सरल जीवन बीमा 1 जनवरी, 2021 से एक स्टैंडर्ड टर्म लाइफ़ इंश्योरेंस पॉलिसी

इंश्योरेंस रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने सरल जीवन बीमा की शुरुआत की है, जोकि सरल बीमा सुविधाओं और मानक नियमों और शर्तों के साथ सभी बीमा कंपनियों में उपलब्ध होगा.

सरल जीवन बीमा 1 जनवरी, 2021 से एक स्टैंडर्ड टर्म लाइफ़ इंश्योरेंस पॉलिसी

इंश्योरेंस रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (आईआरडीएआई) ने सभी बीमा कंपनियों को लोगों के लिए एक स्टैंडर्ड टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी शुरू करने का आदेश दिया है. इस पॉलिसी का नाम सरल जीवन बीमा रखा गया है, और इसका उद्देश्य समाज के सभी वर्गों के लिए बीमा कवरेज उपलब्ध कराना है. यह बहुत ही कम सम एश्योर्ड और सादगी और सुविधाओं के मानकीकरण को बनाए रखते हुए ऐसा करेगा.

आईआरडीएआई ने ऐसा पाया है कि हाल के वर्षों में, पॉलिसी खरीदारों ने सीधी टर्म पॉलिसी के प्रति उत्सुकता दिखाई है. बीमा कंपनियों ने भी अपनी ओर से इनोवेटिव टर्म लाइफ़ इंश्योरेंस प्रोडक्ट बाज़ार में उतारे हैं जिनमें कई विशेषताएं और राइडर्स शामिल हैं. हालांकि, आईआरडीएआई समझता है कि कई सारे विकल्प मौजूद होने से, ग्राहकों को सही विकल्प और सम एश्योर्ड का पता लगाने में दिक्कत हो सकती है. इसके समाधान के लिए, आईआरडीएआई ने सभी बीमाकर्ताओं के लिए एक स्टैंडर्ड प्रोडक्ट, सरल जीवन बीमा, मानकीकृत नियम और शर्तों के साथ पेश किया है. सुविधाओं को सरल रखकर, आईआरडीएआई ने दावा निपटाने के विवादों को आसान करने के साथ पॉलिसीधारक और बीमा कंपनी के बीच एक आसान कड़ी जोड़ी है. आईआरडीएआई ने बीमा कंपनियों से 1 दिसंबर 2020 या उससे पहले इस बीमा को बाज़ार में उतारने के लिए कहा है.

सरल जीवन बीमा का फ़ायदा

बीमा कंपनी द्वारा सरल जीवन बीमा के रूप में पेश किया जाना, यह एक नॉन-लिंक्ड और नॉन-पार्टिसिपेटिंग प्योर रिस्क प्रीमियम प्लान होगा. इसमें, पॉलिसी अवधि के दौरान पॉलिसीधारक की मृत्यु की स्थिति में नामित व्यक्ति को राशि का भुगतान किया जाएगा. इस पॉलिसी में आत्महत्या के मामलों को शामिल नहीं किया जाएगा, और आईआरडीएआई द्वारा शामिल किए राइडर, ऑप्शन, लाभ या वेरिएंट के अलावा बीमा कंपनी कुछ और इसमें जोड़ नहीं सकती हैं. इस पॉलिसी को किसी भी लिंग, स्थान, व्यवसाय या शैक्षणिक योग्यता के लोग ले सकते हैं. 18 से 65 वर्ष के बीच के व्यक्ति इस पॉलिसी को खरीद सकते हैं. पॉलिसी का टेन्योर 5 से 40 वर्ष के बीच हो सकता है, और अधिकतम मैच्योरिटी आयु 70 वर्ष है. 

सरल जीवन बीमा का विवरण और विशेषताएं 

सरल जीवन बीमा की कुछ ख़ास विशेषताएं और पॉलिसी इस प्रकार हैं:

  • सम एश्योर्ड अमाउंट 5 लाख रुपये और उससे ज़्यादा से शुरू होती है, जो 50,000 रुपये के मल्टीप्ल में बढ़ती है. अधिकतम सम एश्योर्ड अमाउंट 25 लाख रुपये है, लेकिन बीमा कंपनी द्वारा अन्य सभी नियमों और शर्तों को बरकरार रखते हुए इसे बढ़ाया जा सकता है.
  • इस पॉलिसी के लिए प्रीमियम का भुगतान नियमित प्रीमियम, 5 और 10 साल की सीमित अवधि के प्रीमियम, या एकल प्रीमियम के रूप में किया जा सकता है. भुगतान मासिक, अर्ध-वार्षिक या वार्षिक आधार पर किया जा सकता है. एकल प्रीमियम के मामले में, भुगतान एकमुश्त किया जाएगा.
  • इस पॉलिसी में न तो कोई मैच्योरिटी बेनिफिट हैं, न ही कोई सरेंडर वैल्यू है. 
  • इस पॉलिसी पर कोई लोन नहीं लिया जा सकता है.
  • इस पॉलिसी में सिर्फ़ दो राइडर हैं, एक्सीडेंट बेनिफिट और परमानेंट डिसेबिलिटी बेनिफिट.
  • पॉलिसी का मूल्य निर्धारण फ़ाइल और दिशानिर्देशों के अनुसार होगा। समान पॉलिसी के लिए बीमाकर्ता की पॉलिसी के अनुसार, प्रीमियम देर से जमा करने के लिए ब्याज लिया जाएगा.
  • इस पॉलिसी की प्रतीक्षा अवधि 45 दिन है. हालांकि, प्रतीक्षा अवधि के दौरान भी आकस्मिक मृत्यु को कवर किया जाता है. प्रतीक्षा अवधि के दौरान, किसी और तरह से मृत्यु होने पर, टैक्स को छोड़कर बाकी प्राप्त प्रीमियम का 100% भुगतान किया जाता है.
  • रेगुलर प्रीमियम पेमेंट के मामले में पॉलिसी रद्द करने पर कुछ भी नहीं मिलेगा. एकल प्रीमियम के मामले में, एकल प्रीमियम का 70% भुगतान किया जाता है. यह पॉलिसी अवधि और कुल पॉलिसी अवधि के अनएक्सपायर्ड पोर्शन के बीच के प्रो-रेटा बेसिस पर कैलकुलेट किया जाता है. इसी तरह, सीमित अवधि के प्रीमियम के भुगतान के मामले में, कुल प्रीमियम का 70% इसी प्रो-रेटा बेसिस पर कैलकुलेट किया जाता है. 
  • नियमित और सीमित प्रीमियम भुगतान वाली पॉलिसीयों के लिए डेथ बेनिफिट इनमें से सबसे ज़्यादा होगा;
    - वार्षिक प्रीमियम का 10 गुना या,
    - मृत्यु की तारीख के अनुसार भुगतान किए गए सभी प्रीमियम का 105% या,
    - मृत्यु के मामले में जितनी पूर्ण राशि के भुगतान का आश्वासन दिया गया था

इंडस्ट्री विशेषज्ञ पॉलिसी की आसान उपलब्धता को, ज़्यादा लोगों द्वारा बीमा कराने के लिए एक प्रमुख सकारात्मक कदम के रूप में देखते हैं. योग्यता का क्राइटेरिया मौजूद होने की वजह से, निम्न-आय वर्ग के लोग बीमा कवरेज के लिए अयोग्य हैं. 5 लाख रुपये के सम एश्योर्ड से शुरू करने और इसके सभी व्यक्तियों के लिए उपलब्ध होने से, सरल जीवन बीमा को भारतीय आबादी से अच्छा रेस्पोंस मिलने की ज़्यादा उम्मीद है. 




संबंधित लेख