आईआरडीएआई ने दीर्घकालिक बीमा पैकेज वापस ले लिया है; कार, दो पहिये वाहन की कीमत में कमी आएगी

खरीदारों को अब 2018 में पांच साल और तीन साल के लिए दोपहिया और चार पहिया वाहनों के लिए दीर्घकालिक बीमा पैकेज खरीदना अनिवार्य नहीं होगा।

आईआरडीएआई ने दीर्घकालिक बीमा पैकेज वापस ले लिया है; कार, दो पहिये वाहन की कीमत में कमी आएगी

भारत के बीमा नियामक आईआरडीएआई ने हाल ही में अपनी अनिवार्य दीर्घकालिक पैकेज नीतियों को वापस लेने की घोषणा की थी, जिसमें दोपहिया और चार पहिया वाहनों के लिए तीसरे पक्ष और स्वयं के क्षति कवर शामिल थे । उसने बीमा प्रदाताओं से 1 अगस्त से ऐसे पैकेज बंद करने को कहा है। साथ ही,इसने बीमाकर्ताओं से 1 सितंबर से स्टैंडअलोन वार्षिक स्व- क्षति कवर की पेशकश करने को कहा है । इस कदम के साथ ही कार या बाइक खरीदने के खर्च कम हो जाएंगे।

आई.आर.डी.ए.आई. द्वारा जारी सर्कुलर में कहा गया है, "बीमाकर्ता 01 सितंबर से प्रभावी नए और पुराने ,दोनों, कारों और दोपहिया वाहनों के लिए स्टैंडअलोन वार्षिक स्वयं के क्षति कवर (यदि पालिसी धारक द्वारा चयन किया जाए तो उसमे आग के लिए स्टैंड-अलोन स्व-क्षति कवर सहित/ या चोरी के लिए कवर भी) शामिल किया जा सकता है |

पिछला फैसला क्या था?

सितंबर 2018 में, आईआरडीएआई ने ग्राहकों के लिए दीर्घकालिक व्यापक कवर खरीदना अनिवार्य किया था , जो कारों के लिए तीन साल और दो पहिया वाहनों के लिए पांच साल की अवधि के लिए स्व-क्षति और तीसरे पक्ष के क्षति के लिए संयुक्त रूप में था । इसके कारण, एक वाहन की ऑन-रोड कीमत अधिक महंगी हो गई क्योंकि खरीदारों को एक बार में कई वर्षों के लिए बीमा भी खरीदना पड़ा।

दीर्घकालिक पैकेज नीतियों को वापस लेने के नए कदम का क्या मतलब है?

नए फैसले में कहा गया है कि हालांकि खरीदारों को अभी भी कारों और बाइक्स के लिए क्रमशः तीन और पांच साल के लिए तृतीया पक्ष कवर खरीदना है, लेकिन उन्हें एक बार में सिर्फ एक साल के लिए स्व-क्षति कवर खरीदना होगा । उन्हें हर साल इस स्व-क्षति कवर को नवीनीकृत करना होगा। एक समय में कई वर्षों के लिए स्व-क्षति कवर खरीदने के जनादेश को हटाकर, आई.आर.डी.ए.आई. ने ग्राहकों का बोझ कम कर दिया है।

नियामक ने कहा है कि दीर्घकालिक नीति पैकेजों को खत्म करने के पीछे तर्क यह है कि अपने खरीदने की क्षमता सुनिश्चित करें, संभावित गलत बिक्री को कम करें और ग्राहकों को उनकी इच्छा अनुसार अन्य बीमाकर्ताओं का चयन करने का अवसर मिले । कोई समान नो क्लेम बोनस (एनबीसी) नहीं है, यह भी एक कारक हो सकता है।

यह मौजूदा पॉलिसीधारकों को कैसे प्रभावित करता है?

हालांकि नए दीर्घकालिक नीति पैकेज अब 1 अगस्त से उपलब्ध नहीं होंगे, लेकिन मौजूदा पॉलिसीधारकों को इस विषय में तनाव लेने की कोई ज़रूरत नहीं है क्योंकि पॉलिसी समाप्त होने तक उनका कवर नियम और शर्तों के अनुसार जारी रहेगा । नवीनीकरण के समय उन्हें कारों और बाइक के लिए क्रमश तीन और पांच साल के लिए अपने थर्ड पार्टी कवर का नवीनीकरण करना होगा। इसके अतिरिक्त, वे एक व्यापक नीति ले सकते है, जिसमे एक साल के लिए उनके स्वयं के नुकसान भी शामिल हो, या यदि वे चाहे तो केवल एक वर्ष के लिए अपने स्वयं के नुकसान घटक को भी नवीनीकृत कर सकते हैं।

नियामक ने यह भी कहा है कि 1 सितंबर के बाद से पॉलिसीधारक या तो उसी बीमाकर्ता से अपने नुकसान कवर को नवीनीकृत करने के लिए स्वतंत्र हैं या किसी अन्य बीमाकर्ता से भी ये कवर ले सकते हैं जो उनकी जरूरतों को बेहतर ढंग से पूरा करे ।

संबंधित लेख