वित्त के बारे में चिंता किए बिना पूरी तरह से सेहत पर ध्यान केंद्रित कर सकते हैं।
  • यह आपके नियोक्ता द्वारा पेश की गई बीमा योजना से अधिक लाभ प्रदान करता है और इसे आपकी अनूठी आवश्यकताओं के अनुसार अनुकूलित किया जा सकता है।
  • आप एक गंभीर बीमारी कवर का विकल्प चुन सकते हैं, जो आपको किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित होने पर किसी भी वित्तीय असफलता से निपटने में मदद कर सकता है।
  • आप नो-क्लेम बोनस के रूप में पुरस्कृत किये जा सकते हैं, जो प्रत्येक दावा-मुक्त वर्ष के लिए बीमित राशि में जोड़ा जाएगा या आप अपनी जेब से इसे चुकाने का विकल्प चुन सकते हैं।
  • प्रीमियम के लिए भुगतान की गई राशि को आपकी वार्षिक कर योग्य आय से अधिकतम 1,50,000 रुपये तक घटाया जा सकता है।

3. दुर्घटना / विकलांगता बीमा

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय के अनुसार, अकेले 2018 में दुर्घटनाओं के कारण लगभग 1.6 लाख लोगों ने अपनी जान गंवाई। सड़क दुर्घटनाओं की संख्या - और घातक परिणाम - प्रत्येक गुजरते साल के साथ केवल बढ़ रही है। यह एक दुर्घटना नीति खरीदने के महत्व पर प्रकाश डालता है। हालांकि यह दुर्घटनाओं को रोक नहीं सकता है, पर यह एक दुर्घटना के कारण बढ़ने वाले वित्तीय बोझ को कम करने में मदद कर सकता है।

दुर्घटना बीमा दो प्रकार का हो सकता है। व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा पॉलिसी दुर्घटना के कारण हुई आकस्मिक मृत्यु या स्थायी विकलांगता के मामले में बीमा राशि का भुगतान करती है। दूसरी ओर, सामूहिक बीमा आमतौर पर अपने कर्मचारियों को कवर करने के लिए नियोक्ताओं द्वारा उपयोग किया जाता है। यह तुलनात्मक रूप से सीमित लाभ प्रदान करता है।

आइए व्यक्तिगत दुर्घटना नीति के कवरेज लाभों की जांच करें:

  • आकस्मिक मृत्यु बीमा कवर ,मृत्यु या घातक चोटों के मामले में बीमित व्यक्ति के नामित को पूरी राशि का भुगतान करता है।
  • स्थायी कुल विकलांगता कवर बीमाकृत को एक निश्चित राशि का भुगतान करता है यदि दुर्घटना में कुल (और स्थायी) विकलांगता की स्थिति होती है।
  • एक स्थायी आंशिक विकलांगता कवर ,राशि का एक निश्चित प्रतिशत का भुगतान करता है यदि दुर्घटना से आंशिक (लेकिन स्थायी) विकलांगता की स्थिति उत्पन्न होती है।
  • एक अस्थायी कुल विकलांगता कवर, बीमाधारक को अस्थायी विकलांगता के कारण शय्याग्रस्त होने से कमाई में होने वाली क्षति की पूर्ति के लिए एक साप्ताहिक भत्ता प्रदान करता है।

4. बीमा-सह-निवेश योजना

वित्तीय सुरक्षा प्रदान करने के अलावा, बीमा आपको वित्तीय लक्ष्य हासिल करने में भी मदद कर सकता है। अपने वित्तीय लक्ष्यों को पूरा करने के लिए इन योजनाओं पर विचार करें।

  • संपूर्ण जीवन नीति - यह पॉलिसी बीमित व्यक्ति के जीवन भर के लाभों की गारंटी देती है, बशर्ते कि प्रीमियम का भुगतान हुआ हो और पॉलिसी बंद न की गई हो। पॉलिसीधारक की मृत्यु की स्थिति में, नामांकित व्यक्ति को बीमा राशि प्राप्त होती है।
  • यूनिट-लिंक्ड बीमा योजना - यूलिप जोखिम की भूख वाले व्यक्तियों के लिए आदर्श विकल्प हैं|जोखिम की आपकी क्षमता के अनुसार कंपनी जीवन बीमा में एक निश्चित प्रतिशत और इक्विटी बाजारों में अन्य प्रतिशत का निवेश करती है। इन योजनाओं के लिए लॉक-इन अवधि 5 वर्ष है, लेकिन आपको अपने वित्तीय लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए अधिक समय तक प्रतीक्षा करने की आवश्यकता हो सकती है। प्रीमियम में भुगतान की गई राशि को वार्षिक कर योग्य आय से अधिकतम 1,50,000 रुपये तक घटाया जा सकता है।

5. मोबाइल बीमा

यदि आप एक उच्च-दर वाला मोबाइल फोन खरीदने की योजना बना रहे हैं, तो मोबाइल बीमा पॉलिसी का चयन करने पर विचार करें। यह उन विभिन्न कारकों से आपको बचाता है जो आपके फोन को नुकसान पहुंचा सकते हैं। मोबाइल बीमा पॉलिसी के तहत आमतौर पर दो मुद्दे शामिल हैं:

  • पानी रिसने के कारण फोन के आंतरिक भागों को नुकसान
  • एक बंद वाहन या कमरे से उपकरण की चोरी।

6. मोटर बीमा

मोटर वाहन अधिनियम, 1988 के अनुसार, वाहन मालिकों के लिए भारतीय सड़कों पर वाहन चलाने से पहले थर्ड-पार्टी इंश्योरेंस लेना अनिवार्य है। यदि वे अपनी मोटर बीमा पॉलिसी प्राप्त / नवीनीकृत करने में विफल रहते हैं तो मालिक का लाइसेंस निलंबित किया जा सकता है।

मोटर बीमा या तो तृतीय-पक्ष या व्यापक हो सकता है। पहले वाले में बीमाकर्ता द्वारा किसी अन्य व्यक्ति के वाहन का उपयोग करते समय हुई दुर्घटना के परिणामस्वरूप तीसरे पक्ष द्वारा देय देयता को शामिल किया गया है। व्यापक मोटर बीमा किसी दुर्घटना के कारण होने वाले पॉलिसीधारक या तृतीया पक्ष के हितो को किसी भी नुकसान या क्षति के खिलाफ सुरक्षा प्रदान करता है।

आप एक व्यक्तिगत दुर्घटना ऐड-ऑन कवर का विकल्प भी चुन सकते हैं जो दुर्घटना के मामले में आपके हितों की रक्षा करता है जिसके परिणामस्वरूप मृत्यु या स्थायी कुल विकलांगता हो सकती है।

अपनी वित्तीय आवश्यकताओं की स्पष्ट समझ होना और बीमा पॉलिसी खरीदने से पहले उचित शोध करना महत्वपूर्ण है।

डिस्क्लेमर : यह लेख केवल सामान्य सूचना उद्देश्यों के लिए है और इसे निवेश या कर या कानूनी सलाह के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए। इन क्षेत्रों में निर्णय लेते समय आपको अलग से स्वतंत्र सलाह लेनी चाहिए।

 

COVID-19

Most Shared