जीवन बीमा

ताजा लेख

सबसे प्रचलित

धूम्रपान करने और न करने वाले लोगों के जीवन बीमा प्रीमियम किस प्रकार भिन्‍न होते हैं

प्रतिष्ठित ब्रिटिश मेडिकल जर्नल ‘द लांसेट’ में प्रकाशित एक अप्रैल 2017 स्‍टडीके मुताबिक, चीन को छोड़ दें तो भारत में धूम्रपान संबंधी रोगों से मरने वाले लोगों की संख्‍या दुनिया में सबसे अधिक है।

जीवन बीमा प्रीमियम की गणना को प्रभावित करने वाले छः मुख्य कारक

क्या आपने कभी सोचा है कि आपको अपने दोस्तों और परिवार के सदस्यों से कम प्रीमियम भरने के लिए क्यों कहा जाता है? इस संदेह को समाप्त करने के लिए, हमने जीवन बीमा प्रीमियम की गणना को प्रभावित करने वाले कारकों की एक लिस्ट तैयार की है।

जानिए जीवन बीमा लाभ प्रदान करने वाला सबसे पसंदीदा निवेश क्यों है

जीवन बीमा के कुछ ऐसे लाभ, जिनकी वजह से यह एक पसंदीदा वित्तीय स्रोत बना हुआ है।

जीवन बीमा प्रीमियम पर टैक्स छूट लेने के नियम

जीवन बीमा पॉलिसियों पर मिलने वाली टैक्स छूट और टैक्स से जुड़ी बातों पर 2 हिस्सों में लिखी श्रंखला का यह पहला लेख है। यह लेख आयकर अधिनियम की धारा 80सी के तहत जीवन बीमा के प्रीमियम पर मिलने वाली टैक्स छूट के बारे में है। श्रंखला का दूसरा लेख इन पॉलिसियों से होने वाले फायदों के टैक्स प्रबंध से जुड़ा है।

क्या जीवन बीमा करवाने से पहले आपको स्वास्थ्य परीक्षण के लिए कहा गया है? ऐसा ज़रूर करें!

सख्त मेडिकल जांच कराए बिना जीवन बीमा पॉलिसी लेने का विचार अच्छा तो लगेगा, लेकिन ऐसे दस्तावेज़ पर हस्ताक्षर करने से पहले उसे ध्यान से पढ़ना बेहद ज़रूरी है।

अपने जीवन बीमा के लिए नॉमिनी कैसे तय करें?

अपनी जीवन बीमा पॉलिसी के लिए अपने नॉमिनी / लाभार्थी को कैसे तय करें। आपका नामांकित व्यक्ति आपकी पसंद का कोई भी हो सकता है, लेकिन बीमाकर्ता केवल तभी भुगतान करेगा जब कोई बीमा योग्य ब्याज हो। तत्काल परिवार के किसी व्यक्ति को नामिती के रूप में रखना सबसे अच्छा है क्योंकि कानूनी उत्तराधिकारी इसे विवादित नहीं बना सकते।

जीवन बीमा आपके दीर्घ-कालिक लक्ष्‍यों को पूरा करने में कैसे मददगार हो सकता है

क्‍या आप इस बात को लेकर अनिश्चित हैं कि आपको जीवन बीमा पॉलिसी लेनी चाहिए या नहीं? यहां जीवन बीमा में निवेश के फायदे बताए गए हैं।

पीपीएफ (पब्लिक प्रोविडेंट फण्ड) और जीवन बीमा में तुलना : क्या पहले होना चाहिए ?

सबसे अच्छी बात यह है कि पहले सुरक्षा, बचत बाद में आनी चाहिए। आपकी बचत योजना सुरक्षा और बचत इन दो स्तम्भ पर निर्धारित होनी चाहिए।