TomorrowMakers

इंश्योरेंस नियामक एवं विकास प्राधिकरण (इरडा) ने इंश्योरेंस कंपनियों से जम्मू-कश्मीर में बाढ़ पीड़ितों के लिए क्लेम निपटान प्रक्रिया में तेजी लाने के लिए कहा है।

hininsclaim

लेखक: ईटी ब्यूरो

मुंबई: इंश्योरेंस नियामक एवं विकास प्राधिकरण (इरडा) ने इंश्योरेंस कंपनियों से जम्मू-कश्मीर में बाढ़ पीड़ितों के लिए क्लेम निपटान प्रक्रिया में तेजी लाने के लिए कहा है।

इंश्योरेंस कंपनियों ने अग्रिम भुगतान, कम दस्तावेजी कार्रवाई की घोषणा करके, क्लेम हैण्डंल करने और पीड़ितों की मदद करने के के लिए समर्पित कर्मियों को लगाकर इसका जवाब दिया है। हालांकि, साधारण स्थितियों में, चीजें काफी अलग हो सकती हैं। पॉलिसी खरीदते समय और क्लेम की सूचना के स्तर पर, आसान क्लेम निपटान की प्रक्रिया सुनिश्चित करने के लिए पॉलिसीधारकों को कुछ कदम उठाने चाहिए। उन्हें अपने बकाए की प्राप्ति सुनिश्चित करने के लिए अपने अधिकारों के बारे में भी पता होना चाहिए।

 

जीवन बीमा

पॉलिसी खरीदते समय अपने प्रपोजल फार्म में विवरण भरना एजेंट पर न छोड़ें। इंश्योरेंस कंपनियों का कहना है कि गलत खुलासा, विशेष रूप से चिकित्सीय स्थिति से संबंधित जानकारी का, अक्सर क्लेम गंवाने का कारण बन जाता है कॉमर्स लाइफ इंश्योरेंस केनरा एचएसबीसी ओरिएंटल बैंक के सीईओ जॉन होल्डन कहते हैं "झंझट मुक्त क्ले‍म के अनुभव के लिए नींव क्लेम के समय नहीं, बल्कि पॉलिसी खरीदते समय पड़ती है। आपको जीवन बीमा पॉलिसी फार्म खुद भरना चाहिए और ऐसा करने के लिए एजेंट या सर्विस एडवाइजर पर निर्भर नहीं रहना चाहिए। महत्वपूर्ण और तथ्यात्मक तथ्यों का गैरखुलासा, आंशिक खुलासा और गलत खुलासा क्ले्म की अस्वीकृति के प्रमुख कारण हैं, "।

 

क्लेम दायर करने के समय, पहली बात आप (मृत्यु क्लेम की स्थिति में नामिति) को याद रखना चाहिए कि अपना क्लेम सुनिश्चित करने के लिए अधिकारी को किसी भी शुल्क का भुगतान नहीं करना है। क्लेम प्रोसेस या मंजूर करने के लिए उन्हें अपने आपको धमकाने न दें। इसके अलावा, सुनिश्चित करें कि जितनी जल्दी हो सके फर्म को आप सूचित करें (या तो शारीरिक रूप से या कॉल सेंटर और ई-मेल के माध्यम से)।

 

अगला कदम सभी आवश्यक दस्तावेज क्रम में रखना है। होल्डन कहते हैं "क्ललम का दस्तावेज व्यवस्थित ढंग से और समय पर जमा किया जाना चाहिए। क्ले‍म की प्रोसेसिंग के लिए आवश्यक दस्तांवेजों की सूची सभी कंपनियों की वेबसाइट पर उपलब्ध होती है। इसलिए, यह सलाह दी जाती है कि  सभी आवश्यक दस्तावेजों के साथ क्लेम की सूचना दी जाए क्योंकि इससे क्लेम की तेज प्रोसेसिंग में सुविधा होती है, "।

 

आवश्यक दस्तावेजों का पता लगाने के लिए और क्लेम दायर करने से पहले उनकी खरीद करने के लिए अपनी इंश्योरेंस कंपनी की वेबसाइट पर जाएं

स्वास्थ्य बीमा

 

अपना क्लेम प्राप्त करने का सबसे तेज तरीका कैशलेस सुविधा का लाभ उठाना है।

 

न केवल यह प्रक्रिया तेज है, बल्कि यह यह भी सुनिश्चित करता है कि आपकी अस्पताल में भर्ती अस्थायी रूप से आपके वित्त पर बोझ न बने - इस प्रकार हेल्थ कवर खरीदने के मूल उद्देश्य को पूरा करता है।

 

नागरिक कार्यकर्ता गौरांग दमानी कहती हैं "यदि यह पूर्व नियोजित सर्जरी है, तो इंश्योरेंस कंपनी या थर्ड पार्टी प्रशासक (टीपीए) को अग्रिम में लिखित रूप से सूचित करें। यदि यह इमरजेंसी है, तो भर्ती होने के बाद  24 घंटे की समय सीमा के भीतर उन्हें सूचित करें " उन्होंने बंबई उच्च न्यायालय में एक जनहित याचिका दायर की थी, जिसके बाद इरडा ने पिछले साल स्वास्थ्य बीमा के नियमों को तैयार किया था। यदि आप को प्रतिपूर्ति दावे का निपटारा कराना है, तो निर्धारित समय सीमा के भीतर सभी दस्तावेज (क्लेम फॉर्म, डिस्चार्ज का सारांश, प्रेसक्रिप्‍शन, अस्पताल का बिल आदि) जमा करें और इंश्योरेंस कंपनी या टीपीए से रसीद मांगें।

 

दमानी कहती हैं "नए नियमों के अनुसार, इंश्योरेंस कंपनी या टीपीए को एक बार में क्लेम से संबंधित सभी कागजात मांगना होता है (जिसका अर्थ है कि वे किश्तों में दस्तावेज मांगकर प्रक्रिया में देरी नहीं कर सकते हैं)। इसके अलावा, इंश्योंरेंस कंपनी को क्लेम नकारने के लिए विशिष्ट चिकित्सीय कारण बताना होता है।

 

यदि कागजात का अंतिम सेट जमा करने के 30 दिनों के अंदर क्लेम का निपटारा नहीं होता है, तो इंश्योरेंस कंपनी को भुगतान में देरी पर ब्याज का भुगतान करना पड़ता है। इसलिए,  आप अपने सही पैसे का दावा करना सुनिश्चित करें "। अंत में, दोनों ही मामलों में, पॉलिसी के नियमों और शर्तों को ध्यान से पढ़ें।

 

क्लेम की प्रोसेसिंग के समय आपकी मदद करने के अलावा, फाइन प्रिंट 15 दिनों के फ्री-लुक पीरियड के भीतर अनुपयुक्त लाइफ पॉलिसी लौटाने में भी आपकी मदद कर सकता है।

 

स्रोत: इकनॉमिक टाइम्स

संबंधित लेख