TomorrowMakers

हम आपको किराएदारों के लिए बीमे के बारे में जानकारी दे रहे हैं। आपको बताएंगे कि ये बीमा कैसे काम करता है, इसमें क्या कवर होता है और ये किराए के घर में रहने वालों के लिए जरूरी है।

आपने छात्र जीवनकाल में अपने निजी सामान और आप कहां रहते हैं इसकी ओर ज्यादा ध्यान नहीं दिया होगा, खासतौर पर अगर आप घर से दूर दूसरे शहर में पढ़ाई कर रहे हों। जब आप एक बार नौकरी करना शुरू कर देते हैं, तो इसमें बदलाव आता है। चाहे आप अब भी चिंतामुक्त जिंदगी जी रहे हों, लेकिन आपने घर, फर्नीचर, आधुनिक सुविधाओं को लेकर अपनी जीवनशैली में बदलाव जरूर किए होंगे।

हमें बाजार में उपलब्ध कई तरह के बीमे के बारे में जानकारी है – जीवन, स्वास्थ्य, घर, ऑटोमोबाइल, यात्रा, गंभीर बीमारी या अपंगता के लिए बीमा इसमें शामिल है, लेकिन क्या आपको किराए के घर में रहने वाले लोगों के लिए बीमे के बारे में पता है?

 

क्या है रेंटल इंश्योरेंस?

आप नौकरी के लिए नए शहर में आए हैं और किराए के घर की तलाश में हैं, तब आपके लिए रेंटल इंश्योरेंस लेना प्राथमिकता नहीं होगा। आमतौर पर लोग भूल से समझते हैं कि मकानमालिक के बीमे में आपका निजी सामान को भी कवर मिलेगा या फिर उन्हें बीमा जरूरी ही नहीं लगता। किराएदार के निजी सामान को हुए नुकसान को मकानमालिक के बीमे में कवर नहीं किया जाता है।

अगर किराए के घर में रहते हुए मकानमालिक के फर्नीचर या दूसरे सामान को नुकसान पहुंचता है तब क्या होगा? आप क्या करेंगे जब आपका कुछ सामान खो जाएगा? पहले सवाल का आसान जवाब है कि मकानमालिक आपके डिपॉजिट से नुकसान की रकम काट लेगा। दूसरे सवाल का जवाब है कि आपको पूरा नुकसान उठाना होगा। लेकिन, किराएदारों के लिए बस इन्हीं जोखिमों को ध्यान में रखना काफी नहीं है।

उपलब्ध कवर के प्रकार

अगर आप किराए के घर में रह रहे हैं तब आपको रेंटल इंश्योरेंस के तहत चोरी, आग, धुएं, गुंडागर्दी (वैंडलिजम), विस्फोट, बिजली गिरने, हवा और पानी (बाढ़ छोड़कर) से आपके निजी सामान को पहुंचे नुकसान से सुरक्षा मिलती है। अगर आपको लगता है कि आपका निजी सामान इतना कीमती नहीं है कि उसका बीमा कराया जाए, तो रेंटल इंश्योरेंस आपको कई दूसरे जोखिम से सुरक्षा देता जिनका असर आपकी वित्तीय हालत पर पड़ सकता है।

हालांकि, रेंटल इंश्योरेंस में क्या कवर होता है ये बीमा कंपनी पर निर्भर है, लेकिन आमतौर पर कवर इस प्रकार का होता है:

निजी सामान का कवर – बीमे का मूल प्रीमियम आपके निजी सामान को नुकसान होने पर उसकी मरम्मत या फिर सामान चोरी होने पर उसकी ऐवज में नए सामान खरीदने के खर्चे को पूरा करेगा। हालांकि, इसमें इलेक्ट्रनिक सामान, गहने, कलाकारी (आर्ट) और पॉलिसी या वेबसाइट पर सूचित किए गए पॉलिसी के अपवाद शामिल नहीं हैं।
विशिष्ट सामान का कवर – टेलीविजन, लैपटॉप, मोबाइल फोन, म्यूजिक सिस्टम, कलाकारी (आर्ट), गहने, आदि जो पॉलिसी के मूल प्रीमियम में कवर नहीं होते हैं, उन्हें अतिरिक्त प्रीमियम चुका कर सुरक्षित किया जा सकता है।
कानूनी देनदारी का कवर – किराए के घर में किसी अन्य व्यक्ति (मेहमान, परिचर, कर्मचारी, आदि) को चोट पहुंचने को अतिरिक्त प्रीमियम के भुगतान से कवर किया जा सकता है और ये आपको और आपके मेहमानों द्वारा घर को पहुंचाई गई क्षति को भी कवर करता है। अगर मकानमालिक या अन्य व्यक्ति आपके खिलाफ अदालत में मामला दायर करता है तो ये कवर आपके कानूनी खर्चे की भी भरपाई करता है।
आपात निर्वाह खर्च का कवर – रेंटल इंश्योरेंस आपके निर्वाह खर्च को पूरा करता है अगर आप आग, धुएं या पानी से हुए नुकसान की वजह से किराए के घर में नहीं रह पा रहे हों। हालांकि, मुआवजे की राशि की अधिकतम सीमा तय होगी।

 

रेंटल इंश्योरेंस के मुख्य फायदे

दुर्भाग्यपूर्ण तथ्य है कि ज्यादातर किराएदार बीमा कवर की सुरक्षा को नजरअंदाज करते हैं, क्योंकि उन्हें बीमा का खर्च गैरजरूरी लगता है और साथ ही उनके मुताबिक उनके पास ज्यादा कीमती सामान नहीं होता है। लेकिन, जब खोए हुए सामान की ऐवज में खरीदारी करनी पड़ती है तब इसका उनकी बचत पर काफी असर पड़ता है।

निजी संपत्ति का कवर
आग या चोरी जैसी आकस्मिक विपत्ति की स्थिति में रेंटल इंश्योरेंस आपकी वित्तीय तौर पर मदद करेगा, क्योंकि मकानमालिक ने सिर्फ अपने घर का बीमा कराया होगा और किसी चीज का नहीं।
अगर आपका सामान चोरी या बरबाद हो गया है तो आपको रेंटल इंश्योरेंस आपके कपड़े, निजी कीमती वस्तुएं, गहने, फर्नीचर, इलेक्ट्रिकल या मेकनिकल उपकरण और रोजमर्रा के सामान जैसे रसोई घर के बरतन, क्राकरी और कटलरी खरीदने के लिए पैसे देगा।
रेंटल इंश्योरेंस यात्रा के दौरान आपकी निजी संपत्ति जैसे नकद और गहनों के चोरी होने की भी भरपाई करेगा।

 

रेंटल इंश्योरेंस लेते वक्त ये फैसला करना जरूरी है कि पॉलिसी के तहत आपको वास्तविक नकद मूल्य (डिप्रीशीएशन घटाकर आपको बरबाद या चोरी हुए सामान के ऐवज में सामान खरीदने के लिए पैसे दिए जाते हैं) या फिर नया सामान खरीदने का मुआवजा (इसमें खोए या बरबाद हुए सामान की ऐवज में खरीदे गए सामान की कीमत, तय सीमा के मुताबिक, मिलती है) का विकल्प लेना है। आमतौर पर नए सामान खरीदने का मुआवजा लेना विकल्प बेहतर रहता है।

कानूनी देनदारी का कवर 
आपके द्वारा चुनी हुई पॉलिसी और डिडक्टबल के आधार पर आपको कानूनी, चिकित्सीय और मरम्मत के खर्चे की भरपाई मिल सकती है।

इसमें नुकसान और खर्च, कानूनी खर्च भी शामिल है, को कवर किया जाता है, अगर आपके मेहमान, परिचर या कर्मचारी घर में या कहीं और घायल होते हैं। उदाहरण के लिए अगर कोई व्यक्ति फिसल जाता है और उसे गंभीर चोट लगती है तो चाहे दुर्घटना आपकी वजह से न हुई हो लेकिन इलाज का खर्च को कवर किया जाएगा।
चोट लगने के अलावा पॉलिसी में आपके घर में मेहमानों की संपत्ति के खोने को भी कवर करती है।
किराए के घर की मरम्मत का खर्च और मकानमालिक के सामान को होने नुकसान को पॉलिसी में कवर किया जाता है।
अगर गलती से आपने पड़ोसी की संपत्ति या सामान को नुकसान पहुंचाया है तो इसे भी पॉलिसी में कवर किया जाएगा।
 संबंधित: स्वास्थ्य बीमा का आंशिक दावा मिलने से बचने के लिए रूम रेंट सीमा का पालन करें

आपात निर्वाह खर्च का कवर
अगर किसी वजह से आपके किराए के घर को नुकसान पहुंचा है और आपको कुछ दिन के लिए कहीं और रहना पड़ रहा है, रेंटल इंश्योरेंस के तहत आपको निर्वाह खर्च मिलता है।
इसके अलावा आपके खाने का खर्च और दूसरे खर्चों को भी कवर किया जाता है।

 

रेंटल इंश्योरेंस पॉलिसी लेते वक्त ध्यान में रखने की बातें

अपने निजी सामान का मूल्य जानने के लिए आपको जाने माने तरीके को अपनाना होगा – यानि सभी सामान की सूची बनानी होगी। आपको विस्तृत में सूची बनानी है और इससे छोटे सामान जैसे बरतन, क्राकरी, कटलरी, चदरें, पड़दे, आदि के साथ महंगे इलेक्ट्रिकल और इलेक्ट्रनिक सामान (टीवी, लैपटॉप, मोबाइल फोन) को शामिल करना है। सूची में शामिल सभी वस्तुओं का फोटो लेना योग्य रहेगा, ताकि अगर आप क्लेम करते हैं तो बीमा कंपनी उसकी पुष्टि कर सकेगी।

आपको इन बातों के लिए योजना बनाने की जरूरत है:

  • सूची में शामिल सभी सामान की ऐवज में सामान खरीदने में आने वाला खर्च
  • जो सामान महंगा है और जिसके लिए अतिरिक्त कवर की जरूरत है
  • देनदारी दावा के खिलाफ सुरक्षा
  • अग्निशामक यंत्र और दूसरे सुरक्षा उपकरणों (धुएं का अलार्म, ताले, आदि) की मौजूदगी को सुनिश्चित करना
  • अगर आप दूसरे व्यक्तियों के साथ घर में रह रहे हैं तो जानिए कि कैसे पॉलिसी दूसरे व्यक्तियों को कवर करेगा और हर व्यक्ति के लिए प्रीमियम की भागीदारी तय करें
  • अगर आप घर से काम करते हैं या फिर घर में कारोबार शुरू किया है तो आपको इसकी जानकारी पॉलिसी लेते वक्त बीमा कंपनी को देनी होगी, क्योंकि सामान्य प्रीमियम इसे कवर नहीं करेगा
  • ये बात ध्यान में रखना जरूरी है कि आपके द्वारा चुनी हुई पॉलिसी और डिडक्टबल के आधार पर आपको क्लेम में मिलने वाली राशि की अधिकतम सीमा तय होगी।

 

तो अगर आप किराए में घर में रह रहें हैं तो फिर लापरवाही नहीं दिखाइए। जैसे सबको पता है कि मकानमालिक के पास ज्यादा ताकत होती है और वो इसे इस्तेमाल करने से नहीं पीछे हटते। नुकसान होने की स्थिति में, चाहे वो अप्रत्याशित हों, इसका बोझ किराएदारों को ही उठाना पड़ता है। इसलिए परेशान होने से बेहतर है कि सावधानी बरती जाए।

रेंटल इंश्योरेंस आमतौर पर महंगा नहीं होता है – एक रात बाहर मौज-मस्ती करने होने पर खर्च से भी सस्ता हो सकता है। अगर आप फैसला नहीं कर पा रहे हैं कि तो फिर अपने सामान के मूल्य का पता लगाइए, उसके ऐवज में सामान खरीदने का खर्च जानिए, बीमा एजेंट से बातचीत कीजिए और प्रीमियम का अंदाजा लीजिए। रेंटल इंश्योरेंस का कम प्रीमियम आपको फैसला लेने में मदद करेगा। तो फिर देर किस बात की, जल्द से जल्द रेंटल इंश्योरेंस लीजिए।