TomorrowMakers

अपना मोटर बीमा बदल रहे हैं?

Follow these steps for Motor Insurance provider

अपना बीमा प्लान बदलने से पहले इन बातों का ध्यान रखें

प्रीमियम से आगे का सोचें
क्लेम के निपटारे पर ध्यान दें
पॉलिसी बदलने के लिए सही समय चुनें 

....और भी बहुत कुछ

अपने लिए सही पॉलिसी का चुनाव करना एक बात है, लेकिन अगर क्लेम करने में आपको बहुत सारा समय, ऊर्जा और मेहनत खर्च करनी पड़े तो आपको इस पर एक बार फिर से विचार करना चाहिए।


मोटर बीमा कंपनी चुनने के बारे में सबसे अच्छी बात ये है कि आप एक साल से ज़्यादा समय तक उनसे जुड़े रहने के लिए बाध्य नहीं होते। आप सभी विकल्पों पर विचार करके अपने लिए मन मुताबिक पॉलिसी चुन सकते हैं। लेकिन फिर भी उससे संतुष्ट न होने की स्थिति में आप अपने लिए एक अलग पॉलिसी चुन सकते हैं।

यहां हम आपको वो सब कुछ बताना चाहते हैं जो पॉलिसी बदलने से पहले आपको पता होना चाहिए। पहली बार पॉलिसी लेने की तरह ही, उसे बदलते समय भी आपको कुछ रिसर्च और विचार करने की ज़रूरत पड़ती है। बदलाव से पहले आपको नीचे दिए गए मुद्दों की स्पष्ट जानकारी होनी चाहिए।


1. प्रीमियम से आगे का सोचें
क्या आप एक कार को सिर्फ इसलिए खरीद लेते हैं क्योंकि वो सस्ती है, नहीं ना? अगर कार देखने में बहुत अच्छी है, उसमें एक ताकतवर इंजन है और सुरक्षा के लिए एंटी-लॉक ब्रेकिंग सिस्टम या इलेक्ट्रॉनिक ब्रेक फोर्स डिस्ट्रिब्यूशन जैसे शानदार फीचर्स हैं तो आप उसके लिए थोड़ी ज़्यादा कीमत भी चुकाने को तैयार हो जाते हैं। ठीक यही बात बीमा पॉलिसियों पर भी लागू होती है। आप जितना कम प्रीमियम भरेंगे, भविष्य में उतनी ही कम राशी का दावा कर सकेंगे। हर अच्छी पॉलिसी की कुछ महत्वपूर्ण विशेषताएं होती हैं जिनके बिना आपका काम नहीं चल सकता। फिर चाहे उसे लेने के लिए आपको थोड़ा ज़्यादा ही क्यों न खर्च करना पड़े।

2. पूरी तस्वीर पर दें ध्यान
बदलाव करने से पहले अच्छे से विचार कर लें कि जिस बीमा प्रदाता को आप चुनने जा रहे हैं, वह अनिवार्य थर्ड पार्टी कवर के साथ-साथ आपकी सभी ज़रूरतों को पूरा करता हो। आपकी बीमा पॉलिसी को मजबूत बनाने के लिए ज़ीरो डेप्रिकेशन कवर, रोड साइड असिस्टेंस, नो क्लेम बोनस आदि जैसे कई एड-ऑन कवर भी उपलब्ध हैं। यह सुनिश्चित करना ज़रूरी है कि आपका नया बीमा प्रदाता यह समझता हो कि आपको कैसी सुरक्षा चाहिए और आप उसके लिए कितनी क़ीमत देने को तैयार हैं।

3. क्लेम निपटारे का रिकॉर्ड देखें
हो सकता है कि आपकी नई बीमा कंपनी आपको कम प्रीमियम पर एक विस्तृत और मजबूत बीमा पॉलिसी प्रदान कर रही हो। लेकिन अगर उस कंपनी का दावों के निपटान का रिकॉर्ड खराब हो तो? ऑनलाइन रिव्यू पढ़कर, दोस्तों और रिश्तेदारों से बात करके और वित्तीय खबरों की जानकारी लेकर, आप मोटर बीमा कंपनी की प्रतिष्ठा और दावों के निपटान की क्षमता को ट्रैक कर सकते हैं।

4. सुविधा
अपने लिए सही पॉलिसी का चुनाव करना एक बात है, लेकिन अगर दावा करने में आपको बहुत सारा समय, ऊर्जा और मेहनत खर्च करनी पड़े तो आपको इस पर एक बार फिर से विचार करना चाहिए। आपके द्वारा चुनी गई कंपनी के पास एक अच्छा ऑनलाइन सिस्टम भी होना चाहिए। एक मोबाइल एप होना और भी सुविधाजनक होगा।


इसके अतिरिक्त बीमाकर्ता के पास गेराजों का एक विस्तृत नेटवर्क भी होना चाहिए जहां आप अपनी गाड़ी ठीक करवाने के लिए जा सकें। ऐसा होने से आपको गाड़ी ठीक करवाने के लिए अपनी जेब से पैसा खर्च नहीं करना पड़ेगा।


आखिर में, ज़रूरी है कि कंपनी ग्राहकों को 24X7 सहायता और सपोर्ट देने में सक्षम हो। यह महत्वपूर्ण है कि आप जब चाहें तब अपने सवालों का जवाब प्राप्त कर सकें।

5. बदलाव के लिए चुनें सही समय
हो सकता है कि आप अपने मौजूदा बीमा प्रदाता से असंतुष्ट हों। लेकिन अगर आपकी पॉलिसी खत्म होने की तारीख नज़दीक है, तो वर्तमान प्रदाता के साथ कुछ समय और बने रहना बेहतर होगा। ऐसा करके आप पुरानी पॉलिसी खत्म होते ही तुरंत अपने लिए एक नई बीमा पॉलिसी ले सकेंगे।

अगर आपने पूरे साल दावा दायर नहीं किया है तो आप एक अच्छे नो क्लेम बोनस के योग्य बन जाते हैं। अगर इसका उपयोग 90 दिनों के भीतर किया जाए तो नो क्लेम बोनस को एक प्रदाता से दूसरे तक ट्रांसफर किया जा सकता है। अपने बीमाकर्ता से इसके बारे में ज़रूर पूछें।

मोटर बीमा एक महत्वपूर्ण विषय है। इसलिए अगर आपके पास इससे जुड़ा कोई और प्रश्न या संदेह है तो आप कुछ भी तय करने से पहले किसी विशेषज्ञ की राय ले सकते हैं।

संबंधित लेख