TomorrowMakers

क्या आपने कभी सोचा है कि आपको अपने दोस्तों और परिवार के सदस्यों से कम प्रीमियम भरने के लिए क्यों कहा जाता है? इस संदेह को समाप्त करने के लिए, हमने जीवन बीमा प्रीमियम की गणना को प्रभावित करने वाले कारकों की एक लिस्ट तैयार की है।

जीवन बीमा प्रीमियम की गणना को प्रभावित करने वाले छः मुख्य कारक

जब भी हम बीमा करवाने की जरूरत महसूस करते हैं तो अक्सर हमें लगता है कि बीमा करवाना काफी महंगा है। ऐसे में, यह सोचते हुए हम इसमें ढील दे देते हैं कि चलो तब तक इंतजार करेंगे जब तक यह काफी सस्ता नहीं हो जाए। 


लेकिन फ्रैंक मैकिनी ने सही कहा था, "मजा जीवन बीमा की तरह है, आप जितने बूढ़े होते जाते हैं, इसकी कीमत उतनी ही बढ़ती जाती है।"
हालांकि, उम्र के अलावा कई और भी ऐसे कारण हैं जिसके लिए आपको एक ही बीमा कवर के लिए प्रीमियम की अलग-अलग राशि के भुगतान के लिए कहा जा सकता है। इसी के लिए किसी को कम या ज्‍यादा प्रीमियम अदा करने के लिए कहा जा सकता है। ये कारक आपके परिवारिक स्वास्थ्य इतिहास से लेकर आपकी मौजूदा जीवनशैली तक हो सकते हैं। 


भारत में जीवन बीमा प्रीमियम की गणना करते समय बीमा कंपनी आमतौर पर छः कारकों पर विचार करती हैः


आपकी उम्र क्या है?

इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि जीवन बीमा प्रीमियम की गणना करते समय बीमा कंपनी उम्र को पहला और सबसे महत्‍वपूण कारक मानती है। आपकी उम्र जितनी कम होती है, जिंदगी में मौत या बीमारियों का खतरा भी उतना ही कम होता है। इस तरह से आपके बीमाकर्ता को निकट भविष्य में आपके परिवार को बड़ी राशि का भुगतान करने की संभावना काफी कम होती है, इस प्रकार वे आपके प्रीमियम को कम कर देते हैं।  
 

आपका लिंग क्या है? 

यह एक सर्वमान्‍य तथ्य है कि पुरूषों की तुलना में महिलाएं औसतन पाँच साल अधिक जीती हैं। इसीलिए बीमा कंपनियां यह मानती हैं कि पुरूषों की तुलना में महिलाओं का बीमा करने में जोखिम कम होता है। इसी कारण महिलाएं कम प्रीमियम भरती हैं और वह भी एक लंबी अवधि के लिए। 
संबंधितः महिलाओं के लिए क्यों जरूरी है जीवन बीमा। 


क्या आप धूम्रपान या शराब का सेवन करते हैं? 

आपकी इस जीवनशैली से केवल आपके दोस्तों या परिवार को ही समस्या नहीं होती है। बीमा कंपनी भी शराब, निकोटीन या इसी प्रकार के अन्य हानिकारक पदार्थों की लत को काफी गंभीरता से लेती हैं। इस तरह अगर आप धूम्रपान या शराब का सेवन नहीं करते हैं और एक स्वस्थ जीवन जीते हैं, तो आप किसी धूम्रपान या शराब का सेवन करने वाले व्‍यक्ति के मुकाबले 30-70% कम प्रीमियम का भुगतान कर सकते हैं, चिकित्सीय रूप से यह साबित हो चुका है कि इस तरह के व्यसनों के कारण कई प्रकार की बीमारियां होती हैं। 


आपके परिवार का चिकित्सीय इतिहास क्या है? 

यह डीएनए का एक साधारण सा मामला हैः आपके भीतर क्या है? अगर आपके परिवारिक में कैंसर, दिल के दौरे और अल्जाइमर जैसी बीमारियों के ज्यादा मामले नहीं हैं तो उम्मीद है कि बीमाकर्ता आपके प्रीमियम को कम कर दे। ऐसा इसलिए है क्योंकि आपकी इस प्रकार की बीमारियाँ के चपेट में आने की संभावना काफी क्षीण हो जाती है। 


क्या आप एक स्वस्थ जीवन जीते हैं? 

व्‍यापक चिकित्‍सकीय परीक्षणों की मदद से, बीमाकर्ता 'अंडरराइटिंग' करते हैं। जिसमें यह सुनिश्चित करके जोखिम का आंकलन किया जाता है कि वह बीमा-कवर जो आपको प्रदान करने का वादा किया जा रहा है, उसकी लागत उस जोखिम के अनुरूप है या नहीं, जिसे बीमा कंपनी आपको बीमा कवर प्रदान करते हुए उठाएगी। इसी के चलते वे आपकी लंबाई, वजन, कोलेस्ट्राल के स्तर, रक्तचाप, रक्त में शर्करा की मात्रा, विटामिन की कमी तथा कई अन्य स्वास्थ्य संबंधी स्थितियों का आंकलन करते हैं। आप इस प्रकार के परीक्षणों से बच सकते हैं लेकिन अगर आप ऐसा करते हैं तो आपका प्रीमियम काफी बढ़ जाएगा।  


क्या आप जोखिम भरा जीवन जीते हैं? 

बीमाकर्ता अक्सर उन लोगों से उच्च प्रीमियम वसूलते हैं जो स्काइ डाइविंग, हॉट एयर बैलूनिंग, पर्वतारोहण और गहरे समुद्र में गोताखारी जैसी अत्यधिक जोखिम वाली गतिविधियों में शामिल होते हैं। यदि आपका व्यवसाय अपेक्षाकृत सुरक्षित है और आप खनन, शिपिंग, हवाई जहाज संचालन या अग्निशमन के बजाय आराम से कुर्सी पर बैठकर काम करते हैं तो आपका प्रीमियम कम होने की संभावना है। 


ऊपर दिए गए कारकों के अतिरिक्त, कुछ बीमा कंपनियों ने हाल ही में दिवालिया होने की स्थिति और ड्राइविंग रिकॉर्ड पर ध्‍यान देना शुरू कर दिया है। इसके साथ ही स्‍वयं पॉलिसी और आप किस प्रकार की कवरेज चुनते हैं और आपने कौन से राइडर शामिल किए हैं, यह सब इस पर भी निर्भर करता है। उदाहरण के लिए, साधारण टर्म प्लान का प्रीमियम सबसे कम होता है, जबकि प्रीमियम के रिटर्न के साथ आने वाले टर्म प्लान अधिक प्रीमियम वाले होते हैं, जिसे टर्म समाप्त होने पर पॉलिसी धारक को वापस कर दिया जाता है।


फिर भी सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि आपको पॉलिसी खरीदते समय स्वास्थ्य संबंधी सभी जानकारियों का खुलासा करना चाहिए। यदि आप ऐसा नहीं करते हैं और बाद में बीमाकर्ता को आपके स्वास्थ्य के बारे में किसी वास्‍तविक तथ्य का पता चलता है तो इसके चलते आपके नवीनीकरण प्रीमियम में जोरदार इजाफा हो सकता है और/या आपका क्‍लेम अस्वीकार किया जा सकता है।


यदि आप जीवन बीमा से संबंधित कोई सवाल पूछना चाहते हैं तो नीचे कमेंट में लिखें, हम आपको उसका जवाब देंगे।  
 

संबंधित लेख