होम लोन के शुल्क जो आपको पता होने चाहिए :प्रोसेसिंग फीस, CERSAI चार्जेस, लीगल और वैल्‍यूशनल फीस, स्टैम्प ड्यूटी

होम लोन हमारे सपनों का घर खरीदने का एक अच्छा तरीका है, लेकिन छिपे हुए शुल्क जीवन को तनावपूर्ण बना सकते हैं। किसी भी बैंक से ऋण लेने से पहले होम लोन के शुल्क को देखें।

 होम लोन लेना है आवेदन करने से पहले होम लोन के इन शुल्क के बारे में जानें

हर कोई अपने प्रियजनों के साथ आराम से और खुशी से रहने के लिए घर खरीदने का सपना देखता है। लेकिन दुर्भाग्य से, रियल एस्‍टेट की बढ़ती कीमतें लोगों के लिए मुश्किल बना देती हैं, और तब होम लोन की बात आती हैं। होम लोन आपके सपनों के घर को किफायती बनाने का सबसे आसान तरीका है, लेकिन उसमें एक कैच है, उनमें से कई छिपे हुए शुल्क के साथ आते हैं जो जीवन को तनावपूर्ण बनाते हैं।

आसान पुनर्भुगतान और घर का स्वामित्व पाने के लिए, आपको अपने होम लोन के विभाजन के बारे में पता होना चाहिए। ऐसा करने से आपको यह जानने में मदद मिलेगी कि क्या आप अपने होम लोन के लिए उचित रकम का भुगतान कर रहे हैं या पैसे छिपे हुए शुल्क में जा रहे हैं?

यह लेख होम लोन के कुछ शुल्कों को कवर करेगा जिन्हें आपको ऋण लेने से पहले पता होना चाहिए।

लोन प्रॉसेसिंग फीस

होम लोन के लिए आवेदन करते समय यह पहला शुल्क है। आपकी लोन राशि और अवधि के आधार पर, होम लोन प्रोसेसिंग शुल्क अलग-अलग हो सकता है।

आदर्श रूप से, सभी बैंक लोन प्रॉसेसिंग शुल्क के रूप में लगभग 0.5% से 1.0% शुल्क लेते हैं। हालांकि यह आपको बहुत बड़ी राशि नहीं लग सकती है, लेकिन बैंक से ऋण को अंतिम रूप देने से पहले आपको इसके बारे में पता होना चाहिए। इसके अलावा, जब भी आप ऋण के लिए आवेदन करते हैं, और यह पास हो जाता है, तो आपको लोन प्रॉसेसिंग फीस का भुगतान करना होगा, भले ही आप ऋण को अंतिम रूप देते हैं या नहीं देते हैं।

यह भी पढें: होम लोन की डिस्‍बर्समेंट की प्रक्रिया

इंश्‍योरेंस प्रीमियम

जीवन अनिश्चित है, और यदि आप अपने घर में अकेले कमाने वाले हैं, तो आपको इंश्‍योरेंस लेना चाहिए। होम लोन इंश्‍योरेंस आपको सभी प्रकार की प्राकृतिक आपदाओं, और ऐसी अन्य घटनाओं से बचाता है जो आपको नुकसान पहुंचाती हैं। इसके अलावा, होम लोन इंश्‍योरेंस आपकी अनुपस्थिति में आपके परिवार की सुरक्षा भी करता है जब आपका निधन हो जाता है और लोन राशि का अभी भी पूरा भुगतान नहीं किया गया है। होम लोन इंश्‍योरेंस दो प्रीमियम भुगतान विकल्पों में आता है। पहला एकमुश्त प्रीमियम, और दूसरा रिकरिंग प्रीमियम है। रिकरिंग प्रीमियम बेहतर होते हैं क्योंकि उसमें अधिकतम इंश्‍योरेंस राशि नहीं होती है। इसलिए यदि आप यह इंश्‍योरेंस लेते हैं, तो आप अपने जीवन के हर पड़ाव पर इंश्‍योरेंस की राशि को बढ़ाते रह सकते हैं।

मुख्य रूप से, होम लोन इंश्‍योरेंस का प्रीमियम कुल लोन राशि का लगभग 1 या 1.5% रहता है। इसलिए, आपके द्वारा वहन किया जाने वाला सटीक इंश्‍योरेंस प्रीमियम व्यय आपकी लोन राशि पर आधारित होगा। जबकि हाउसिंग लोन को कवर करने के लिए लाइफ इंश्‍योरेंस पॉलिसी या होम लोन इंश्‍योरेंस खरीदना अनिवार्य नहीं है, फिर भी अधिकांश बैंक इंश्‍योरेंस कवर रखने पर जोर दे सकते हैं।

CERSAI शुल्क

सेंट्रल रजिस्ट्री ऑफ सिक्योरिटाइजेशन एसेट रिकंस्ट्रक्शन एंड सिक्योरिटी इंटरेस्ट ऑफ इंडिया एक केंद्रीकृत प्राधिकरण है जो यह सुनिश्चित करता है कि किसी संपत्ति को एक से अधिक ऋण के लिए गारंटी के रूप में नहीं दिया जाता है। यह इस बात को सुनिश्चित करने के लिए किया जाता है कि बैंक लोगों के बहकावे में न आएं, और यह लोन लेने वाले की बैंकों को धोखा देने की क्षमता को भी प्रतिबंधित करता है। CERSAI शुल्क सभी प्रकार की संपत्तियों पर 500 रुपये से कम रहता है। हालांकि यह एक छोटा सा शुल्क है, फिर भी आपको इसके बारे में पता होना चाहिए।

लीगल फीस

होम लोन लेते समय लीगल फीस एक महत्वपूर्ण चिंता है। लीगल फीस का भुगतान वकील को किया जाता है जो आपके होम लोन के लिए सभी दस्तावेज़ बनाता है, और वे आपके टाइटल डीड बनाने में भी आपकी मदद करते हैं।

लीगल फीस भिन्न होती हैं और वे आपके स्थान, संपत्ति के मूल्यांकन और अन्य चीजों पर आधारित होती हैं। इसलिए लीगल फीस पर कोई स्पष्ट विशिष्टता नहीं है, लेकिन सुनिश्चित करें कि कानूनी सलाहकारों को किसी भी भुगतान के लिए सहमत होने से पहले आप जमीनी शोध करते हैं।

मूल्यांकन/निरीक्षण शुल्क

ये  उस संपत्ति के कानूनी मूल्यांकन और  निरीक्षण के लिए शुल्क हैं जिसे आप खरीदने की योजना बना रहे हैं। बैंक संपत्ति का निरीक्षण करने के लिए बाहरी पंजीकृत मूल्यांकनकर्ता को नियुक्त कर सकता है।

स्टैम्प ड्यूटी

जब भी आप कोई संपत्ति खरीदते हैं या उसे गिरवी रखते हैं, तो आपको सेल्‍स डीड को फिर से करना होगा। जब आप होम लोन लेते हैं, तो आपको अपनी असली सेल्‍स डीड में ऋणदाता/बैंक का नाम दर्ज कराना होगा और इसे शहर के सब-रजिस्‍ट्रार कार्यालय में पंजीकृत कराना होगा। इस परिवर्तन को करने के लिए, सरकार कुछ राशियों का शुल्क लेती है, और ये आपके रहने के स्थान के आधार पर अलग-अलग होती हैं। 

होम लोन सेल्स डीड फिर से करने के मामले में, लोन लेने वाला पक्ष स्टैम्प शुल्क के रूप में लोन राशि का लगभग 0.10 से 0.20% भुगतान करता है।

इन सभी शुल्कों को देखना महत्वपूर्ण है, इसलिए अपने बैंक के साथ ऋण को अंतिम रूप देने से पहले, इन्‍हें देखें और होम लोन खरीदते समय आपके द्वारा किए जाने वाले खर्चों का अंदाजा लगाने के लिए इसे जोड़ें।

संवादपत्र

संबंधित लेख